GMCH STORIES

गीतांजली कैंसर सेंटर द्वारा किया गया “कैंसर मुक्त समाज” का आगाज़

( Read 8113 Times)

02 Feb 20
Share |
Print This Page
गीतांजली कैंसर सेंटर द्वारा किया गया “कैंसर मुक्त समाज” का आगाज़

रविवार 2 फरवरी गीतांजली मेडिकल कॉलेज एवं हॉस्पिटल तथा गीतांजली कैंसर सेंटर उदयपुर के संयुक्त तत्वाधान में पूर्व कैंसरग्रस्त रोगियों के लिए “कैंसर अवेरयरनेस प्रोग्राम एवं सर्वाइवर मीट 2020” का आयोजन गीतांजली सभागार में हुआ जिसका उद्देश्य “कैंसर मुक्त समाज” का निर्माण है| इसके मुख्य उद्देश्य इस प्रकार हैं:
* हमारा सपना कैंसर मुक्त समाज
* आम जन में कैंसर के प्रति जागरूकता फैलाना
* सही समय पर सही जाँच, शीघ्र रोकथाम
* सामाजिक संस्थायें तथा कॉर्पोरेट्स के माध्यम से ज्यादा से ज्यादा लोगो तक पंहुचाना |

यह आयोजन कैंसर से लड़ने व ठीक होने वाले रोगियों का आयोजन था जिसमें कैंसरमुक्त हुए रोगी इस कार्यक्रम द्वारा सामान्य ज़िदगी में लौट सके। इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि गीतांजली मेडिकल कॉलेज एवं हॉस्पिटल के सीईओ प्रतीम तम्बोली थे।

कार्यक्रम का शुभारम्भ सीईओ प्रतीम तम्बोली व कैंसर विभाग के सभी चिकित्सकों द्वारा दीप प्रज्जवलन के साथ हुआ|

कार्यक्रम की शुरूआत रेडियोलॉजी ऑंकोलॉजिस्ट डॉ. रमेश पुरोहित के माध्यम से कैंसर पर जागरुकता संवाद प्रस्तुत किया। उन्होंने बताया कि कैंसर से पीड़ित रोगियों को बचाया जा सकता है यदि लक्षण पता चलते ही सही समय पर अपना इलाज करायें इसके लिए कैंसर की जागरूकता का होना आवश्यक है जो कि हमारी कैंसर मुक्त समाज की मुहिम है।

15वर्षीय प्रेम कुमार मीणा ने जो कि जिसके पैरों में दर्द रहने का कारण ब्लड कैंसर था तथा अहमदाबाद से इलाज करवाने के बाद भी कोई आराम न मिलने पर परिजन उसे गीतांजली हॉस्पिटल लाए| उसके द्वारा 2019 ‘‘ये मत कहो खुदा कि मुश्किलें बड़ी है’’ शीर्षक कविता का वाचन व्हील चेयर पर बैठकर दिया जिसने सबको मंत्रमुग्ध कर दिया आज फिर इसी बच्चे ने बहुत ही सुन्दर नृत्य के द्वारा अपने जज़्बे का प्रदर्शन कर सबको हैरत में डाल दिया जो की असीम इच्छाशक्ति का परिचायक है| अब ये बच्चा स्वस्थ है एवं सामान्य बच्चों की तरह अपना जीवनयापन कर रहा है|

कैंसर से ठीक हुए 40 वर्षीय लोकेश पालीवाल ने बताया कि जब उनको पता चला कि उनको गले में गांठ तथा टेस्ट के दौरान थायराइड कैंसर की पुष्टि हुई है तो वे काफी हताश हो गए। परंतु गीतांजली कैंसर सेंटर पर वे इलाज के लिए आए और आज बिल्कुल स्वस्थ है। उन्होंने सभी डॉक्टर्स का अभिवादन किया और कहा कि कैंसर से डरें नहीं, उसका इलाज कराएं।

मुँह के चैथी स्टेज के कैंसर से ठीक हुए हेमन्त शर्मा ने हारमोनियम बजा “इक प्यार का नगमा है” गाने का संगीत प्रस्तुत किया तो वही सीईओ प्रतीम तंबोली ने उनका होंसला बढाने के लिए आगे आकर संगीत को बोल दिए जिससे सारा माहोल खुशनुमा हो उठा|

नन्हे नन्हे कैंसर सर्वाइवर्स द्वारा भी ग्रुप डांस “बम बम बोले मस्ती में डोले” प्रदर्शित किया, उनके इस जज़्बे को देख लोग स्वयं को रोक नही पाए पूरा सभागार तालियों की गूंज से भर उठा|

15 वर्षीय महज़बी खान को कई हॉस्पिटल में दिखाया गया क्योंकि उसके गले और मुंह में सूजन रहने लगी थी और बहुत कमजोरी आ गई थी गीतांजली में आकर जांच में पता चला कि उसके ह्रदय के पास में छोटी सी गांठ है इसके पश्चात रोगी का इलाज किया गया, आज बच्ची स्वस्थ है एवं अपनी पढ़ाई लिखाई कर रही है तथा उसके परिवार वाले उसे पुनः स्वस्थ पाकर बहुत खुश हैं|

इसी तरह कई सर्वाइवर्स द्वारा जीत की कहानी सबके सम्मुख रखी गयी जोकि सबको प्रेरित कर रही थीं उनका साहस और होंसला सब के लिए मिसाल से कम नही था|

जीएमसीएस सीईओ प्रतीम तंबोली ने कहा कि गीतांजली हॉस्पिटल में पेशेंट सर्वोपरि है| यहां रिआयती दरों पर नवीनतम तकनीकों द्वारा इलाज किया जाता रहा है| उन्होंने कहा इस कार्यक्रम का उद्देश्य कैंसर पेशेंट्स का मनोबल बढ़ाना एवं उनको प्रेरित करना है तथा जन-जन तक कैंसर मुक्त समाज का आह्वान करना है जिससे की लोगो में कैंसर के प्रति जागरूकता का संचार हो|

कार्यक्रम का मुख्य आकर्षण था ऑन्कोलॉजी विभाग के डॉक्टर्स का पैनल डिस्कशन, जिनमें शामिल डॉक्टर्स के नाम इस प्रकार है: ऑन्कोलॉजी विभाग के एचओडी डॉ. ए. आर. गुप्ता, मेडिकल ऑन्कोलॉजी से डॉ. अंकित अग्रवाल, ऑन्कोलॉजी सर्जन डॉ. आशीष जखेटीया एवं डॉ. अरुण पाण्डेय, ऑंकोलॉजी रेडिएशन से डॉ. रमेश पुरोहित, डॉ. किरण चिगुरुपल्ली एवं डॉ. मेनाल भण्डारी, ऑंकोलॉजी पेलिएटीव केयर से डॉ. अनिल भीमल | पैनल डिस्कशन के दौरान सभी डॉक्टर्स द्वारा कैंसर के लक्षण रोकथाम जैसे मुद्दों पर चर्चा की गयी प्रस्तुत लोगों को ट्यूमर बोर्ड के गठन के बारे में अवगत करवया गया जिसमें ये बताया गया की कैंसर के मेडिकल, रेडिएशन एवं सर्जन की टीम द्वारा मिलकर निर्धारित किया जाता है की पेशेंट के लिए सबसे उत्तम इलाज किस पद्धति से किया जाये| इस डिस्कशन में उपस्थित लोगों ने भी डॉक्टर्स से सवाल जवाब किये जो की बहुत ही महत्वपूर्ण थे|

इसके पश्चात कैंसर मुक्त समाज की मुहिम का सीईओ प्रतिम तंबोली एवं उपस्तिथ ऑन्कोलॉजी डॉक्टर्स की टीम द्वारा आगाज़ किया गया|

कार्यक्रम के दौरान रोटरी क्लब ऑफ़ पन्ना ने गीतांजली हॉस्पिटल के तत्वत्धान से कैंसर पेशेंट्स के लिए हेयर डोनेशन पोस्टर का विमोचन किया गया|

सीइओ प्रतीम तम्बोली एवं सभी ऑन्कोलॉजी डॉक्टर्स की टीम ने उपस्तिथ एन.जी.ओ- रोटरी क्लब वसुंधरा, रोटरी क्लब मीरा, रोटरी क्लब पन्ना, अखिल भारतीय मारवाड़ी युवा मंच, श्री गोवर्धन मेडिकल हेल्थ केयर, राजस्थान पेंशनर समाज, सीनियर सिटीजन केयर चैरिटेबल ट्रस्ट, इंसानियत हेल्थकेयर सोसाइटी, मेवाड़ इनोवेशन्स सर्विसेज, मेत्रिमंथान, सूर्यांश संसथान, परमार्थ मेमोरियल ट्रस्ट तथा के. जी. गट्टानी फाउंडेशन मुस्कान क्लब, मुशीन उदयपुर को उनके समाज में सराहनीय प्रयासों एवं कैंसर मुक्त मुहिम से जुड़ने के लिए फैसिलिटेशन अवॉर्ड्स से सम्मानित किया|

वही उपस्तिथ कॉर्पोरेट्स में रेल्वे हॉस्पिटल, इ.एस.आई.सी, हिंदुस्तान जिंक लिमिटेड, आर.एस.एम.एम, एफ. सी. आई, ई.सी.एच.एस, मुस्लिम लाइफ केयर, भारतीय जैन संगठन, गुड डॉक् इंटरप्राइजेज प्राइवेट लिमिटेड तथा बी.एस.एन.एल को कैंसर मुक्त समाज की मुहिम को आगे बढानें में सहयोग प्रदान करने हेतु फैसिलिटेशन अवॉर्ड्स से सम्मानित किया|

इसके पश्चात उपस्तिथ सभी सर्वाइवर्स को भी उनके अदम्य साहस और जस्बे के लिए सम्मानित किया गया

कार्यक्रम के अंत में ऑन्कोलॉजी सर्जन डॉ. आशीष जखेटीया ने मेंस्ट्रूअल हाइजीन का महत्व समझाया एवं उपस्तिथ सभी अतिथियों, श्रोताओं को कैंसर मुक्त मुहिम से जुड़ने के लिए धन्यवाद दिया गया|


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Headlines
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like