GMCH STORIES

बढाया इन्होने भूजल , आगे आये जल –भामाशाह

( Read 2197 Times)

10 Jun 21
Share |
Print This Page

डॉ पी .सी .जैन ,एम .बी .बी .एस .

बढाया इन्होने भूजल , आगे आये जल –भामाशाह

नगर की कई संस्थाओ और व्यक्तिओ ने जल-भामाशाह बनकर बोर वेल ,हैण्ड पंप ,कुए जो वर्षो से सूखे पड़े या जिनका भूजल पेंदे में बेठ गया था उन्हें जल –भामाशाह बनकर रूफ टॉप रेन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम वाटर –हीरो डॉ पी सी जैन के निर्देशन में लगा कर उनका भूजल स्तर बढाया |

दिल्ली के सोमनाथ जी ने देवला के छात्रावास ,ढीकली का छात्रावास ,लखावली राजकीय स्कूल का हैण्ड पंप ,रोटरी हेरिटेज ने देश का पहिला सूखा हैण्ड पंप सीसारमा राजकीय स्कूल ,और रेजीडेंसी स्कूल का हैण्ड पंप,डॉ दीपक अग्रवाल( होमियोपैथ } ने देबारी राजकीय स्कूल का सूखा कुआ और देबारी छात्राओ के स्कूल ,महाराणा प्रताप वर्सिट नागरिक संसथान ने ढीकली सरकारी स्कूल के दो हैंडपंप ,,इनर व्हील क्लब ने कालारोई स्कूल ,बेदला स्कूल ,चोकसी हरियेस प्राइवेट लिमिटेड ने बदराना ( जाडोल) के राजकीय स्कूल में बोरवेल पर रूफ टॉप रेन वाटर हार्वेस्टिंग लगाकर भूजल का स्तर एवम गुणवत्ता बढ़ाई हे |

चिकित्सक सबसे आगे –अब तक नगर के चिकित्सक ,हॉस्पिटल ,मेडिकल कॉलेज ,एम बी हॉस्पिटल कई प्राइवेट एलोपैथिक ,होम्योपैथिक एवम आयुर्वदिक चिकित्सक अपने अपने भवनों पर देवास रूफ टॉप रेन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम लगवा कर अन्यो से आगे हे |

डुंगरपुर ने अपनाया – के के गुप्ता ,(वाटर हीरो) ने जो प्रदेश की एक मात्र उस नगरपालिका के सभापति रहे हे जिसने इस सिस्टम को अपना कर लगभग पांचसो बोरवेल और मृतप्राय हैण्ड पंप को रिचार्ज कर देश में उदाहरण प्रस्तुत किया हे | प्रदेश के केवल एक मात्र नगर पालिका हे जिसने इस कार्य हेतु हर व्यक्ति को आर्थिक सहयोग देकर भूजल पुनर्भरण का पुनीत कार्य किया हे |

प्रताप गौरव केद्र बना सबसे बड़ा वर्षा जल सरक्षण केंद्र – टाइगर हिल्स का शेत्र में भूजल नहीं के बराबर हे इसलिए केंद्र पर पानी के टैंकर आया करते थे ,पर गत वर्ष देवास रूफ टॉप रेन वाटर हार्वेस्टिंग लगा कर 8 लाख लीटर वर्षा जल भूजल में पहुचाया और इस वर्षाकाल में 30 लाख लीटर वर्षा जल बचाया जावेगा |

इनके अतिरिक्त नगर के कई भवनों पर लोगो ने अपने व्यक्तिगत स्तर पर देवास रूफ टॉप रेन वाटर हार्वेस्टिंग लगाकर भूजल पुनर्भरण का कार्य कर रहे हे और करोडो लीटर वर्षा जल भूजल में समाहित कर रहे हे |

नगर ,निगम ,नगर विकास प्रन्यास ,जिला परिषद् अवम स्वयं सेवी संस्थाए इस वर्षा काल में आज विश्व भूजल दिवस पर संकल्प लेवे की वे वर्षा जल को नालियों में व्यर्थ नहीं बहने देंगे और उसका पुनर्भरण भूजल में करंगे |

जीवन आज जल रहा हे ,इस जलरहे जीवन को बुझाने के लिए शीतल ,शुद्द जल की जरुरत हे |

 


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Headlines
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like