देश में सामुदायिक संक्रमण का खतरा नहीं : डॉ हर्ष वर्धन

( Read 2131 Times)

17 May 20
Share |
Print This Page

- नीति गोपेंद्र भट्ट -

देश में सामुदायिक संक्रमण का खतरा नहीं : डॉ हर्ष वर्धन

नई दिल्ली ।।केन्द्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मन्त्री डॉ हर्ष वर्धन ने कहा है कि देश में अब तक सामुदायिक संक्रमण का खतरा पैदा नहीं है। प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में इस महामारी पर हमारी जीत तय है। उन्होंने विश्वास  व्यक्त किया कि भारत के  प्रयास कामयाबी की ओर हैं। 

कोविड -19 से जुड़े ऐसे तमाम सवालों व देशवासियों के मन में उठने वाली जिज्ञासाओं पर उन्होंने कहा कि भारत की सफल रणनीति से देश को कोविड -19 के 80 हजार मामलों को पार करने में 106 दिन लगे है,जबकि यूके, इटली, स्पेन, जर्मनी व अमरीका जैसे देश मात्र 44-66 दिनों में ही इन आंकड़ों तक पहुंच गए थे।

दो गज की दूरी, सुरक्षा है बहुत जरूरी

उन्होंने सभी कर्मचारियों से भी अपील की कि वे कार्यालय में मास्क  जरूर लगाएं और उचित दूरी का ख़्याल रखें एवं कोविड -19 के खिलाफ़ ज़ंग में सहायक बनें।उन्होंने कहा कि यदि ठीक प्रकार से मास्क लगाएं व 'दो गज की दूरी' का पालन करें, तो कोरोना वायरस से दूर रहा जा सकता है और हम मिलकर कोविड 19 से लड़ सकते हैं।

केन्द्रीय मन्त्री ने कोविड के साथ मच्छर जनित रोगों तथा स्वाँस एवं इंफलेंजुआ और अन्य घातक बीमारियों को भी नज़रअदाज़ नही करने का आग्रह करते हुए कहा कि सभी लोगों को अपने स्वास्थ्य के प्रति जागरूक रह कर ज़रूरी सावधानियाँ बरतनी चाहिये । 
उन्होंने कहा कि कूलर के गन्दे पानी से डेगूँ के मच्छर का पालन होता हैं।रद्दी टायर टूटे बर्तन, गमलों में इसका घर होता है। अतः जन-जन को  यह बतलाने की ज़रूरत है कि वे साफ़ सफ़ाई का पूरा ध्यान रखें और सभी मिल कर डेंगू मुक्त भारत बनाएं।

डॉ हर्ष वर्धन ने ‘वर्ल्ड हायपर्टेन्शन डे’ पर अपने संदेश में कहा कि इस दिवस का उद्देश्य उच्च रक्तचाप के बारे में जागरूकता फैलाने और लोगों को इस मूक प्राण घातक रोग  को नियंत्रित करने के लिये प्रोत्साहित करना है।
आइए,आज हम समाज में लोगों को एक अच्छी दिनचर्या व सही खानपान का ध्यान रखने के लिए प्रेरित करने का संकल्प लें।
समस्त देशवासियों को ‘वर्ल्ड टेली कम्यूटेशन दिवस’ की बधाई देते हुए  उन्होंने कहा कि आज इंटरनेट और फोन हमारी जरूरत बन गई है जिसने हम सभी के जीवन को एक नया आयाम दिया है।इस दिवस को मनाने का मुख्‍य उद्देश्‍य इंटरनेट और नई प्रौद्योगिकियों द्वारा लाए गए सामाजिक परिवर्तनों से सभी को रूबरू करवाना है।


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Headlines
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like