संस्कृत गीतों ने समारोह का बांधा समा

( Read 1603 Times)

19 Aug 19
Share |
Print This Page
संस्कृत गीतों ने समारोह का बांधा समा

आलोक विद्यालय पंचवटी में संस्कृत समूह गीत प्रतियोगिता के साथ संस्कृत सप्ताह का पुरस्कार वितरण समारोह हुआ। कार्यक्रम का शुभारंभ समारोह के मुख्य अतिथि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अखिल भारतीय कार्यकारिणी सदस्य माननीय हस्तीमल जैन, विशिष्ठ अतिथि संस्कृतभारती के चित्तौड़ प्रांत के संगठन मंत्री देवेंद्र पंड्या, प्राचार्या पुष्पा टांक, राज कुमार जैन, एवं अध्यक्षता आलोक संस्थान के निदेशक व आर ई एम सी एल के स्वतंत्र निदेशक डॉ प्रदीप कुमावत द्वारा मां सरस्वती के समक्ष दीप प्रज्वलन एवं माल्यार्पण कर किया।

संस्कृत भारती के महानगर संयोजक नरेंद्र शर्मा ने बताया कि अतिथि परिचय एवं स्वागत संस्कृत भारती के प्रांत प्रचार प्रमुख ने कराया। 

     इस अवसर पर संस्कृत भारती के प्रांत संगठन मंत्री देवेंद्र पंड्या ने संस्कृत भारती का परिचय देते हुए कहा कि संस्कृत भारती के अथक परिश्रम से आज  विश्व के उनचालीस देशों में संस्कृत का प्रचार प्रसार का कार्य हुआ है,जिसमे गल्फ देश भी शामिल है। संस्कृत भारती के प्रयास से ही आज 1,80,00000 (1 करोड़ 80 लाख) लोग संस्कृत बोलने में सक्षम हैं और 5 गांव ऐसे है जहां सभी जाति धर्म पंथ संप्रदाय के लोग संस्कृत में बातचीत करते हैं। 5000 से अधिक संस्कृत कुटुंब हो गए हैं जहां सभी संस्कृत में हीं बातचीत करते हैं।

      इस अवसर पर मुख्य वक्ता राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अखिल भारतीय कार्यकारिणी सदस्य हस्तीमल जैन ने कहा कि संस्कृत देववाणी है एवं सभी भाषाओं के साथ-साथ हमारी संस्कृति एवम संस्कारो की भी जननी है, उन्होंने कहा कि विश्व में संस्कृत के प्रति जिज्ञासा बढ़ रही है एवं यह संपूर्ण विश्व की धरोहर है।

  अध्यक्षता कर रहे डॉक्टर प्रदीप कुमावत ने कहा कि संस्कृत से ही संस्कृति की धारा बही है, उन्होंने कहा कि संस्कृत वैज्ञानिक भाषा के साथ साथ  संगणक (कंप्यूटर) के लिए भी सबसे उपयोगी भाषा है।एवं इसी भाषा के आचरण से हमारा जीवन संस्कारित हो सकेगा।

कार्यक्रम का संचालन संपूर्ण रूप से संस्कृत माध्यम से विद्या भवन की दुर्गा कुमावत द्वारा किया गया।
  पधारे हुए अतिथियों एवं विद्यालय प्रशासन एवं विभिन्न्न विद्यालयों से आए छात्रों एवं अध्यापकों का का आभार एवं धन्यवाद कार्यक्रम संयोजक हिमांशु भट्ट द्वारा दिया गया।

         प्रतियोगिताओ के परिणाम- 

श्लोक प्रतियोगिता

श्लोक प्रतियोगिता के कनिष्ठ वर्ग में अन्वेषा नंदी दिल्ली पब्लिक स्कूल प्रथम, हिमशिखा पालीवाल महाराणा मेवाड़ पब्लिक स्कूल द्वितीय, युवराज सिंह सेंट्रल एकेडमी सेक्टर 5 द्वितीय, विधि पुरोहित आलोक माध्यमिक विद्यालय पंचवटी तृतीय, देवांशी प्रजापत रॉकवुडस स्कूल तृतीय रहे।

श्लोक प्रतियोगिता के वरिष्ठ वर्ग में मुक्ति जैन संस्कृत विद्यालय सवीना खेड़ा प्रथम, प्रज्ञा झा आलोक माध्यमिक विद्यालय पंचवटी द्वितीय, नौशीन खान नोबेल इंटरनॅशनल स्कूल द्वितीय, हर्षिता चौधरी सेंट्रल एकेडमी सी. सै. सरदारपुरा तृतीय, दिव्यांशी आमेटा महाराणा मेवाड़ पब्लिक स्कूल तृतीय रहे।

 

श्लोक आधारित चित्रकला प्रतियोगिता के कनिष्ठ वर्ग में दीया चौहान सेंट्रल एकेडमी सी.सै. सरदारपुरा प्रथम, सृष्टि चौधरी महाराणा मेवाड़ पब्लिक स्कूल द्वितीय, जैनिशा लालवानी रॉकवुडस स्कूल द्वितीय, अनुराग मीणा विद्या निकेतन स्कूल अशोक नगर तृतीय, दिशा छीपा रॉकवुडस स्कूल तृतीय रहे।

श्लोक आधारित चित्रकला प्रतियोगिता के वरिष्ठ वर्ग में चर्चिका सोनी सेंट्रल एकेडमी सी. सै. सरदारपुरा प्रथम, प्रज्ञा जैन संस्कृत विद्यालय सवीना खेड़ा द्वितीय, अन्वेषा शर्मा सेंट्रल एकेडमी सी.सै. सरदारपुरा द्वितीय, काव्यांश बोहरा महाराणा मेवाड़ पब्लिक स्कूल तृतीय, मानसी मनीष जैन रॉकवुडस स्कूल तृतीय रहे।

संस्कृत समूह गीत प्रतियोगिता के कनिष्ठ वर्ग में आलोक माध्यमिक विद्यालय पंचवटी प्रथम, सेंट्रल एकेडमी सी.सै.सरदारपुरा द्वितीय, महाराणा मेवाड़ पब्लिक स्कूल व दिल्ली पब्लिक स्कूल तृतीय रहे।

संस्कृत समूह गीत प्रतियोगिता के वरिष्ठ वर्ग में संस्कृत विद्यालय सवीना खेड़ा प्रथम, सेंट्रल एकेडमी सी. सै. सरदारपुरा द्वितीय तथा नोबेल इंटरनेशनल स्कूल व दिल्ली पब्लिक स्कूल तृतीय रहे।

संस्कृत गीत प्रतियोगिता के महाविद्यालय स्तर पर विद्या भवन बी. एड. महाविद्यालय प्रथम रहा।

  इस अवसर पर मुख्य रूप से मंगल जैन, नरेंद्र शर्मा ,हिमांशु भट्ट, डॉ यज्ञ आमेटा, दुष्यंत नागदा दुष्यंत कुमावत ,लोकेश पंचाल, रेखा सिसोदिया, दुर्गा कुमावत आदि कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

 

संस्कृत समूह गीत प्रतियोगिता में छात्रों के गीतों ने बांधा समा।
आज 17 अगस्त शनिवार को ही इस पुरस्कार वितरण समारोह से पूर्व पंचवटी स्थित आलोक माध्यमिक विद्यालय पंचवटी में ही संस्कृत सप्ताह के अंतर्गत अंतिम प्रतियोगिता के रूप में  संस्कृत समूह गीत प्रतियोगिता हुई।
   प्रतियोगिता के निर्णायक दुष्यंत कुमावत एवं मंगल जैन रहे
प्रतियोगिता कनिष्ठ एवं वरिष्ठ दो वर्गों में आयोजित की गई ।प्रतियोगिता में विभिन्न विद्यालयों से लगभग 68 छात्रों ने भाग लिया सभी छात्रों ने संस्कृत समूह गीत प्रतियोगिता के अंतर्गत बड़े उत्साह से एवं रूचि से सुंदर एवं आकर्षक एवं वाद्य यंत्रों के साथ गीत प्रस्तुति दी, जिससे उपस्थित सभी छात्र समुदाय एवं अध्यापकगण मुग्ध हुए। 

संस्कृत समूह गीत प्रतियोगिता में महाराणा मेवाड़ पब्लिक स्कूल दिल्ली पब्लिक स्कूल नोबल इंटरनेशनल स्कूल माउंट लिट्रा जी स्कूल सेंट्रल एकेडमी सरदारपुरा व सेक्टर 5 आलोक स्कूल पंचवटी विद्या विहार सीनियर सेकेंडरी स्कूल सेक्टर 4 आर.एम. डी.पी.स्कूल विद्या भवन B.Ed महाविद्यालय आदि के छात्रों ने उत्साह के साथ गीतों से समा बांध कर सभी के आकर्षण का केंद्र रहे।


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Udaipur News
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like