GMCH STORIES

दाल, बाटी एवं चूरमा और हमारा वोटर है सुरमा...!

( Read 1517 Times)

02 Apr 24
Share |
Print This Page
दाल, बाटी एवं चूरमा और हमारा वोटर है सुरमा...!

 

गोपेन्द्र नाथ भट्ट

 

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंगलवार को राजस्थान में लोकसभा चुनाव अभियान का श्रीगणेश करते हुए कांग्रेस और इंडिया गठबंधन में शामिल दलों पर जोरदार प्रहार किए तथा राजस्थान की बहादुर जनता पर भरौसा जताते हुए कहा कि इस बार भी प्रदेश की जनता ने सभी 25 की 25 सीटे भाजपा को देने का फैसला कर लिया है। इस मौके पर मोदी ने एक नया नारा भी दिया कि दाल बाटी एवं चूरमा और हमारा वोटर है सुरमा...!

प्रधान मंत्री मोदी ने राजस्थान में 19 अप्रेल को पहले चरण में होने वाले लोकसभा चुनाव के चुनाव के लिए जयपुर ग्रामीण लोकसभा सीट पर पूर्व विधानसभा उपाध्यक्ष राव राजेंद्र सिंह,जयपुर शहर की प्रत्याक्षी मंजू शर्मा और अलवर से पार्टी के उम्मीदवार केंद्रीय मंत्री भूपेंद्र यादव के समर्थन में कोटपुतली के पास आयोजित विजय शंखनाद रैली को संबोधित करते हुए तंज कसा कि यह पहला ऐसा चुनाव है,जिसमें परिवारवादी पार्टियां अपने परिवार को बचाने के लिए रैली पर रैली कर रही है। हम कहते हैं भ्रष्टाचार हटाओ,वो कहते हैं भ्रष्टाचारियों को बचाओ। मोदी ने कहा कि आज एक ओर भाजपा देश को परिवार मानने वाली पार्टी है,दूसरी ओर अपने परिवार को देश से बड़ा मानने वाली कांग्रेस और अन्य पार्टियां हैं।

प्रधानमंत्री मोदी ने अपने संबो​धन की शुरुआत अपने विशेष अंदाज राम-राम सा के साथ की। मोदी ने कहा कि राजस्थान में 2019 में भी मेरी पहली चुनावी सभा ढूंढाड़ इलाके से ही शुरू हुई थी और अब 2024 में भी मेरी सभा ढूंढाड़ से ही शुरू हो रही है। आज मैं जो दृश्य इतना बड़ा जनसैलाब, जूनून और जोश देख रहा हूं। यह बता रहा है कि इस बार भी भाजपा की विजय होकर रहेगी। जयपुर का जलवा तो मैंने पहले भी देखा है,जब मैं फ्रांस के राष्ट्रपति के साथ जयपुर आया था।  मोदी ने कहा कि आज देश को परिवार मानने वाली भाजपा है,दूसरी ओर अपने परिवार को देश से बड़ा मानने वाली कांग्रेस हैं। हम विदेशों में देश का गौरव बढ़ाते है वही ये देश के गौरव को कम करने वाली बाते करते है। वीर भूमि राजस्थान हमेशा परिवारवाद के खिलाफ खड़ा हुआ है। राजस्थान ने 2014 और 2019 में भाजपा और एनडीए को प्रदेश की 25 की 25 सीटें दी थी और  इस बार भी यह इतिहास दोहराएगा इसमें लेशमात्र भी संशय नहीं है।

 

मोदी ने कहा कि इंडिया गठबंधन अपने स्वार्थ के लिए चुनाव लड़ रहा है। यह कोई सामान्य चुनाव नहीं है। यह चुनाव विकसित राजस्थान और विकसित भारत के संकल्प के लिए हो रहा है। यह चुनाव निर्णायक फैसले लेने और भारत को दुनिया में तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनाने का है। यह चुनाव भ्रष्टाचार को जड़ से उखाड़ फेंकने के लिए है। यह चुनाव भारत को आत्मनिर्भर बनाने के लिए है। यह किसानों की समृद्धि के संकल्प का चुनाव है। यह चुनाव घर-घर तक जल पहुंचाने का चुनाव है।

 

विशाल जनसभा में प्रधानमंत्री मोदी ने अपने संबोधन में यह भी कहा कि कांग्रेस ने पूर्वी राजस्थान की महत्वाकांक्षी ईआरसीपी योजना को हमेशा लटका कर रखा लेकिन प्रदेश में भाजपा की सरकार बनते ही हमने ईआरसीपी योजना को मंजूरी दी। साथ ही हरियाणा से राजस्थान में आने वाले यमुना जल के समझौते को भी अंजाम दिया है। प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार सख्त फैसले लेती है। भाजपा ने देश के गरीबों को पक्के मकान दिए है। हमारा सपना है कि देश में कोई भी व्यक्ति भूखा पेट नहीं सोए। मोदी ने बताया कि आने वाले 5 साल भी गरीबों को मुफ्त राशन मिलता रहेगा। साथ ही मैं गरीब के घर का चूल्हा नहीं बुझने दूंगा।

 

प्रधानमन्त्री की इस महती सभा में प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सी पी जोशी, मुख्यमंत्री भजन लाल शर्मा और उनके मंत्रिपरिषद के मंत्री,तीनों लोकसभा क्षेत्रों के प्रत्याक्षी एवं   भाजपा पदाधिकारियों के साथ ही बड़ी संख्या में पार्टी संगठन के कार्यकर्ता गण भी मौजूद थे।

 

प्रधानमन्त्री मोदी आगामी दिनों में भी प्रदेश में दो बड़ी रैलियां करने वाले है। मोदी के चाणक्य केंद्रीय गृह मंत्री हाल ही प्रदेश की दो दिवसीय यात्रा कर के गए है। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे पी नड्डा भी झालावाड़ और अन्य संसदीय क्षेत्रों में बड़ी सभाएं करेंगे। इस तरह भाजपा ने राजस्थान में अपना चुनाव अभियान तेज कर दिया है। हालांकि कांग्रेस भी 6 अप्रेल को जयपुर में एक बड़ी रैली कर सोनिया गांधी,मल्लिकार्जुन खड़गे राहुल गांधी आदि अपने नेताओं की उपस्थिति में पार्टी का घोषणा पत्र पहली बार मीडिया के बजाय सार्वजनिक मंच से जनता के मध्य घोषित करने वाली है।

 

इधर राजस्थान में 26 अप्रेल को दूसरे चरण में होने वाले 13 संसदीय क्षेत्रों के चुनाव के लिए विभिन्न दलों के उम्मीदवारों द्वारा नामांकन भरने का सिलसिला चल रहा है। पूर्व मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे के पुत्र सांसद दुष्यंत सिंह ने मंगलवार को झालावाड़ लोकसभा सीट से अपना नामांकन पत्र दाखिल किया। बुधवार को उनके समर्थन में एक विशाल रैली भी आयोजित की जा रही है।

 

दूसरी ओर कांग्रेस के लिए जोधपुर में एक शुभ संकेत देखने को मिला। यहां पार्टी के  प्रत्याक्षी करण सिंह उचियारड़ा के समर्थन में आयोजित नामांकन रैली में प्रदेश प्रभारी सुखजिंदर सिंह रंधावा, प्रदेश अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा के साथ ही मंच पर पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और पूर्व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट एक साथ दिखें और दोनों ने जोरदार ढंग से भाजपा पर हमले कर एकता का परिचय दिया। बुधवार को यही दृश्य भीलवाड़ा में पार्टी प्रत्याक्षी पूर्व विधानसभा अध्यक्ष डॉ सी पी जोशी की नामांकन रैली में भी दिखेगा।

 

राजस्थान में लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण के लिए नामांकन भरने में अब दो दिन ही शेष रहे है लेकिन कांग्रेस ने मंगलवार को जारी उम्मीदवारों की एक और सूची में भी बांसवाड़ा डूंगरपुर लोकसभा सीट के लिए अपने उम्मीदवार के नाम की घोषणा नही की है। इस सीट पर कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल हुए कद्दावर आदिवासी नेता महेंद्र जीत सिंह मालविया ने दक्षिणी राजस्थान के वागड़ अंचल में कांग्रेस के वजूद को बनाए रखने की जबरदस्त चुनौती रख दी है जिससे निपटने के लिए कांग्रेस स्थानीय नेताओं के विरोध के बावजूद भारतीय आदिवासी पार्टी बाप के साथ गठबंधन करने जा रही है।आने वाले एक दो दिनों में इसका फैसला भी हो जायेगा। कांग्रेस सीकर और नागौर की तरह बांसवाड़ा डूंगरपुर एवं अन्य लोकसभा सीटों पर भी मतों का विभाजन रोकना चाहती है।

 

राजस्थान के रण में भाजपा अपनी जीत की तिगड़ी और हैट्रिक जड़ने को तथा कांग्रेस दो लोकसभा आम चुनावों के बाद अपना विजयी खाता खोलने को आतुर हैं । देखना है इस जंग में कौन किसको मात देने के सफल होता है?


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Headlines
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like