BREAKING NEWS

’’शहीदों व स्वतंत्रता सेनानियों का सम्मान हमारा संवैधानिक दायित्व‘‘ - एडीजे

( Read 311 Times)

15 Feb 20
Share |
Print This Page
’’शहीदों व स्वतंत्रता सेनानियों का सम्मान हमारा संवैधानिक दायित्व‘‘ - एडीजे

जहां एक तरफ देश पाश्चात्य सम्भता के वशीभूत होते हुए प्रत्येक वर्ष को दिनांक १४ फरवरी को वैलेंटाईन डे (Valentine's day) का आयोजन बडे उत्साह से करता आ रहा है, वहीं स्थानीय ए०पी०सी० स्कूल ने हाल ही २०१९ में पुलवामा में आतंकी हमलों में शहीद हुए भारतीय वीर शहीदों को श्रद्धांजली देने के लिये कार्यक्रम की अनुकरणीय पहल की है।

इस अवसर पर कार्यक्रम के मुख्य अतिथि जिला विधिक सेवा प्राधिकरण प्रतापगढ (Pratapgarh) के सचिव अपर जिला एवं सेशन न्यायाधीश लक्ष्मीकांत वैष्णव ने जानकारी देते हुए बताया कि जम्मू एवं कश्मीर राष्ट्रीय राजमार्ग पर भारतीय सुरक्षा कार्मिकों को ले जाने सीआरपीएफ (CRPF) के काफीले पर आत्मघाती हमला हुआ। जिसमें ४५ भारतीय सुरक्षा कर्मियों की जान गई थीं। यह हमला जम्मू और कश्मीर (Jammu and Kashmir) के पुलवामा जिले के अवन्तिपुरा के निकट लोथपुरा ईलाके में हुआ था। जो भारत माता के हृदय पर चोंट की गई थी। यह बहुत ही हृदयविदारक घटना थी हमारे उन सरहद के सिपाहियों के परिवारों के लिये। उपस्थित विद्यार्थिगणों को सम्बोधित करते हुए प्राधिकरण सचिव वैष्णव ने अपने देश के प्रति कर्त्तव्यों और अपने दायित्वों का निर्वाह करने हेतु सम्बोधित किया।

ए०पी०सी० स्कूल (A.P.C. School) द्वारा आयोजित इस आयोजन में उपस्थित प्राधिकरण से पैनल अधिवक्ता अजीत कुमार मोदी ने भी कार्यक्रम में पधारे एडीजे साहब लक्ष्मीकांत वैष्णव का आभार व्यक्त करते हुए अपना जोशिला उद्धबोधन प्रस्तुत करते हुए ’’भारतमाता की जय‘‘ का उद्घोष किया और साथ ही ए०पी०सी० विद्यालय का तहे दिल से शुक्रिया अदा किया। इस अवसर पर राष्ट्रीय मानवाधिकार मानवाधिकार समिति के राष्ष्ट्रीय सचिव के द्वारा जिला एवं सत्र न्यायाधीश महोदय श्री राजेन्द्र कुमार शर्मा की प्रशंसा की और यह कहा कि जिला एवं सेशन न्यायाधीश प्रतापगढ ने राजस्थान के ०५ शहीदों को जन सहभागिता से विभिन्न विभागों के सहयोग से एक लाख रूपये की भी सहायता शहीदों के घर जाकर प्रदान कराई। साथ ही यह भी बताया कि राजसमंद (Rajsamand) जिले के बिलोण कस्बे के शहीद श्री नारायण गुर्जर के घर जाकर भी उसे सहायता प्रदान की और साथ ही उसके बच्चों को शिक्षा प्रदान करने की जिम्मेदारी भी ली। यह जनता का सौभाग्य है कि शहीदों के सम्मान के लिए और उनके लिये आर्थिक सहायता के लिये सारी जनता ने एकत्र होकर उन्हें सम्मान प्रदान किया।

इस अवसर पर ए०पी०सी० स्कूल से डायरेक्टर शेलेष सांखला ने भी अपने विचार व्यक्त करते हुए अपने देश के संविधान के प्रति सम्मान के भाव प्रकट किये। वहीं जिला मानवाधिकार निगरानी समिति के कार्यकारी अध्यक्ष कीरीट शर्मा, नवीन भैरवीया, प्रगति स्कूल के प्रिंसिपल कैलाश बौराणा ने भी कार्यक्रम में पधारे समस्त महानुभावों का आभार व्यक्त किया।

              


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Pratapgarh News
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like