पेसिफिक विश्वविद्यालय के सभागार में आयोजित भव्य समारोह

( Read 594 Times)

16 Sep 19
Share |
Print This Page

पेसिफिक विश्वविद्यालय के सभागार में आयोजित भव्य समारोह

क्वालिटी सर्किल  फोरम ऑफ इण्डिया - राजसमन्द चेप्टर के १८वें अधिवेशन के अवसर पर पेसिफिक विश्वविद्यालय के सभागार में आयोजित भव्य समारोह में मुख्य अतिथि पद से संबोधित करते हुए डा. भगवती प्रकाश शर्मा (विश्वविख्यात अर्थशास्त्री एवं विद्वान) ने बताया कि वैश्विक प्रतिस्पर्धा के युग में मजबूत भारत की अंतर्राष्ट्रीय पहचान के लिए हमारे मैन्युफैक्चरिंग एवं सेवा सेक्टर में गुणवता के प्रति प्रतिबद्धता अत्यन्त आवश्यक है और इस कन्वेन्शन में आप एक दूसरे के अनुभवों को साझा करते हुए नए भारत के निर्मायण में अपना महती योगदान करें।

प्रारंभ में जे.के. टायर के महाप्रबंधक (मानव संसाधन) री राकेश श्रीवास्तव ने अतिथियों का स्वागत करते हुए कहा कि राज्य एवं राष्ट्रीय स्तर कारखानों की गुणवता सर्किल विचारधारा बहुमूल्य योगदान करती है।

इस अवसर पर कार्यक्रम के सह आयोजक पेसिफिक युनिवर्सिटी की प्रोवोस्ट (डीन) प्रो. महिमा बिडला ने युनिवर्सिटी के संस्थापक चेयरमेन भोलाराम अग्रवाल के शिक्षा में योगदान को रेखाकिंत करते हुए आज के कार्यक्रम पर प्रकाश डाला ओर कहा कि हमारी वैश्विक उपस्थिती एवं प्रतिस्पर्धा के लिए गुणवता की मानसिकता अत्यन्त जरूरी है।

क्यूसी एफ.आइ्र. राजसमन्द चेप्टर के चेयरमेन श्री राधाश्याम केडिया ने क्वालिटी सर्किल  ऑफ इण्डिया के कार्यक्रम की विस्तृत जानकारी दी एवं राज्य एवं राष्ट्रीय तथा अन्तर्राष्ट्रीय गुणवता अधिवेशनों तथा उनमें उद्योगों की भागीदारी के लाभों के बारे में बताया। और रेखांकित किया कि इन सबसे खुद का विकास भी होता है।

उदयपुर चेम्बर ऑफ कॉमर्स के अध्यक्ष राकेश सिंघवी ने विशिष्ट अतिथि पद से संबोधित करते हुए कि उद्योगों एवं सेवाक्षेत्रों में गुणवता के प्रति जागरूक सांस्कृतिक बदलाव में इस तरह के अधिवेशनों के माध्यम से जरूरी बताया।

सिक्योर मीटर्स के वैश्विक गुणवता प्रमुख एवं विशिष्ट अतिथि श्री गौरांग शाह ने भारत के अंतरिक्ष कार्यक्रमों का उदाहरण देते हुए बताया कि किस तरह वे असफलताओं से सीख लेते हुए आज विश्व में सफलता का परचम लहरा रहे है। आप में से हर एक व्यक्ति ऐसा करने में सक्षम है।

फोरम के सचिव डा. नरेन्द्र कुमार शर्मा ने कहा कि आज अधिवेशन में ११ संस्थानों के ६२ गुणवता समूह सुबह दस बजे से सायं पांच बजे तक ३५० प्रतिनिधि चार समानान्तर कक्षों में अपने कार्यों की प्रस्तुति देंगे जिसे १२ निर्णायक परखेंगे तथा सायं सभी को आंकलन के आधार पर पुरस्कृत किया जायेगा।

अतिथियों ने १२ निर्णायकों तथा ३० कविता, पोस्टर, निबंध प्रतिभागियों को सम्मानित किया तथा प्रतिनिधियों को श्री केडिया एवं बिडला ने सम्मानित किया। कार्यक्रम का संयोजन पेसिफिक विश्वविद्यालय के डा. सुभाष शर्मा ने किया।


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Udaipur News
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like