GMCH STORIES

चीन में भारतीय छात्रों की सहायता के लिए पीआईईसी एवं मोती फाउंडेशन ने बढ़ाया हाथ

( Read 5812 Times)

14 Feb 20
Share |
Print This Page
चीन में भारतीय छात्रों की सहायता के लिए पीआईईसी एवं मोती फाउंडेशन ने बढ़ाया हाथ

उदयपुर | चीन से शुरू हुयी कोरोना वायरस अभी लगभग 25 से अधिक देशों में फ़ैल चुकी है, इस खतरनाक कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में सहायता करते हुए उदयपुर की पल्स इंटरनेशनल एजुकेशन कंसल्टेंसी (PIEC) एवं मोती फाउंडेशन ट्रस्ट, उदयपुर के संयुक्त तत्वाधान द्वारा चिकित्सिक मास्क, हाथ के ग्लव्स इत्यादि चीन भेजे जायेंगे |
पीआईईसी के निदेशक विकास छाजेड़ ने बताया की पीआईईसी मेडिकल कोर्स (PIEC Medical Course) हेतु छात्रों को विदेश के लिए मार्गदर्शन देती है, ऐसे में वर्तमान में 5 से अधिक देशों में पीआईईसी के माध्यम से छात्र विदेश में पढाई कर रहे है जिसमे चीन भी शामिल है, इसे अपना सामाजिक दायित्व मानते हुए पीआईईसी एवं मोती फाउंडेशन ट्रस्ट द्वारा चिकित्सिक मास्क, हाथ के ग्लव्स इत्यादि चीन भेजे जायेंगे, यह मास्क वहाँ रह रहे भारतीय छात्रों को डाक या कूरियर के माध्यम से भेजकर निःशुल्क उपलब्ध करवाए जायेंगे |
अभी चीन में रह रहे भारतीय छात्रों के लिए पीआईईसी द्वारा एक सन्देश प्रसारित किया गया है, जिन्हे मास्क की जरुरत है वो मांगी गयी जानकारी देवे और इसके बाद यहाँ से मास्क को संबधित पत्ते पर भेजा जायेगा | 

मोती फाउंडेशन ट्रस्ट से डॉ प्रियांश जैन ने बताया की फाउंडेशन (foundation) द्वारा फिलहाल लगभग 100 मास्क बल्क में हुबेई चैरिटी फेडरेशन को भेजे जायेंगे जो की वुहान के हॉस्पिटल 3 एवं 4 में जायेंगे और वहाँ यह लोगों में निःशुल्क वितरित हो सकेंगे |
मोती फाउंडेशन ट्रस्ट द्वारा अपील की गयी है की और भी कोई संस्था भारतीय छात्रों के लिए सहयोग करना चाहे तो मास्क, ग्लव्ज इत्यादि सामान 884, पूजा नगर, सेक्टर 4 पत्ते पर मुहैया करवा सकते है |
छाजेड़ ने बताया की जल्द ही एक वेब लिंक तैयार किया जा रहा है जिस पर वहां रह रहे है भारतीय छात्रों की जानकारी ली जाएगी एवं किसी भी प्रकार की आपातकालीन स्थिति में जो संभव व्यवस्था हो पायेगी वो उपलब्ध करवाई जाएगी, साथ ही यह जानकारी सरकार को मुहैया करवाकर उन्हें लाने की योजना भी बनाई जाएगी | 

साथ ही मोती फाउंडेशन द्वारा जल्द ही कोरोना संबधी जागरूकता हेतु कार्यक्रम करवाए जायेंगे जिससे की लोगों में जागरूकता बढे और फ़ैल रही इस बीमारी से बचाव किया जा सके इसमें डॉक्टर्स से सहयोग की आशा रहेगी | 


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Udaipur News
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like