तालियां बटोरने की जगह समाजिक सरोकारों से जुड़े---मयूख

( Read 1301 Times)

30 Sep 19
Share |
Print This Page
तालियां बटोरने की जगह समाजिक सरोकारों से जुड़े---मयूख

डॉ. प्रभात कुमार सिंघल,कोटा

परिवार को जोड़े रखने के लिए आपसी सहयोग एवं सामंजस्य जरूरी है। उन्होंने ने आज के कवियों से आह्वान किया कि ताली बटोरने के लिए नहीं वरन सामाजिक सरोकारों से जुड़े। यह विचार अंतररास्ट्रीय स्तर पर विख्यात कवि एवं साहित्यकार बशीर अहमद मयूख ने राजकीय सावर्जनिक मंडल पुस्तकालय में आयोजितअंतररास्ट्रीय वृद्धजन दिवस के अंतर्गत संभागीय  आयुष्मान भव  कार्यक्रम में  अध्यक्षता करते हुए व्यक्त किये। उन्होंने वेदों की ऋचाओं के आह्वान के साथ गजल एवं गीत सुनाए। 

        मुख्य अथिति डॉ. साहनी ने कहा आयु एक अंक और एज केवल दो नम्बर नहीं है। हमेशा मुस्कराये औऱ दूसरों को भी मुस्कराहट देंवे। राजस्थानी साहित्यकार मुकुट मणि राज,संगीतज्ञ रेणु घोष,इतिहासविद डॉ. हुकुम चंद जैन, साहित्यकार जितेंद्र निर्मोही,शकूर अनवर,सलीम फरीदी ने भी अपने विचार रखे।  पुस्तकालय अध्यक्ष डॉ. दीपक कुमार श्रीवास्तव ने अपने स्वागत संबोधन में कहा कि जीवन यात्रा एक सीधी रेखा नहीं वरन सम एवं विषम परिस्थितियों का सम्मिश्रण है। या यूं कहें कि सुख और दुख का समन्वय है। इस लिए हर पल का आनन्द लीजिए आयु खुश रहिए।

       समारोह के मुख्य अथिति डॉ आर. सी. साहनी, अध्यक्ष  एवं अंतररास्ट्रीय साहित्यकार श्री बशीर अहमद ‘‘मयूख’’ एवं विशिष्ठ अथिति श्रीमती कमला कमलेश का  राजस्थानी परम्परा के अनुरूप साफा , शाल, सम्मान पत्र, मेडल व श्रीफल देकर आयुष्मान भव वयो श्री सम्मान-2019 से सम्मानित किया गया। 

          इनके साथ-साथ विभिन्न क्षेत्रों से सेवा निवर्त एवं साहित्य,शिक्षा,अभियांत्रकी,चिकित्सा,कारपोरेट,बैंक,समाज,सेवा,संगीत,अभिनय,पत्रकारिता,उदघोषक,लेखा,रक्षा, सहित विभिन्न सेवाओं से जुड़े

 51 विरिष्ठ नागरिकों उनकी उत्कृष्ठ सेवा एवं सामाजिक योगदान के लिए वयो श्री सम्मान -2019 से नवाजा गया। कवि महेश पंचोली की पुस्तक थीम है ऊपर रचित " पुस्तक दोस्त है,भाई है जीवन है" के पोस्टर का विमोचन अथितियों द्वारा किया गया।

      चिकित्सा क्षेत्र में सागिर हसन , साहित्यकार एवं कवि जितेंद्र निर्मोही, मुकुट मणि राज,बाबू बंजारा-बारां, ओम सोनी-अंता, जयसिंह आसवत-नेनवा, डॉ.  गोपाल कृष्ण भट्ट, डॉ. रघुनाथ मिश्र, खुशपाल सिंह चौधरी, सलीम फरीदी, शकूर अनवर, हरीश शर्मा, आर. एस. कर्मयोगी, भगत सिंह मयंक,सुरेंगर सिंह गौड़, वीना अग्रवाल, गोरस प्रचंड,भगवती प्रसाद गौतम,डॉ. अब्दुल फरीद खान,ए. जमील कुरेशी, किशन लाल वर्मा, नाथू लाल निडर-बारां, कारपोरेट क्षेत्र में शैलेन्द्र जयपुरिया, बैंकिंग में श्रीमणलाल मीणा, अशोक ढल, अभियांत्रिकी में विष्णु कांत, विस्माहनु चंद्र अग्रवाल, समाज सेवा में उषा मिश्रा,मधु अग्रवाल, पत्रकरिता में मनोहर पारीख, डॉ. प्रभात कुमार सिंघल,पुस्तकालय से अनिता माथुर, संगीत से रेणु घोष, सलीम रोबिन, मंत्रालयिक सेवा से भीम सिंह तंवर, उच्च शिक्षा से प्रो.हरिमोहन शर्मा, डॉ. हुकुम चंद जैन,के.बी.भारतीय, प्रो.राधेश्याम मेहर,डॉ. गोपाल धाकड़, विद्यालय शिक्षा से सत्यनारायण विजय,नारायण लाल नामा. धनराज गुप्ता एवं उदघोषक  के.बी.गुप्ता को वयो श्री सम्मान-2019 से सम्मानित किया गया।

     प्रारम्भ में अथितियों द्वारा माँ शारदा के सम्मुख दीप प्रज्ज्वलित किया गया एवं अथितियों का सम्मान किया गया।  कार्यक्रम में सहयोग के लिए कोटा कोलाज की सम्पदाक श्रीमती रुबीना काज़ी एवं इनर व्हील कोटा नॉर्थ की सचिव मधु शर्मा को भी सम्मानित किया गया। कार्यक्रम का संचालन सीमा घोष ने किया। संयोजक शशी जैन ने सभी का आभार व्यक्त किया। कार्यकम आयोजन में अजय शर्मा,नवनीत,योगेंद्र सिंह तंवर, प्रीति शर्मा एवं कन्हैया वर्मा ने सक्रिय सहयोग प्रदान किया।


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Kota News
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like