त्री दिवसीय ग्रूमिंग व फैशन स्टाइलिंग और तनाव मुक्त खुशनुमा जीवन पर कार्यशलाओं का समापन

( Read 1781 Times)

28 Mar 19
Share |
Print This Page

त्री दिवसीय ग्रूमिंग व फैशन स्टाइलिंग और तनाव मुक्त खुशनुमा जीवन पर कार्यशलाओं का समापन

उदयपुर |  ग्रूमिंग व फैशन स्टाइलिंग तथा तनाव मुक्त खुशनुमा जीवन पर तीन दिवसीय कार्यशालाओं का समापन समारेाह आज दिनांक २७ मार्च, २०१९ को समुदाय एवं व्यावहारिक विज्ञान महाविद्यालय में आयोजित किया गया। इन कार्यशलाओं में स्नातक स्तर के ५०-५० विद्यार्थियों ने भाग लिया। महाविद्यालय की अधिष्ठाता प्रो. त्रि*तु सिंघवी ने बताया कि इस कार्यशाला में छात्राओं को फैशन शैली, फैशन वस्त्र, त्वचा की देखभाल, हेयर केयर और स्टाइल, फेशियल आदि के बारे में बताया गया ताकि छात्राएं अपने आप के आन्तरिक व बाहरीय स्वरूप में सुधार कर अधिक आत्मविश्वास का अनुभव कर सकें।                                            

                                            समापन समारोह के मुख्य अतिथि प्रो. नरेन्द्र सिंह राठौड, डी.डी.जी. आई.सी.ए.आर नई दिल्ली ने छात्राओं को सुखी जीवन मे लिऐ अपने जीवन मे अपेक्षा एवं इच्छाओं पर नियंत्रण की बात कीह। उन्होने कहा की भूत और भविष्य की चिंता ना कर वर्तमान पर ध्यान केंदि्रत करना चाहिऐे। आपने इस तरह के प्रशिक्षण छात्राओं के लिए आयोजित करने की प्रासंगिकता पर प्रकाश डाला। समारोह का अध्यक्षीय उद्बोधन माननीय प्रो. जे.पी. शर्मा ने दिया। उन्होने स्वामी विवेकानन्द के कथन को उदृत करते हुऐ कहा कि आध्यात्मिक ज्ञान के बिना भौतिक और मानसिक शक्तियां व्यर्थ हैं। उन्होने परमानन्द व सत्य से परिपूर्ण जीवन के लिए मन के निग्रह की बात कही।

                                             प्रशिक्षण की आयोजन सचिव प्रो. सुधा बाबेल विभागाध्यक्ष, वस्त्र एवं परिधान अधिकल्पन विभाग एवं श्रीमति आशु सेठी, पुस्तकालयाध्यक्ष ने कार्यशाला का प्रगति प्रतिवेदन प्रस्तुत किया। कार्यशाला का आयेाजन संस्थागत विकास परियोजना के अंतर्गत आईसीऐआर के एनऐएचई परियोजना की वित्तीय सहायता द्वारा किया गया। समापन समारोह के विशिष्ठ अतिथि प्रो. अजय कुमार शर्मा, अधिष्ठाता सीटीएई  व मुख्य परियोजन निदेशक तथा प्रो. सुबोध शर्मा अधिष्ठाता मत्स्यकि महाविद्यालय थे। ग्रूमिंग कार्यशाला के विषय विशेषज्ञ श्रीमती रोबिना कोठारी, डॉ. डोली मोगरा, श्रीमती रेनु चौहान, श्रीमती कचंन सिंह, श्रीमती कनक तथा श्रीमती ज्योति नेयनानी थी। कार्यशाला की संयोजिका प्रो. सुधा बाबेल तथा सह सयोजिका डॉ. मीनू श्रीवास्तव तथा डॉ. रूपल बाबेल थी। तनाव मुक्त खुशनुमा जीवन पर कार्यशाला के विषय विशेषज्ञ डॉ. के.के. सक्सेना, डॉ. राकेश दशोरा, डॉ. एच.पी गुप्ता, श्रीमती आशु सेठी, श्रीमति आशा शर्मा, श्रीमति  आभा, श्रीमति महिमा तापडया कर्नल एम. सी. गांधी और प्रफुल्ल गांधी थे। समापन समारोह मे  फैशन व ग्रूमिंग पर तैयार की गयी पुस्तिका का विमोचन  भी अतिथियों द्वारा किया गया। समारोह में धन्यवाद ज्ञापन श्रीमती आशु सेठी ने दिया।

 


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Udaipur News
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like