GMCH STORIES

आनंद शर्मा की राजनीति खत्म होगी!

( Read 1852 Times)

02 Mar 21
Share |
Print This Page

आनंद शर्मा की राजनीति खत्म होगी!

राज्यसभा में कांग्रेस के उप नेता आनंद शर्मा की क्या पार्टी के साथ राजनीति खत्म होने वाली है? बताया जा रहा है कि वे पार्टी आलाकमान से बहुत नाराज हैं। वे अपने को राज्यसभा में नेता विपक्ष के तौर पर देख रहे थे लेकिन पार्टी ने वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे को उच्च सदन में पार्टी का नेता बना दिया। आनंद शर्मा को पहले से इस बात का अहसास हो गया था कि गुलाम नबी आजाद के बाद उन्हें नेता का पद नहीं मिलेगा। तभी उन्होंने पिछले साल अगस्त में आजाद और दूसरे नेताओं के साथ मिल कर कांग्रेस नेतृत्व के कामकाज पर सवाल उठाया था। अब वे जी-23 के बचे-खुचे सात-आठ नेताओं के साथ जम्मू-कश्मीर का दौरा कर रहे हैं और इस तरह से उन्होंने पार्टी को और नाराज कर दिया है।

तभी कहा जा रहा है कि अगले साल जब राज्यसभा का उनका कार्यकाल खत्म होगा तो कांग्रेस उन्हें दोबारा उच्च सदन में नहीं भेजेगी। वैसे भी हिमाचल प्रदेश में पार्टी की ऐसी स्थिति नहीं है कि वह किसी को भी राज्यसभा में भेज सके। किसी दूसरे राज्य से उच्च सदन में भेजने की भी कोई संभावना नहीं है। इस बीच कांग्रेस पार्टी ने हिमाचल में नया ब्राह्मण नेतृत्व तैयार करना शुरू कर दिया है। कांग्रेस में अभी चल रही खींचतान के बीच पार्टी ने आरएस बाली को अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी का सचिव बनाया है। वे जीएस बाली के बेटे हैं।

हिमाचल प्रदेश में जीएस बाली कांग्रेस का बड़ा ब्राह्मण चेहरा रहे हैं। वे मजबूत आधार वाले नेता थे। उनके बेटे को सचिव बना कर पार्टी ने एक बड़ा संदेश दिया है। इससे पहले भी पार्टी ने हिमाचल प्रदेश के ब्राह्मण नेता सुधीर शर्मा को एआईसीसी का सचिव बनाया था। उनको पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह का करीबी माना जाता है। एक के बाद एक दो ब्राह्मण नेताओं को आगे करने का मैसेज समझना मुश्किल नहीं है। इनके बावजूद आनंद शर्मा पार्टी में बने रह सकते हैं लेकिन उनका महत्व कम होना तय दिख रहा है।


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : National News
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like