BREAKING NEWS

अधिवक्ताओं पर हमले के विरोध में कामकाज का किया बहिष्कार

( Read 608 Times)

15 Feb 20
Share |
Print This Page

अधिवक्ताओं पर हमले के विरोध में कामकाज का किया बहिष्कार

उदयपुर । अधिवक्ताओं पर लगातार हो रहे हमलों को रोकने एवं लखनऊ में हुई कोर्ट मैं बम फेंकने की वारदात एवं भिंडर एवं छोटी सादड़ी में अधिवक्ताओं पर हुए हमले के बाद एडवोकेट प्रोटेक्शन एक्ट को शीघ्र लागू करने की मांग को लेकर देश के प्रधानमंत्री  एवं राज्य के मुख्यमंत्री के नाम जिला कलेक्टर श्रीमती आनंदी को ज्ञापन सौंपा गया। अधिवक्ताओं पर लगातार हो रहे हमलों के विरोध में आज अधिवक्ताओं ने संभाग भर में न्यायिक कामकाज का बहिष्कार किया ।

बार एसोसिएशन के अध्यक्ष मनीष शर्मा ने बताया कि जिला न्यायालय परिसर में सभी अधिवक्ताओं ने कामकाज का बहिष्कार किया और मौन जुलूस के रूप में जिला कलेक्टर श्रीमती आनंदी को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा गया। ज्ञापन में घायल अधिवक्ताओं का उच्च श्रेणी के चिकित्सालयों में समुचित चिकित्सा सुविधाएॅ प्रदान कराई जाने एवं उनके परिजनों को सुरक्षा स्वतन्त्र  एजेन्सी से प्रदान कराई जाने, सम्पूर्ण राष्ट्र की विभिन्न पुलिस एजेन्सीयों को  भविष्य में इस प्रकार की घटनाए, तालूका एवं जिला स्तर के न्यायालयों सहित किसी भी न्यायालय में पुनावृति नही होने से रोकने, दोषी व्यक्तियों के विरूद्ध सख्त से सख्त कार्यवाही करवा सख्त सजा दिलाई जाने की मांग की गई।

ज्ञापन मैं इसके अलावा घायल अधिवक्ताओं को पर्याप्त क्षतिपूर्ति राशि दिलाई जाने, राजस्थान राज्य सरकार के पास लम्बित अधिवक्ता संरक्षण अधिनियम को विधानसभा का विशेष सत्र आहुत करवा तत्काल प्रभाव से सम्पूर्ण राज्य में उसके प्रावधानों को लागु करने, राज्य सरकार को तत्काल रूप से निर्देश प्रदान करावे कि सम्पूर्ण राजस्थान राज्य में इस प्रकार की घटनाओं की पुनावृति नही होने देने की मांग की गई। ज्ञापन में उपरोक्त मांगो को राष्ट्र हित में  एवं न्यायिक संस्थानों को सुविधाएॅ प्रदान कराने ओर एडवोकेट प्रोटेक्शन एक्ट जल्द से जल्द पास करवा कर अधिवक्ताओं को सुरक्षा प्रदान कराने की मांग की।

ज्ञापन देने मैं महासचिव चक्रवती सिंह राव उपाध्यक्ष नीलाश द्विवेदी सचिव राजेश वर्मा वित्त सचिव पृथ्वीराज तेली एवं पुस्तकालय सचिव धीरज व्यास के साथ पूर्व अध्यक्षों में शांतिलाल चपलोत रमेश नंदवाना शांतिलाल पामेचा रतन सिंह राव शंभू सिंह राठौड़ सत्येंद्र पाल सिंह छाबड़ा भरत वैष्णव रामकृपा शर्मा महेंद्र नागदा एवं वरिष्ठ अधिवक्ता  जितेंद्र जैन महावीर शर्मा  पुष्कर लोहार सहित कई अधिवक्ता मौजूद थे।


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Headlines
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like