नवाचार, बुद्धिमत्ता और समग्रता विषय पर दो दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी

( Read 465 Times)

12 Oct 19
Share |
Print This Page

डॉ. प्रभात कुमार सिंघल

नवाचार, बुद्धिमत्ता और समग्रता विषय पर दो दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी

जयपुर  । नवभारत मेमोरियल फाउण्डेशन  की ओर से यहाँ  नवाचार, बुद्धिमत्ता और समग्रता विषय पर दो दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजनकिया गया।  संगोष्ठी के उद्घाटन सत्र में मुख्य अतिथि प्रो आर.एल.गोदारा,कुलपति, वर्धमान महावीर खुला विश्वविद्यालय, कोटा तथा विशिष्ट अतिथि प्रो. एम.सी.शर्मा , राजस्थान विश्वविद्यालय उपस्थित थे।
उद्घाटन सत्र में बोलते हुए  हुए प्रो. आर.एल.गोदारा ने बताया कि वर्तमान परिप्रेक्ष्य में शिक्षा के क्षेत्र में नवाचार की आवश्यकता है
जो युवाओं को समाज से जोडने तथा सामाजिक हित में कदम उठाने के लिएप्रेरित कर सके। इस सत्र के विशिष्ट अतिथि प्रो. एम.सी.शर्मा ने संगोष्ठीके विषय को वर्तमान परिप्रेक्ष्य से जोडते हुए इस प्रकार की संगोष्ठी केआयोजन पर बल दिया।
उद्घाटन सत्र में बोलते हुए डाॅ. सुरेन्द्र प्रताप सिंह कोठारी, अध्यक्ष, नवभारत मेमोरियल फाउण्डेशन ने जानकारी दी कि यह फाउण्डेशन शिक्षा एवं शोध के क्षेत्र में नवाचार हेतु प्रतिबद्ध है तथा फाउण्डेशन के द्वारा प्रतिवर्ष इस प्रकार की राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन
किया जाता है जिससे शिक्षा जगत से जुड़े विद्वतजन तथा शोधार्थी लाभान्वित हो सके। 

उन्होंने बताया कि फाउण्डेशन के द्वारा प्रकाशन किया जाता है जिसमें अबतक 800 से अधिक शोधार्थियों ने अपने शोध पत्र प्रकाशित करवाये है। साथ ही फाउण्डेशन के द्वारा प्रतिवर्ष शिक्षक श्री सम्मान तथारिसर्च श्री सम्मान भी प्रदान किये जाते है। उन्होंने संगोष्ठी के विषय की जानकारी देते हुए सभी प्रतिभागियों का आभार व्यक्त किया।
इस संगोष्ठी के प्रथम दिन 02 सत्र- काॅमर्स एण्ड मैनेजमेंट तथा सामाजिक विज्ञान आयोजित किये गये जिसमें देशभर के विभिन्न विश्वविद्यालयों तथा महाविद्यालयों से  लगभग 200 से अधिक प्रतिभागियों ने भाग लिया।


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Kota News
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like