GMCH STORIES

बाल दिवस पर अतिरिक्त न्यायाधीश ने बाल विवाह नहीं करने की शपथ दिलाई

( Read 12364 Times)

16 Nov 19
Share |
Print This Page
बाल दिवस पर अतिरिक्त न्यायाधीश ने बाल विवाह नहीं करने की शपथ दिलाई

अरनोद | राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय, महल अरनोद मे आयोजित बाल दिवस के उपलक्ष्य मे भारत के पूर्व प्रधानमंत्री व बच्चों के चहेते माननीय जवाहर लाल नेहरू जी की जयन्ति व प्रिय दर्शनी पूर्व प्रधानमंत्री श्रीमति इन्द्रा गांधी जी की भी जन्म जयन्ति बडे बडे हर्षोल्लास के साथ गनायी गयी। इस उपलब्ध में अखिल भारतीय मानवाधिकार निगरानी समिति के सहयोग से आयोजित विधिक चेतना गोष्ठी पर अतिरिक्त जिला एवं सेशन न्यायाधीस श्री लक्ष्मीकान्त वैष्णव ने बालिका व उपस्थित जन समुदाय को बाल विवाह रोकने व नही करने की शपथ दिलाई।

    इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि अतिरिक्त जिला एवं सेशन न्यायाधीश,जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव श्रीमान् लक्ष्मीकांत वैष्णव थे एवं विशेष अतिथि अखिल भारतीय मानवाधिकार निगरानी समिति के राष्ट्रीय सचिव एडवोकेट अजीत मोदी एवं ब्लॉक शिक्षा अधिकारी श्री कैलाश चन्द्र, जिला सचिव राजेंद्र कोठारी , संरक्षक कर्नल जयराज , अध्यक्ष संजय शाह, नगर अध्यक्ष अशोक भावसार, प्रधानाचार्य सीमा मीणा थे।

        कार्यक्रम की अध्यक्षता कार्यवाहक उपखंड अधिकारी श्री मनोहर लाल कुमावत द्वारा की गई। कार्यक्रम के शुभारंभ के अवसर पर विद्यालयी छात्राओं द्वारा कार्यक्रम में पधारें अतिथिगण का तिलक लगाकर व पुष्प भेंट कर स्वागत किया गया। बाल दिवस गोष्ठी के शुरुआत में मां सरस्वती की तस्वीर पर पुष्प व दीप प्रज्वलीत कर सरस्वती वंदना की गयी।  सभी अतिथियों का मानवाधिकार निगरानी समिति व विद्यालय परिवार की ओर से माला व साफा पहनाकर स्वागत किया गया। इस अवसर पर बालिकाओ द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम भी प्रस्तुत किया गया एवं बाल विवाह नहीं किये जाने के विषय पर नाटक भी प्रस्तुत किया गया जिसमें बालिका द्वारा बाल विवाह के बारे में समाज में फैली कुरूतियों के बारे में जानकारी दी गयी।

    बाल विवाह रोकथाम के संबंध में प्रस्तुत नाटक मंचन पर कार्यक्रम में मौजुद अतिथिगण द्वारा नाटक मंचन की प्रशंसा करते हुए कहा कि हम आज जिस उद्देश्य से इस कार्यक्रम में शरीक हुए है उस उद्देश्य को छात्राओं द्वारा नाटक मंचन कर बताया गया है कि बाल विवाह अपराध है एवं इस सामाजिक कुरूती को समाज से पूर्णरूप से खत्म किया जाना है। हमारा एक सबसे बडा उद्देश्य यह है कि समाज में यह संदेश भी जाना चाहिए कि बाल विवाह महा अभिशाप है इसे रोकना बालक बालिकाओं के सर्वांगीण विकास हेतु अत्यंत आवश्यक है।

    कार्यक्रम के मुख्य अतिथि अपर जिला एवं सेशन न्यायाधीश श्री लक्ष्मीकांत वैष्णव द्वारा छात्राओं को संबोधित करते हुए यह कहा कि आप भारत देश का भविष्य हों आप सभी आज जिस उद्देश्य से इस विद्यालय में पढाई कर रहे हो उसी उद्देश्य को ध्यान में रखते हुए भविष्य में किसी अच्छे पद पर आसिन होकर भारत देश को विकसित एवं गतिशील बनाने में अपना महत्वपूर्ण योगदान देने के लिए अपना वर्तमान उसी उद्देश्य हेतु समर्पित करें। साथ ही नाटक मंचन के बाद अतिथीगण द्वारा अपने उद्बोधन के पश्चात् नाटक मंचन करने वाली बालिकाओं के साथ उन्हें प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से उनके साथ फोटो खिंचवाया व कार्यक्रम में उपस्थित प्रत्येक छात्रा व अतिथिगण को बाल विवाह रोकथाम की शपथ दिलाई।

    कार्यक्रम में अपर जिला एवं सेशन न्यायाधीश महोदय एवं अन्य अतिथिगण द्वारा छात्राओं के बीच पहुंच कर उन्हे भविष्य में न्यायाधीश, कलक्टर, भारतीय प्रशासनिक सेवा एवं अन्य महत्वपूर्ण औहदों पर पहुंचने हेतु लक्ष्य बनाकर कर चलने की प्रेरणा देकर प्रोत्साहित किया एवं उनके उज्जवल भविष्य की कामना की।

    मानवाधिकार निगरानी समिति के राष्ट्रीय सचिव अजीत कुमार मोदी मानवाधिकार निगरानी समिति के कार्यों की उपलब्धि बताते हुए आज के कार्यक्रम की सराहना हुए कहा कि विद्यालय के प्रधानाचार्य द्वारा अच्छे अंको से उत्तीर्ण होने वाली बालिकाओं को अपने खर्चे पर हवाई यात्रा कराई गई है जो संपुर्ण राजस्थान में एक अनुठी पहल है। प्रधानाचार्या महोदया इस हेतु बधाई एवं सम्मान की पात्र है। इसके उपरांत मानवाधिकार निगरानी समिति के सदस्यों एवं समस्त अतिथिगण द्वारा प्रधानाचार्या सीमा मीणा का शॉल ओढा कर सम्मान किया गया एवं विद्यालय स्टॉफ का आभार व्यक्त किया गया।

    इस कार्यक्रम में स्कुली छात्राओं को उपखंड अधिकारी श्री मनोहर लाल कुमावत व ब्लॉक शिक्षा अधिकारी श्री कैलाश चन्द्र राठौड द्वारा उद्बोधन देते हुए बाल विवाह की रोकथाम एवं अन्य सामाजिक कुरूतियों के बारें में जानकारी देते हुए समाज निर्माण में अपनी भूमिका निभाने हेतु प्रोत्साहित किया गया। 

कार्यक्रम का संचालन वरिब्ठ अध्यापक श्री मदन बारूपाल द्वारा किया गया। कार्यक्रम मे मानवाधिकार निगरानी समिति के जिला अध्यक्ष श्री सत्यनारायण शर्मा ,पिपलखुट ब्लाँक अध्यक्ष श्री नाथूलाल मीणा , मोहेडा अध्यक्ष श्री पाल चौधरी ,चुपना अध्यक्ष श्री किशोर शर्मा , चेतन जैन , अशोक सुथार , दिपक शर्मा , गोरव भगत , विशाल मारवाडी , हेमन्त धबाई , सौरभ जैन, गिरीश पालीवाल सहित विद्यालय के अध्यापक व छात्रायें उपस्थित थे।

 


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Pratapgarh News
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like