GMCH STORIES

’पाथल पीथल’’  का भाव पूर्णमंचन

( Read 3175 Times)

13 Jun 21
Share |
Print This Page

’पाथल पीथल’’  का भाव पूर्णमंचन


उदयपुर  वीर शिरोमणि महाराणा प्रताप की जयंती के अवसर पर भारत के प्रथम स्वतन्त्रता सेनानी एवं महायोद्धा महाराणा प्रताप को श्रद्धांजलि के रूप में भारतीय लोक कला मंडल, उदयपुर और दी परफोरमर्स कल्चरल सोसायटी, उदयपुर के संयुक्त तत्वावधान में श्री कन्हैया लाल सेठिया द्वारा रचित प्रसिद्ध कविता ’’पाथल - पीथल’’ का मंचन किया गया जिसका निर्देशन उदयपुर के उदीयमान रंगकर्मी, कलाकार कविराज लईक द्वारा किया  गया।
भारतीय लोक कला मंडल के निदेशक डॉ0 लईक हुसैन ने बताया कि वर्तमान समय में कोविड-19 को दृष्टिगत रखते हुए सरकार की गाइडलाईन के अनुसार सभी कार्यक्रम आॅनलाईन किए जा रहे हैं। अतः भारतीय लोक कला मण्डल द्वारा दी परफ़ोमर्स कल्चरल सोसायटी के संयुक्त तत्वावधान में उपर्युक्त कविता को मोबाईल कैमरों की सहायता से रिकार्ड कर आमजन हेतु ऑनलाईन प्रसारण भारतीय लोक कला मण्डल के फेसबुक पेज पर किया गया। उन्होंने बताया कि फेसबुक पेज पर अपलोड होते ही सैकड़ों लोगों ने उक्त कार्यक्रम को देखा व सराहा। 
इस कार्यक्रम में वीर शिरोमणि महाराणा प्रताप की भूमिका में महाराणा प्रताप की भूमिका में कविराज लईक, अकबर की भूमिका में जूज़र नाथद्वारा, पृथ्वीराज राठौड़ की भूमिका में कुणाल मेहता, अमरसिंह की भूमिका में गीतिशा पाण्डे तथा सूत्रधार शुभम आमेटा थे। कार्यक्रम की वेशभूषा परिकल्पना- अनुकंपा लईक, मेकअप- योगिता सोनी, सामग्री- शिप्रा चटर्जी, ध्वनि-  प्रबुद्ध पांडे, लोकेशन- मोनीष पालीवाल, महाराणा प्रताप की वेशभूषा- श्री अनिल कुमार सिकलीगर, सहयोग-रितु चन्दानी तथा प्रस्तुति सहयोग रोहित मेनारिया ने किया।


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : National News
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like