पुलिस ने उचित कार्रवाई नहीं की तो अमरण अनशन पर बैठेगा परिवार 

( Read 1016 Times)

12 Sep 19
Share |
Print This Page
पुलिस ने उचित कार्रवाई नहीं की तो अमरण अनशन पर बैठेगा परिवार 

कोटा (के डी अब्बासी)  |   कांग्रेसी नेता व पूर्व पार्षद बिल्डर व भू-माफिया सकतपुरा निवासी नेवा गुर्जर (खींची) से आई-5 पार्वती पुरम कुन्हाडी निवासी प्रहलाद गुर्जर व उसका परिवार मानसिक रूप से बेहद परेशान हो चुका है। पुलिस में शिकायत करने के बाद भी मामले को रफा दफा कर दिया जाता है और पुलिस भी दबाव बनाकर नेवा गुर्जर (खींची) के पक्ष में ही कार्य करती है। कांग्रेस सरकार का दबाव होने के कारण कोई कार्रवाई नहीं हो रही है। यदि शीघ्र ही पुलिस ने उचित कार्रवाई नहीं की तो मेरा पूरा परिवार पत्नी, बच्चों सहित आईजी आॅफिस के बाहर अमरण अनशन पर बैठ जाएगा, और जब तक नहीं उठेगा जब तक मेरे साथ न्याय नहीं हो जाता। प्रहलाद गुर्जर ने बताया कि पहले वह नेवा गुर्जर के साथ कार्य करता था, लेकिन उसने बाद मे कार्य अलग कर लिया, उसके बाद से ही उसे परेशान किया जा रहा है। 

देहशत के कारण बच्चों ने छोडी पढाई व घर से बाहर निकलना किया बंद 

प्रहलाद ने बताया कि आए दिन नेवा गुर्जर खींची के लोग मेरे घर के बाहर खडे हो जाते हैं, कभी गाडियों के तेज हाॅर्न बजाते हैं तो कभी घर की घंटी बजाकर चले जाते हैं। कुछ कहते हैं तो मारपीट करते हैं। इससे पूर्व भी दो बार मेरे साथ सरिए, हाॅकी, डंटे व धारधार हथियार से मारपीट कर चुके हैं जिसकी रिपोर्ट कुन्हाडी थाने में दर्ज है। मेरा परिवार इतना दहशत में आ चुका है कि बच्चों ने ट्यूशन जाना छोड दिया और घर से बाहर खेलने के लिए भी नहीं निकलते हैं। मुझे आए दिन परेशान किया जा रहा है जिसकी रिपोर्ट कुन्हाडी थाने में देने जाते हैं तो वहां से भगा दिया जाता है।  

जमीन व प्लाट पर दबंगाईयों के दम पर करना चाहता है कब्जा 

प्रहलाद गुर्जर ने बताया कि उसके पास पार्वती पुरम में दो रजिस्ट्री शुदा प्लाट व मकान है। इसके साथ ही बीड के बालाजी के पास भी कुछ प्लाट व जमीन हैं जिन पर नेवा गुर्जर दबंगाईयों के दम पर कब्जा करना चाहता है। जबकी मेरे पास जमीन व प्लाट के पूरे वास्तविक कागजात है। समय-समय पर इनका रिर्टन भी भरा जाता है। जमीन पर कब्जा करने के चलते वह दो बार जान से मारने का प्रयास कर चुका है। इस संदर्भ में शहर पुलिस अधीक्षक को भी सुरक्षा की गुजार लगाई है, लेकिन राजनैतिक दबाव के चलते पुलिस भी कोई कार्रवाई नहीं कर रही है। मुझे व मेरे परिवार को नेवा गुर्जर (खींची), नेवा के साथी हरीश गुर्जर, धर्मेंद्र चैधरी, राजू खटाणा, महेन्द्र गुर्जर से जान का खतरा है। वह कई बार गाडियों से पीछा करते हैं रास्ते में रोककर मारपीट व परेशान करते हैं। बमुश्किल जान बचाता फिर रहा हूं। 12 अगस्त वर्ष 2018 में कुन्हाडी थाने में जान से मारने की नियत से हमले की रिपोर्ट दर्ज है जिसमें हरीश गुर्जर, महेन्द्र गुर्जर पुत्र नेवा लाल गुर्जर व दामाद राकेश व उसके साथी जान से मारने की कोशिश कर चुके हैं। 5 सितम्बर 2019  को भी में बच्चों के साथ जा रहा था तब भी भीमराज गुर्जर निवासी पाश्र्वनाथ काॅलोनी अपनी कार से आया और गाडी साइड में लगाने के लिए कहा। और उसके बाद मेरे साथ गाली गलोच की और जान से मारने की धमकी दी। जिसकी रिपोर्ट 5 सितम्बर 2019 को ही कुन्हाडी थाने में दर्ज कराई है। इसके साथ ही परेशान होकर एक लिखित शिकायत शहर पुलिस अधीक्षक कोटा शहर को 9 सितम्बर 2019 को भी दी है।  


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Kota News
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like