BREAKING NEWS

कुंभा नगर स्थित न्यू सीकर एकेडमी में मनाया मातृ पितृ पूजन दिवस

( Read 823 Times)

14 Feb 20
Share |
Print This Page

कुंभा नगर स्थित न्यू सीकर एकेडमी में मनाया मातृ पितृ पूजन दिवस

चित्तौड़गढ़ क्षेत्र के उपनगरीय क्षेत्र कुंभा नगर के ज्योति नगर इलाके में स्थित न्यू सीकर एकेडमी सीनियर सेकेंडरी स्कूल परिसर में वैलेंटाइन डे (Valentine's Day)के स्थान पर मातृ पितृ पूजन दिवस मनाया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि श्रीमती कल्याणी दीक्षित जिला शिक्षा अधिकारी प्रारंभिक चित्तौड़गढ़ थी। जिन्होंने संबोधित करते हुए बताया कि भारत (India) पाश्चात्य संस्कृति के अंधानुकरण की होड़ में स्वयं की संस्कृति को धूमिल कर रहा है। आज का वैलेंटाइन डे यह भारतीय संस्कृति का सूचक नहीं है। और इसके स्थान पर आज 51 पति पत्नी सहित अभिभावक गण पधारे हैं तथा विद्यार्थियों द्वारा इनकी पूजा करके मातृ पितृ दिवस मनाया जा रहाहैयह विद्यालय कि एक अभूतपूर्व एवं अद्वितीय तथा जिले में प्रथम गतिविधि है। 51 अभिभावकों का मंत्रोचार के साथ पूजन विद्यार्थियों द्वारा किया गया तथा श्रीफल भेंट किया गया। दीक्षित ने संबोधित करते हुए बताया कि भारतीय संस्कृति सनातन संस्कृति हैतथा यहां इस विद्यालय में संस्कार और अनुशासन को प्राथमिकता देते हुए शिक्षा दी जा रही है जो एक श्रेष्ठ कार्य है तथा सभी अभिभावकों से संवाद करतेहुए संबोधन में बताया कि आप अपनh संतानों को संस्कार दें उसके बाद शिक्षा दें क्योंकि सारी पूंजी आर्थिक युग में अर्थ ही नहीं हो करके हमारी संतान कैसी है? संस्कारित हो, यही सबसे बड़ी पूंजी एवं संपत्ति है। अतिथियों का स्वागत करते हुए संस्थान के निदेशक डॉ प्रहलाद शर्मा ने बताया कि विद्यालय में आज वैलेंटाइन डे के स्थान पर मातृ पितृ पूजन दिवस मनाया जा रहा है जिससे विद्यार्थियों में संस्कार का विकास होता है और संस्कार के द्वारा शिक्षा विकसित होती है जिससे एक आदर्श इंसान का निर्माण होता है और इसी इंसान के गुण के अंदर समस्त पद समाहित हैं जिन पर पद आसीन होकर व्यक्ति अपने जीवन का निर्वाह करता है। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए बाल कल्याण समिति के अध्यक्ष। सुशीला लड्ढा ने बताया किबच्चों के लिए श्रेष्ठतम कार्य करना मेरा सदैव प्रयास रहा है तथा में इस कार्य में संलग्न हूं तथा समस्त विद्यार्थियों और अभिभावकों को अवगत करते हुए लड्ढा ने बताया कि बच्चों के हितों को सुरक्षित रखना चाहिए जिससे बच्चों में संस्कार उत्पन्न होते हैं एवं यह बच्चे बड़े बनकर आगे उच्च पदों पर आसीन होते हैं एवं परिवार समाज के साथ-साथ राष्ट्र सेवा की ओर अग्रसर होते हैं तथा विद्यालय द्वारा यह की गई गतिविधि अपने आप में अनूठी एवं अलग है जो अन्य विद्यालय में करने को नहीं मिली। विद्यालय प्रशासन को यह श्रेय देते हुए श्रीमती लड्ढा ने बताया कि आज के इस कार्यक्रम में मैंने विद्यार्थियों एवं अभिभावकों से संवाद किया कि अभिभावक एवं विद्यार्थी सभी इस कार्यक्रम से बहुत ही अच्छा महसूस कर रहे हैं कि वास्तव में यह एक अनूठी गतिविधि है इससे विद्यार्थियों में विनम्रता के भाव के साथ संस्कार का विकास होता है। कार्यक्रम के दौरानपुलवामा हमले में शहीद हुए जवानों के आत्म शांति हेतु दीप प्रज्वलन तथा मोमबत्ती जलाकर उनकी आत्मा को शांति दी तथा मौन रखकर के उनके आत्मा को स्वर्ग में स्थान मिले ऐसी प्रार्थना की गई। इस दौरान विद्यार्थियों द्वारा कविता गीत एवं नाटक प्रस्तुत किए गए। कार्यक्रम के अंत में आभार व्यक्त करते हुए एडवोकेट प्रशांत शर्मा ने बताया कि भारतीय संस्कृति को बचाने के लिए ऐसी गतिविधि का होना बेहद जरूरी है तथा सभी अतिथियों ने इस कार्यक्रम की सराहना की है और सभी अतिथियों ने समय निकाल कर के विद्यार्थियों का हौसला बढ़ाया एवं अभिभावकों ने अपना समय निकाल कर के कार्यक्रम को रंग रूप प्रदान किया इसके लिए विद्यालय परिवार आपका आभारी रहेगा ।कार्यक्रम की इस अवसर परबजरंग लाल ,, राज कुमार चौधरी, हिम्मत सिंह राजावत, योगेश दत्त तिवारी , नगेंद्र ढाका, सुरेश कुलहरी , मुकेश भार्गव , अशोक वर्मा , कालुराम सैनी , श्रीमति मीना पारीक, ओजेश कुमार , शिवराज कुमावत , गौरव कुमार दूत , महेश कुमार, प्रशांत सिंह , सौरभ  भाटी उपस्थितथे | कार्यक्रम का संचालननीता भट्ट,आशीष जांगिड़ ने किया।

 


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Chittor News
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like