BREAKING NEWS

संस्कृत भारती द्वारा प्रथम अंतरराष्ट्रीय विश्व सम्मेलन का आयोजन ।

( Read 8363 Times)

06 Nov 19
Share |
Print This Page

संस्कृत भारती द्वारा प्रथम अंतरराष्ट्रीय विश्व सम्मेलन का आयोजन  ।

संस्कृत भारती विगत कई वर्षों से संस्कृत को जनभाषा बनाने के उद्देश्य से संपूर्ण भारत देश के साथ साथ विश्व के 22 देशों में भी संस्कृत के प्रचार-प्रसार का कार्य नियमीत चल रहा है।

 संस्कृत भारती के नीति के अनुसार प्रति 3 वर्ष में अखिल भारतीय अधिवेशन का आयोजन होता है इस वर्ष दिल्ली में 9 10 एवं 11 नवंबर को प्रथम विश्व सम्मेलन का आयोजन होगा जिसमें संपूर्ण देश व 17 देशो  विदेश से 5000 से अधिक संस्कृत संभाषण अनुरागी सम्मिलित होंगे

विश्व संस्कृत सम्मेलन में भाग लेने वाले संस्कृत अनुरागी की अर्हता निर्धारित की गई है जिसमें वह संस्कृतभारती में दायित्व हो तथा संभाषण शील हो एवं संस्कृत कुटुंब में कोई एक संस्कृत भारी भारती में दायित्व के साथ कुटुंब में एक संभाषण सील हो तो ऐसे कुटुंब भी सम्मेलन में सम्मिलित होंगे यह सम्मेलन इस सम्मेलन में भाग लेने वाले संस्कृत वार्ता अनुरागी अनुरागी यों का पंजीयन भी ऑनलाइन किया गया है इसकी अंतिम दिनांक 15 अक्टूबर थी पंजीयन शुल्क ₹200 रखा गया है जोकि संस्कृत एवं अंग्रेजी दो भाषा में ऑनलाइन पंजीयन  वेबसाइट www.sanskritvishva.in पर हुआ।

इस अवसर पर विशिष्ट प्रदर्शनी का आयोजन होगा जिसमें मूल बिंदु ब्रिटिश के आने से पूर्व की स्थिति , आने के बाद की स्थिति, तथा संस्कृत भारती के उद्भव के बाद अपने-अपने प्रांत में संस्कृत की स्थिति एवं संस्कृत का विश्व में प्रभाव आदि विषयों पर एक विशिष्ट प्रदर्शनी का आयोजन होगा जिसका उद्घाटन भी प्रथम उद्घाटन दिवस पर किया जाएगा।

इस इस विषय पर उदयपुर में आज बैठक आयोजित की गई जिसमें प्रांत संगठन मंत्री देवेंद्र पंड्या ने अध्यक्षता करते हुए विश्व सम्मेलन में प्रतिभा गीता करने वाले सभी संस्कृत अनुरागी यों को दिशा निर्देश प्रदान किए एवं रूपरेखा पर विस्तृत चर्चा की गई

उपरोक्त संस्कृत विश्व सम्मेलन में संपूर्ण भारत देश के साथ-साथ विश्व के 17 देशों के लोग संस्कृत संभाषण शील प्रतिभाग करेंगे इसी क्रम में चित्तौड़ प्रांत से 386 संभाषण शील कार्यकर्ता प्रतिभा गीता करेंगे जिसमें 280 पुरुष एवं 106 महिला कार्यकर्ता रहेंगे इसी के साथ उदयपुर से 28 लोगों का रजिस्ट्रेशन विश्व सम्मेलन में हुआ है जिसमें मुख्य रूप से डॉक्टर यज्ञ आमेटा प्रांत प्रचार प्रमुख चित्तौड़ प्रांत,  दुष्यंत नागदा  विभाग संयोजक,  संजय शांडिल्य  जिला संयोजक,  चेंन शंकर दशोरा जिला सहसंयोजक, नरेंद्र शर्मा महानगर संयोजक, हिमांशु भट्ट महानगर संपर्क प्रमुख, रेखा सिसोदिया महानगर प्रचार प्रमुख, रेणु पालीवाल महानगर सह शिक्षण प्रमुख, दुर्गा कुमावत महानगर शिक्षण प्रमुख, मंगल कुमार जैन महानगर प्रचार प्रमुख, दुष्यंत कुमावत महानगर सह संपर्क प्रमुख, अभय सिंह  महानगर गोष्टी प्रमुख, आदि प्रमुख रूप से उदयपुर से इस विश्व सम्मेलन में प्रतिभागीता करेंगे।

इस कार्यक्रम में प्रथम दिवस पर मुख्य अतिथि के रूप में उद्घाटन एवं मुख्य वक्ता के रूप में पूजनीय अवधेशानंद गिरी जी जूना अखाड़ा पीठाधीश्वर,

 डॉ हर्षवर्धन केंद्रीय मंत्री,

 वी मुरलीधरन केंद्रीय विदेश राज्य मंत्री,  डॉ रमेश पोखरियाल मानव संसाधन विकास मंत्री, स्वामी भद्रेश दास स्वामीनारायण संस्था( बीएपीएस), माननीय प्रहलाद सिंह पटेल पर्यटन मंत्री, जयंत देव पुजारी सीसीआईएम दिल्ली,  सोनल मानसिंह पद्म विभूषण प्राप्त शिरकत करेंगे।


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : National News
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like