GMCH STORIES

हम नही सुधरेगे एवं न ही हॉस्पिटल में सुधार होने देंगे कि तर्ज पर नसीराबाद के डॉक्टर

( Read 1831 Times)

16 Oct 20
Share |
Print This Page
हम नही सुधरेगे एवं न ही हॉस्पिटल में सुधार होने देंगे कि तर्ज पर नसीराबाद के डॉक्टर

नसीराबाद (अशोक लोढ़ा ) कोटा रोड 150 पलंगो वाले क्षेत्र के सबसे बड़े अस्पताल के हालात सुधरने का नाम नहीं ले रहे जिसके चलते क्षेत्र के लोगो में अस्पताल प्रबन्धन के खिलाफ आक्रोश बढता जा रहा है।

ज्ञात रहे स्थानीय प्रेस रिपोर्टर्स राजकीय सामान्य अस्पताल की अव्यवस्थाओ को लेकर प्रमुखता से समाचार प्रकाशित कर रहा जिससे की सरकार अस्पताल के हालातों में सुधार कर कस्बेवासियो को चिकित्सा क्षेत्र में राहत दे सकेगे ।

स्थानीय प्रेस रिपोर्टर्स ने बुधवार के अंक में भी नसीराबाद में कोरोना काल में डॉक्टरो की मनमानी के शीर्षक के नाम से प्रमुखता से खबर प्रकाशित की थी जिसकी कस्बेवासियो ने मुक्तकंठा से सराहना की थी ।

जब गुरुवार को स्थानीय प्रेस रिपोर्टर्स को ओ पी डी व प्रयोग शाला में डॉक्टरो व चिकित्सा कर्मियों के नदारद होने की सूचना मिलने पर राजकीय सामान्य चिकित्सालय पहुची तो देखा ओ पी डी समय पर सुबह 9 बजे खुल चुकी थी व ओ पी डी में मरीज डॉक्टरो के कक्ष बाहर के खड़े होकर डॉक्टरो का इंतजार करते रहे जिसमे कई बुजुर्ग मरीज भी थे जो की गावो से अस्पताल उपचार लेने आये थे किन्तु 9 .30 तक ओ पी डी में कोई चिकित्सक नहीं पहुचे और मरीज इंतजार करते रहे ।

जब टीम प्रयोगशाला में पहुची तो वहा भी प्रयोग शाला प्रभारी के कक्ष पर ताला लटका था तथा लेब में मात्र एक महिला कार्मिक नजर आई मरीजो की पर्ची लेकर रजिस्टर में दर्ज करने वाला कार्मिक सहित लैब में तैनात चिकित्सक भी ड्यूटी पर मोजूद नहीं थे ।

जब टीम चिकित्सा प्रभारी के कक्ष पहुची तो वहा भी कोई जिम्मेदार मोजूद नहीं था जिससे की प्रयोग शाला व ओपीडी समय में नदारद चिकित्सको व कार्मिको के सन्दर्भ में जानकारी ले सकेगे ।

अस्पताल की अव्यवस्थाओ व चिकित्सा कर्मियों की लापरवाही की खबरे निरन्तर मिडिया में आने से चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा ने गत दिनों अस्पताल का दोरा कर मुख्य चिकित्सा व स्वास्थ्य अधिकारी के के सोनी की मोजुदगी में अस्पताल प्रभारी डॉक्टर विनय कपूर को अव्यवस्थाओ पर नाराजगी जताते हुए सुधार करने के निर्देश दिये थे उसके बावजूद अस्पताल के हालात दिन प्रतिदिन बिगड़ते जा रहे ऐसा लगता है मानो इनको किसी का भय नहीं है आखिर सरकार इन लापरवाह चिकित्सा कर्मियों के खिलाफ कार्यवाही करने से क्यों हिचकिचा रही है ?

क्षेत्रीय विधायक रामस्वरूप लाम्बा ने भी गत 27 सितम्बर को चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा को पत्र प्रेषित कर बदहाल चिकित्सा व्यवस्था सुधारने की मांग की थी तथा पूर्व विधायक रामनारायण गुर्जर ने भी मुख्यमंत्री अशोक गहलोत व चिकित्सा मंत्री को पत्र लिखकर गत दिनों अस्पताल में चिकित्साकर्मियों की लापरवाही के कारण जैन समाज के पत्रकार अतुल सेठी व राजकुमार जैन के मौत के मामले में निष्पक्ष जाच कराकर दोषी चिकित्सा कर्मियों के खिलाफ कार्यवाही की मांग की थी ।


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Rajasthan
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like