GMCH STORIES

आवास योजना, हर घर बिजली और अनाज योजना स्व. राजीव गांधी जी की देन - श्री लक्ष्मी नारायण पंड्या

( Read 2535 Times)

21 May 24
Share |
Print This Page
आवास योजना, हर घर बिजली और अनाज योजना स्व. राजीव गांधी जी की देन - श्री लक्ष्मी नारायण पंड्या

 

संचार क्रांति के जनक के रूप में हमेशा याद किए जायेंगे स्व. राजीव गांधी - श्री गुलाब सिंह राव

 

देहात जिला कांग्रेस द्वारा पूर्व प्रधानमंत्री, "भारत-रत्न" स्वर्गीय राजीव गांधी जी की पुण्यतिथि पर उन्हें याद किया।

 

उदयपुर। पूर्व प्रधानमंत्री एवं "भारत-रत्न" स्वर्गीय राजीव गांधी जी की पुण्यतिथि पर आज सूरजपोल स्थित देहात जिला कांग्रेस कार्यालय में उनकी तस्वीर पर पुष्पांजलि अर्पित कर विचार गोष्ठी रखकर उन्हें याद किया गया।

देहात जिला कांग्रेस कमेटी प्रवक्ता डॉ. संजीव राजपुरोहित ने बताया कि आज देहात जिला कांग्रेस कार्यालय में पूर्व प्रधानमंत्री, "भारत-रत्न" स्वर्गीय राजीव गांधी जी की पुण्यतिथि पर उनकी तस्वीर पर पुष्पांजलि अर्पित कर उन्हें याद किया गया एवं एक विचार गोष्ठी का भी आयोजन हुआ।

गोष्ठी से पहले पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी जी की तस्वीर पर माल्यार्पण कर स्व. राजीव गांधी जी को श्रद्धासुमन अर्पित किए। उसके पश्चात आयोजित हुई गोष्ठी में उदयपुर देहात जिला कांग्रेस अध्यक्ष कचरू लाल चौधरी ने राजीव गांधी जी को नमन करते हुए कहा की युवा भारत के स्वप्नदृष्टा राजीव गांधी जी का देश के नवनिर्माण में अमिट योगदान है। राजीव गांधी जी ने युवाओं के लिए अहम फैसले लिए जिसमें मतदान की आयु 21 वर्ष से घटाकर 18 वर्ष करने जैसा क्रांतिकारी कदम भी उन्ही की ही देन है। आज का युवा भारत स्वर्गीय राजीव गांधी द्वारा देखे गए स्वपन की ही देन है। जिसमें उन्होंने युवाओं को आगे बढ़ाने का अहम फैसला किया था। देश में सबसे पहले युवा पीढ़ी पर भरोसा जताने का साहस स्व. राजीव गांधी जी ने ही किया था।

श्री चौधरी ने कहा कि राजीव गांधी जी जानते थे कि जब तक गांव का विकास नहीं होगा तब तक देश आगे नहीं बढ़ेगा। इसीलिए उन्होंने पंचायती राज व्यवस्था को मजबूत कर सबसे छोटी इकाई ग्राम सभा को मजबूत कर वित्तीय अधिकार दिए। जिससे गांव के सरपंच को सीधे ही अपने गांव का विकास करने का अवसर मिला और इसी का परिणाम रहा कि आज का भारत विश्व के अग्रणी देशों को श्रेणी में खड़ा है। आज राजीव गांधी जी के बताए मार्ग पर हम सभी चलकर देश के युवाओं को हर क्षेत्र में आगे लाने का प्रयास करेंगे। और यही हमारी उन को सच्ची श्रद्धांजलि होगी। आज उनकी पुण्यतिथि के अवसर पर हम सभी उन्हें नमन करते हैं।

पूर्व उप जिला प्रमुख लक्ष्मी नारायण पंड्या ने कहा कि स्व. राजीव गांधी जी का विजन बहुत ही व्यापक था। राजीव गांधी जी के प्रधानमंत्री कार्यकाल में खेरवाड़ा से जुड़ा एक रोचक तथ्य बताते हुए श्री पंड्या ने कहा कि सिर्फ एक ग्रामीण ( श्री सोमा भाई) के टेलीग्राम के आधार पर राजीव गांधी ने 1985 में अपने खेरवाड़ा के दौरे पर उन ग्रामीणों के निवास पर जाने की हिम्मत दिखाई और उस समय मुख्य मार्ग से तीन किलोमीटर अंदर कच्ची सड़क पर पैदल चलकर वहां के ग्रामीणों के अभाव में रहने और मुश्किल से जीवन यापन करने को देखकर गरीबों के लिए पक्का आवास, हर घर बिजली और अन्न जैसी व्यापक योजनाओं को दिल्ली जाकर शुरू करवाया। वाकई उस समय ऐसी व्यापक सोच वाले दूरदर्शी नेता राजीव गांधी जी के कारण आज आवास योजना, हर घर बिजली और अन्न योजना जमीन पर चरितार्थ हुई है।

गोगुंदा ब्लॉक अध्यक्ष श्री गुलाब सिंह राव ने कहा कि स्वर्गीय राजीव गांधी जिस समय देश में सूचना एवं संचार क्रांति की बात करते थे तब यही भाजपा के लोग उनका विरोध करते थे और आज पूरा विश्व सूचना एवं संचार क्रांति के जनक के रूप में राजीव गांधी जी को मानता है। आज देश में जो भी सूचना एवं संचार क्रांति आई है उनके पीछे स्वर्गीय राजीव गांधी जी की ही सोच थी। राजीव गांधी जी ने उस समय प्रधानमंत्री रहते हुए देश में सूचना, संचार एवं प्रौद्योगिकी का विकास किया और देश को सूचना, संचार एवं प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में विश्व के अग्रणी देशों में लाकर खड़ा कर दिया है।

गोष्ठी में देहात जिला कांग्रेस अध्यक्ष कचरू लाल चौधरी, पूर्व उप जिला प्रमुख लक्ष्मी नारायण पंड्या, गोगुंदा ब्लॉक अध्यक्ष गुलाब सिंह राव, उदयपुर देहात जिला कांग्रेस महासचिव भूपेंद्र चौहान, डॉ महेश त्रिपाठी, उदयपुर देहात जिला कांग्रेस प्रवक्ता डॉ संजीव राजपुरोहित, उदयपुर देहात जिला कांग्रेस अनुसूचित जाति प्रकोष्ठ अध्यक्ष गणेश लाल मेघवाल, उदयपुर देहात जिला कांग्रेस अनुसूचित जनजाति प्रकोष्ठ अध्यक्ष ओम प्रकाश गमेती, पूर्व पार्षद मदन बाबरवाल, उदयपुर देश जिला कांग्रेस सचिव रतन लाल पूर्बिया, फलासिया पूर्व प्रधान सदन देवी खराड़ी, उदयपुर देश जिला कांग्रेस सचिव धनपाल जैन आदि उपस्थित थे। गोष्ठी का संचालन डॉ संजीव राजपुरोहित ने किया एवं धन्यवाद धनपाल जैन ने दिया।


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Headlines
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like