GMCH STORIES

तनाव प्रबंधन द्वारा कार्य क्षमता में वृद्धि 

( Read 3027 Times)

28 Mar 23
Share |
Print This Page

तनाव प्रबंधन द्वारा कार्य क्षमता में वृद्धि 

उदयपुर  । महाराणा प्रताप कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय उदयपुर के संघटक अभियांत्रिकी महाविद्यालय के प्लेसमेंट सभागार में जैन आचार्य एवं राष्ट्र संत श्री अरविंद मुनि जी ने तनाव प्रबंधन द्वारा कार्य क्षमता में वृद्धि विषय पर व्याख्यान दिया। कार्यक्रम के प्रारंभ में  कुलपति डॉ अजीत कुमार कर्नाटक ने जैन मुनि का स्वगत किया।
कार्यक्रम की अध्यक्षता विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ अजीत कुमार कर्नाटक द्वारा की गई ।  डॉ कर्नाटक ने कहा कि यह विश्वविद्यालय के सभी शिक्षकों, वैज्ञानिकों, कर्मचारियों और विद्यार्थियों के लिऐ सौभाग्य की बात है कि हमे आप से दैनिक जीवन में तनाव प्रबन्ध का सरल मार्ग मिला है। उन्होंने बताया कि रोज की दिनचर्या में हमें अनेक बार तनाव के क्षणों से गुजरना पड़ता है।  उन्होंने बताया कि हमे अनेक बातों से तनाव रहता है जिनमे निर्मूल आशंकाओं, आकांक्षा, मापदंड की सीमा, भविष्य की चिंता, पारिवारिक, कार्यस्थल, समय की चिंता, अर्थ की चिन्ता जैसे अनेक तनाव हो जाता है। विश्वविद्यालय के  कुलपति डॉ अजीत कुमार कर्नाटक ने  तनाव मुक्ति के लिए अपने कार्य को पूर्ण निष्ठा और ईमानदारी से करने की सलाह दी  ।  उन्होंने कहा कि अनअपेक्षित इच्छाओं पर नियंत्रण रखकर हम तनाव मुक्त रह सकते हैं । 
जैन सन्त श्री अरविंद मुनि ने मैत्री अंदाज में तनाव प्रबन्ध के अनेक सूत्र बताए। उन्होंने अभी करो अभी पाओ, सहना आ गया रहना आ गया जैसे स्लोगन से अपनी बात की शुरुआत कर श्वास  आधारित ध्यान की क्रियाओं की विधा सीखा कर मेडिटेशन करना सिखाया। कार्यशाला के मुख्य अतिथि जैन गुरु अरविंद मुनि जी ने तनाव से दूर रहने के लिए ज्ञान और भक्ति दो मार्ग बताएं । उन्होंने कहा कि मानव जीवन में प्रेम करुणा और दया के आदतों को अपनाकर अपना जीवन खुशहाल बना सकता हैं । 
कार्यशाला में करीब 200 प्रतिभागियों ने भाग लिया, जिसमें की विश्व विद्यालय के शिक्षक कर्मचारी और छात्र-छात्राएं शामिल रहे ।   स्वागत उदबोधन  प्रौद्योगिकी एवं अभियांत्रिकी महाविद्यालय के अधिष्ठाता डॉ अनुपम भटनागर द्वारा दिया गया,  जिसमें उन्होंने कार्यशाला के मुख्य उद्देश्य के बारे में जानकारी दी ।
कार्यशाला के अंत में  डॉ महेश कोठारी द्वारा सभी विशिष्ट जनों और प्रतिभागियों को धन्यवाद ज्ञापित किया गया । उन्होंने आशा व्यक्त की सभी प्रतिभागी अपने दैनिक जीवन में तनाव मुक्त रहने के लिए बताए गए सूत्रों की पालना करेंगे ।


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Udaipur News , Education News
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like