GMCH STORIES

हिन्दुस्तान ज़िंक द्वारा आयोजित अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस कायक्रमों में 1500 बालिकाओं ने लिया भाग

( Read 2552 Times)

12 Oct 21
Share |
Print This Page
हिन्दुस्तान ज़िंक द्वारा आयोजित अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस कायक्रमों में 1500 बालिकाओं ने लिया भाग


हिन्दुस्तान ज़िंक द्वारा अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस पर अपने संचालन क्षेत्र के आस पास विद्यालयों में विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किये। कार्यक्रमों में 64 विद्यालयों की 1500 से अधिक बालिकाओं ने भाग लिया। बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने और उन्हें सशक्त बनाने हेतु हिन्दुस्तान ज़िंक प्रतिबद्ध है समय समय पर विभिन्न कार्यक्रमों के माध्यमों से बालिकाओं को अवसर प्रदान करने और जागरूकता एवं लैंगिक समानता के लिये प्रयास किये जा रहे है।
 
हिंदुस्तान जिंक सखी, खुशी, नंद घर और शिक्षा संबल जैसी परियोजनाओं के माध्यम से बालिकाओं  को उनके अधिकारों, शैक्षिक सुविधाओं, कौशल विकास सुविधाओं और स्वास्थ्य देखभाल सुविधाओं के ज्ञान के साथ जीवन के सभी क्षेत्रों के बारे में जानकारी प्रदान करती है। इन कार्यकमों से बालिकाओं और महिलाओं में आत्मविश्वास का संचार हुआ है।
 
हिंदुस्तान जिंक द्वारा शिक्षा संबल परियोजना के अपने सभी फील्ड कर्मचारियों के लिए लैंगिक समानता पर  प्रशिक्षक रिद्धि शाह द्वारा शिक्षकों का प्रशिक्षण कार्यशाला आयोजित की। अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस पर, “माई वॉयस, अवर इक्वल फ्यूचर” थीम पर मनाया गया।
 
हिन्दुस्तान जिंक के कर्मचारियों ने स्वेच्छा से देबारी में छात्राओं को उनके सामने आने वाली समस्याओं को दूर करके अपने करियर के लक्ष्यों को आगे बढ़ाने के लिए प्रेरित किया। बालिकाओं ने टीम के साथ अपने लक्ष्यों और महत्वाकांक्षाओं को साझा किया। कर्मचारियों ने उन्हें यह भी मार्गदर्शन प्रदान किया कि उनके पास मौजूद अवसरों का सर्वोत्तम उपयोग कैसे किया जाए। इस कार्यक्रम में अमीत वली, हेड ऑफ लीचिंग एंड सेल हाउस प्रोसेस, देबारी और श्याम चैधरी, वाणिज्यिक प्रबंधक, सीआरडीएल उपस्थित थे।
 
अगुचा टीम द्वारा 4 आंगनवाड़ी केंद्रों पर बालिकाओं, किशोरियों और उनके परिवारों को आमंत्रित कर अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस मनाया। इस अवसर पर  प्रतिज्ञा लेने, जागरूकता और संवेदीकरण सत्र, ऐतिहासिक महिला आंकड़ों के बारे जागरूकता और एक वर्ष से कम उम्र की मादा बच्चों को मनाने के लिए केक काटने जैसी गतिविधियां आयोजित की गईं।
 
हिंदुस्तान जिंक द्वारा खुशी, नंद घर पहल, आंगनवाड़ी और प्री-स्कूल शिक्षा के माध्यम से ग्रामीण प्रतिभाओं को उपयुक्त सुविधाएं और अवसर सुनिश्चित करने की पहल की है। शिक्षा संबल परियोजना के माध्यम से विषय अध्यापक उपलब्ध कराने और ग्रामीण बच्चों को उनके शैक्षणिक प्रदर्शन में सुधार करने में सहायता मिल रही है। ऊंची उड़ान पहल के माध्यम से, संगठन उच्च क्षमता वाले छात्रों को आईआईटी और अन्य शीर्ष स्तरीय इंजीनियरिंग कॉलेजों में प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी में मदद करता है। कंपनी ग्रामीण फुटबॉल खेल प्रतिभाओं के लिए उच्च शिक्षा, आवासीय शिविरों के साथ-साथ जिंक फुटबॉल अकादमी की सुविधा प्रदान करती है। नंदघर बच्चों की शिक्षा, स्वास्थ्य और पोषण के लिए सरकार के सहयोग से कार्यक्रम आयोजित करता है। हिंदुस्तान जिंक सभी आयु वर्ग के बच्चों के लिए बेहतर भविष्य हेतु प्रतिबद्ध है।


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Zinc News ,
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like