GMCH STORIES

जिले के 6 विद्यालयों की 2.67 करोड़ से बदलेगी सूरत

( Read 2741 Times)

17 Sep 21
Share |
Print This Page

डॉ.प्रभात कुमार सिंघल

जिले के 6 विद्यालयों की 2.67 करोड़ से बदलेगी सूरत

कोटा |   संसदीय क्षेत्र कोटा-बूंदी में लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला के प्रयासों से संसदीय क्षेत्र के राजकीय विद्यालयों की सूरत बदलने की कवायद जारी है। विद्यालयों को सर्वसुविधायुक्त विद्यालयों के रूप में विकसित करने के प्रयासों के तहत संसदीय क्षेत्र के बूंदी में कुल 6 राजकीय विद्यालयों में 2.67 करोड़ की लागत से कक्षा-कक्षों का निर्माण व जरूरी सुविधाओं का विस्तार किया जाएगा। लोकसभा कैंप कार्यालय से प्राप्त जानकारी के मुताबिक वित्तीय वर्ष 2021-22 में समग्र शिक्षा अभियान ( पीएबी योजना) के तहत बूंदी जिले के विद्यालयों में कक्षा-कक्षों के निर्माण के लिए 2.67 करोड़ रुपए की स्वीकृति मिली है। जिले के तालेड़ा ब्लॉक के राजकीय माध्यमिक विद्यालय लाडपुर में कक्षा-कक्षों के निर्माण के लिए 43.24 लाख, के.पाटन ब्लॉक के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय लाखेरी में 46.83 लाख,  राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय कापरेन के लिए 46.83 लाख, राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय विजयनगर के लिए 47.25 लाख रुपए स्वीकृत किए गए गए हैं वहीं बूंदी के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय बम्बोरी में 46.83 लाख व राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय गादेगाल में 36.15 लाख की राशि से कक्षा कक्षों के निर्माण किए जाएंगे। जल्द ही निर्माण कार्य भी प्रारम्भ कर दिए जाएंगे।
592 परिवारों तक पहुंची मद द
       पिछले दिनों जिले के ग्रामीण अंचलों में आई बाढ़ ने इतावा-सुल्तानपुर क्षेत्र के कई परिवारों की  मुसीबतें बढ़ा दी थी। बाढ़ और अतिवृष्टि के कारण अपना घर खो चुके परिवारों की मदद के लिए लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला की ओर से जारी पहल के तहत गुरुवार को क्षेत्र के 592 परिवारों को टीन शेड उपलब्ध कराए गए। बिरला की पहल पर टीन शेड वितरण के लिए गठित की गई टीम ने क्षेत्र के तलाव, सब्जीपुरा, फतेहपुरा, गणेशखेड़ा, जोरावरपुरा, बिरोदा, खातौली, मदनपुरा, जटवाड़ा, कैथूदा, दलोद गांवों में प्रभावित परिवारों को चिन्हित कर टीन शेड वितरित किए। भाजपा नेता प्रेम गोचर व रिंकू सोनी ने बताया कि घर किसी भी व्यक्ति की बुनियादी आवश्यकता होती है। बाढ़ ने जिस तरह से इस क्षेत्र के सैकड़ों लोगों का घर तबाह किया वह हृदयविदारक था। बाढ़ के कारण परिवारों के पास सिर छिपाने के लिए भी कोई जगह नहीं बची थी। लोकसभा अध्यक्ष ने इन परिवारों के दर्द को अपना दर्द मानते हुए क्षतिग्रस्त घरों की मरम्मत के लिए टीन शेड उपलब्ध कराए हैं। पिछले 1 माह में हजारों परिवारों को लोकसभा अध्यक्ष की मदद से राहत पहुंची है, यह पहल बाढ़ पीड़ितों की ज़िंदगी को पटरी पर लाने का काम करेगी। इस मौके पर गोविंद नागर, पूर्व मण्डल अध्यक्ष वीरेंद्र सुमन ,अमित सोनी,कमलेश वैष्णव, राजू सुवालका आदि मोजूद थे।


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Headlines ,
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like