BREAKING NEWS

कोविड -19 की रिकवरी दर 42.4 प्रतिशत मंगलवार को 1,16,041 नमूनों की जांच हुई

( Read 4002 Times)

28 May 20
Share |
Print This Page

कोविड -19 की रिकवरी दर 42.4 प्रतिशत मंगलवार को 1,16,041 नमूनों की जांच हुई

नई दिल्ली | भारत सरकार ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के साथ मिलकर श्रेणीकृत, नियोजित और अग्रसक्रिय दृष्टिकोण से कोविड-19 के रोकथाम, नियंत्रण और प्रबंधन के लिये  उपाय किये हैं। इन उपायों की नियमित रूप से उच्चतम स्तर पर समीक्षा और निगरानी की जा रही है।

भारत में विगत 25 मार्च से देशभर में लागू किए गए लॉकडाउन से कोविड-19 के संक्रमण के फैलाव को रोकने के प्रयासों में सफलता मिली है और लॉकडाउन में इस जानलेवा बीमारी के फैलाव की गति को कम किया जा सका है। भारत सरकार के सांख्यिकी और कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय के अनुमान के अनुसार इससे बड़ी संख्या में लोगों की मृत्यु और संक्रमण के मामले रोके गए हैं। इस दौरान देश में स्वास्थ्य के बुनियादी ढांचे के विकास के साथ-साथ ऑनलाइन टेनिंग मॉड्यूल और वेबिनार के द्वारा  स्वास्थ्य कर्मियों की क्षमता का विकास, नमूनों की जांच, विभिन्न उपकरणों एवं ऑक्सीजन सिलेड़रों की आपूर्ति आदि सुविधाओं में बढ़ोत्तरी हुई है। साथ ही कोविड-19 के लिए आवश्यक दिशा निर्देश जारी करने, सामान्य रूप से अपनाए जाने वाले, परिचालित और  प्रचलित मानकों के अनुरूप चिकित्सा संबंधित तैयारियां भी व्यापक स्तर पर हुई। साथ ही इस दौरान बीमारियों की पहचान के तरीकों का विकास, ड्रग्स परीक्षण, वैक्सीन शोध कार्यों का विकास और कोविड-19 के रोगियों के अधिक से अधिक सम्पर्कों की पहचान, घर-घर सर्वे और आरोग्य सेतु एप विकास आदि  तकनीकी सर्विलांस सिस्टम की मजबूती सहित अन्य कई उपलब्धियां अर्जित की गई हैं।

 

लॉकडाउन के दौरान कोविड-19 के प्रंबंधन के लिए देश के बुनियादी स्वास्थ्य ढांचे को और अधिक मजबूत किया गया। आज दिनांक तक देश में के 930 विशेष कोविड अस्पताल स्थापित किए जा चुके हैं जिनमें 1,58,747 आइसोलेशन बिस्तर, 20,355 आईसीयू बिस्तर और 69,076 ऑक्सीजन सिलेंडर की सुविधा उपलब्ध है। इसी प्रकार 2,362 विशेष कोविड हेल्थ सेंटर भी बनाए गए जिनमें 1,32,593 आइसोलेशन बिस्तर, 10,903 आईसीयू बिस्तर और 45,565
ऑक्सीजन सिलेंडर है। इसके अलावा 10,341 क्वारंटाइन केंद्र और 7,195 विशेष कोविड केयर सेंटर भी स्थापित किए गए है। जिनमें 6,52,830 बिस्तर उपलब्ध हैं।

भारत सरकार, राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों तथा केंद्रीय संस्थानों को अब तक 113.58 लाख एन-95 मास्क और 89.84 लाख पीपीई किट्स वितरित कर चुकी है। इसी प्रकार देश में कुल 624 प्रयोगशालाएं विकसित की गई है, जिनमें 435 सरकारी और 189 निजी प्रयोगशालाओं हैं। इन प्रयोगशालाओं के माध्यम से नमूनों की जांच की सुविधा में भी  बढ़ोत्तरी की गई है। देश में अब तक 32,42,160 नमूनों की जांच की जा चुकी है। जिनमें से मंगलवार को एक ही दिन में 1,16,041 कोविड-19 के नमूनों की जांच की गई।

देश में अब तक कोविड-19 के 1,51,767 पुष्ट मामले सामने आए हैं, जिनमें से 64,426 रोगी स्वस्थ हो चुके हैं। इस प्रकार देश में रिकवरी की दर में भी वृद्धि हुई है और यह 42.4 प्रतिशत तक पहुंच गई है। इसी प्रकार मृत्यु दर में भी आशातीत सुधार हुआ है और वर्तमान में यह प्रतिशत 2.86 है। जबकि विश्व में कोविड-19 की मृत्यु दर 6.36 प्रतिशत है।

स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने कोविड-19 दौर तथा इसके बाद की अवधि के लिये प्रजनन, मातृ, नवजात शिशुओं, किशोर स्वास्थ्य +  पोषण( आर एम एन सी ए एच +   एन) सेवाओं के प्रावधान पर दिशानिर्देश नोट जारी किया है ।


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Rajasthan
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like