GMCH STORIES

२० सेकंड में एक साथ ४०३५ पौधे लगाकर लक्ष्यराज सिंह मेवाड ने बनाया विश्व रिकॉर्ड

( Read 7921 Times)

28 Jan 20
Share |
Print This Page
२० सेकंड में एक साथ ४०३५ पौधे लगाकर लक्ष्यराज सिंह मेवाड ने बनाया विश्व रिकॉर्ड

उदयपुर,मेवाड घराने के लक्ष्यराज सिंह मेवाड ने अपने जन्मदिन के अवसर पर पर्यावरण समृद्धि के लिये ’गो ग्रीन‘ पहल का ’वृक्ष ही जीवन अभियान‘ के नाम से प्रारम्भ किया।

लक्ष्यराज सिंह मेवाड ने जन्मदिवस के सुअवसर पर उदयपुर के सरकारी एवं गैर सरकारी विद्यालय के बच्चों, भारतीय सेना के जवानों, उदयपुर के कई गणमान्य जन, स्टाफ व देश-विदेश से आये मेहमानों के संग पौधे वितरित कर अपनी खुशियों का इजहार किया।

मेवाड को जन्मदिन की बधाई देने आये लगभग ५ हजार बधाई प्रदान कर्ताओं के लिए सिटी पेलेस के ऐतिहासिक माणक चौक में हजारों पौधों को खाली गमले, खाद एवं पानी के ग्लास के साथ कतार बनाकर रखवाया गया। सभी बच्चों, जवानों, स्टाफ एवं मेहमानों ने २० सैकंड में पौधों को गमले में रोपित कर उन्हें खाद व पानी देकर विश्व रिकॉर्ड बनाया। इससे पहले वर्ष २००० में ६० सेकंड में पौधे लगाने का रिकॉर्ड था, जिसे आज तोडते हुए २० सेकंड में ४०३५ पौधे एक साथ लगाकर रिकॉर्ड बनाया गया। पर्यावरण समृद्धि का संदेश देते हुए लक्ष्यराज सिंह मेवाड ने पौधे वितरण में अमलतास, गुलमोहर, सहजन एवं केशिया श्याम वृक्षों के पौधों को वितरित किया। मेवाड की इस उपलब्धि ने गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज करवा दिया। यह मेवाड का तीसरा गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड रहा।

मेवाड ने ग्लोबल वार्मिंग से वर्तमान में होने वाली प्राकृतिक आपदाओं को कम करने के प्रयास स्वरूप ’गो ग्रीन‘ पहल से ’वृक्ष ही जीवन अभियान‘ का शुभारंभ कर पर्यावरण प्रेम का संदेश दिया

इससे पूर्व भी लक्ष्यराज सिंह मेवाड ने ३,२९,२५० वस्त्रों को एकत्र कर जरूरतमंदों में वितरित कर प्रथम बार गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड तथा दूसरी बार २४ घंटों में २० टन से अधिक की स्टेशनरी छात्र-छात्राओं में वितरित कर वर्ल्ड रिकॉर्ड अपने नाम किया था। इस तरह मेवाड बेहतर शिक्षा, स्वास्थ्य एवं पर्यावरण के लिए विभिन्न अभियानों एवं योजनाओं के साथ कार्यरत है और सौहार्द चेरिटेबल ट्रस्ट से जुडे हुए है।

लक्ष्यराज सिंह मेवाड को बधाई देने वाले शुभचिंतकों का प्रातः ९.३० बजे से ही आना आरंभ हो गया और मात्र आधे घंटे में सिटी पेलेस का माणक चौक पूरी तरह भर गया। जहाँ मेवाड ने सबका अभिनंदन किया तो सभी ने उन्हें उनके जन्मदिन की शुभकामनाएं प्रदान की। अंत में लक्ष्यराज सिंह मेवाड ने पर्यावरण समृद्धि की कामना के साथ सभी को स्वच्छ पर्यावरण से जुडे रहने की गुहार की और सभी का धन्यवाद और आभार व्यक्त किया।


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Headlines
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like