GMCH STORIES

बॉलीवुड पाशर्व गायक एवं कंपोज़र रविन्द्र उपाध्याय के गीतों पर थिरके विद्यार्थी

( Read 8847 Times)

09 Mar 20
Share |
Print This Page
बॉलीवुड पाशर्व गायक एवं कंपोज़र रविन्द्र उपाध्याय के गीतों पर थिरके विद्यार्थी

गीतांजली मेडिकल कॉलेज एवं हॉस्पिटल, उदयपुर के परिसर में गीतांजली आइडल सीजन- 1 का आयोजन किया किया गया| गीतांजली आइडियल के अंतर्गत गीतांजली के डेंटल, फार्मेसी, फिजियोथेरेपी, नर्सिंग, टेक्निकल इंस्टिट्यूट विभाग के विद्यार्थियों एवं डॉक्टर्स, स्टाफ ने उत्साह के साथ भाग लिया| कार्यक्रम में कुल 70 प्रतिभागियों ने ऑडिशन दिए जिसमे से 21 प्रतिभागियों को फाइनल राउंड में अपने हुनर को दिखाने का मौका मिला|

कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि व जज के रूप में बॉलीवुड के जाने माने मशहूर संगीतकार रविन्द्र उपाध्याय तथा डॉ. सुरेश चावला को मोहाली से आमंत्रित किया गया| अन्य जजों में गीतांजली हॉस्पिटल के ओर्थोपेडिक डिपार्टमेंट एचओडी डॉ. हरप्रीत सिंह व पैथोलॉजी डिपार्टमेंट के एचओडी डॉ. एम.एल. गुप्ता रहे| कार्यक्रम के मुख्य अतिथि के रूप में गीतांजली ग्रुप के चीफ एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर अंकित अग्रवाल व गीतांजली मेडिकल कॉलेज एवं हॉस्पिटल के सीईओ प्रतीम तम्बोली उपस्थित रहे|

कार्यक्रम को देखने आये श्रोताओं में गीतांजली यूनिवर्सिटी के सभी विभाग के विद्यार्थी, स्टाफ, डॉक्टर्स भारी संख्या शामिल हुए|

चुने हुए 21 प्रतिभागियों द्वारा पंजाबी, राजस्थानी, बॉलीवुड व सांस्कृतिक थीम पर रंगारंग प्रस्तुतियां दी गयी जिसमे प्रस्तुत श्रोताओं का जोश देखते बनता था| कार्यक्रम का मुख्य आकर्षण रहे मशहूर गायक रविन्द्र उपाध्याय के लोकप्रियता हासिल कर चुके गाने हरियाली बन्ना, चौधरी, बॉलीवुड गीत गाये जिसमे पर देर रात तक सबका उत्साह देखते बनता था|

कार्यक्रम के आयोजनकर्ता एचआरबीपी जीएम राजीव पंड्या ने बताया कि विजेताओं की घोषणा का क्षण आया मानो चारों तरफ सन्नाटा छा गया| परन्तु जैसे ही विजेताओं की घोषणा की गयी पूरा सभागार गूँज उठा| पहले स्थान पर बीएससी नर्सिंग(द्वितीय वर्ष) के छात्र यानिश लबाना ने बाज़ी मारी द्वितीय स्थान पर रहे गिट्स बीटेक (प्रथम वर्ष) के आदित्य पालीवाल एवं तृतीय स्थान पर एमबीबीएस (द्वितीय वर्ष) की छात्रा सृष्टि तिवारी| विजेताओं में प्रथम आने वाले विजेता को ईनामस्वरूप धनराशी 21000/-, द्वितीय को 15000/-, व तृतीय को 11000/- चेक द्वारा प्रदान की गयी|

जीएमसीएच सीईओ प्रतीम तम्बोली ने कहा कि अध्ययन एवं दैनिक दिनचर्या के साथ सह-परिपत्र गतिविधियों का होना बहुत ज़रूरी है| उन्होंने यह भी बताया कि गीतांजली यूनिवर्सिटी विद्यार्थी और कर्मचारी केंद्रित संस्था है जिस कारण इस तरह के कार्यक्रम का आयोजन किया गया एवं भविष्य में निश्चित अन्तराल से होता ही रहेगा|


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Headlines , Health Plus , GMCH
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like