GMCH STORIES

सोशल मीडिया निभा रहा है जीवनदायिनी भूमिका

( Read 11951 Times)

03 Mar 20
Share |
Print This Page
सोशल मीडिया निभा रहा है जीवनदायिनी भूमिका

कोटा (डॉ. प्रभात कुमार सिंघल) |  कैंसर, गर्भावस्था व कुछ अज्ञात बीमारियो में प्लेटलेट की अचानक कमी रोगी को गंभीर अवस्था में ले आती है। डेंगू, मलेरिया के बाद प्लेटलेट की जबरदस्त कमी अब इन बीमारियों से ग्रसित रोगियों में सामान्यतः देखी जा रही है। ऐसे रोगियों की तादाद अब शनै- शनैः बढ़ रही है। कोटा संभाग, दूर-दराज, ग्रामीण अंचल व सीमावर्ती प्रदेशों से आए मरीजों को प्लेटलेट आपूर्ति के लिए SDP की व्यवस्था हेतु चिकित्सक द्वारा लिखा जाता है तो मरीज के परिजनो को social media के माध्यम से यह व्यवस्था बहुत सुलभ व आसान लग रही है।

         गत रविवार को सोशल मीडिया के माध्यम से मदद का ऐसा एक वाकया देखने को मिला। न्यू मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल के वार्ड बी यूनिट में इंद्रगढ़ बूंदी निवासी Blood cancer से पीडि़त 51 वर्षीय मोतीलाल राइका भर्ती थे। उन्हें उसी दौरान पीलिया की शिकायत भी हुई व कुछ समय पूर्व टीबी से भी प्रभावित हुए थे। प्लेटलेट के लगातार गिरने से उनकी हालत नाजुक हो गई।गंभीर अवस्था में दो दिन तक नहीं मिला एसडीपी डोनर।     

          रोगी मोतीलाल राइका का पुत्र पाबुदान से दो दिन तक मशक्कत करता रहा। उसी समय किसी अनजान ने MBS ब्लड बैंक के बाहर कुर्सी पर लिखे टीम जीवनदाता के संयोजक व लॉयन्स क्लब कोटा टेक्नो के अध्यक्ष भुवनेष गुप्ता के हेल्पलाइन नंबर 9414000800 दिए। पाबुदान ने पहले Whatsapp पर ब्लड की पर्ची व कुछ का विवरण डालकर प्रार्थना Message डाला। गुप्ता ने मैसेज को फौरन पढ़ा और पाबुदान को कॉल करके एक घण्टे में डोनर के आने की सूचना दी। इतनी देर में गुप्ता व साथी नितिन मेहता ने जीवनदाता अपील संदेश social media पर पोस्ट किया, जो बाद में बहुत तेजी से वायरल होता हुआ चला गया। इससे इंसानियत का भाव रखते हुए कई युवओं ने SDP के बारे में समझा और डोनेट करने हेतु इच्छा जाहिर की।15 मिनट में पहुंच गए अमन चावला । उनके साथी नितिन मेहता व राजेन्द्र गुप्ता ने ग्रुप में चर्चा की व अमन चावला से बात करने के लिए कहा। Dj sound के अमन चावला शादी में साउण्ड व्यवस्था में व्यस्त थे। उन्होने तुरंत फोन पर ही आधे घण्टे में रंगबाड़ी से एमबीएस ब्लड बैंक आने का आस्वाशन दिया। वादे के मुताबिक अमन ने एमबीएस ब्लड बैंक आकर एसडीपी का दान किया।     

         राजेन्द्र गुप्ता, भुवनेश गुप्ता व नितिन मेहता ने मंगलवार को जब रोगी का हाल जानने के लिए पुत्र पाबुदान से बात की तो वह काफी खुश हुए। पुत्र ने बताया कि अब पिता स्वस्थ है व आज ही छुटटी करवाकर इंद्रगढ़ के लिए रवाना हो रहे हैं। साथ ही उसने  कहा कि वहां पहुंचकर सभी ग्रामवासियों में इस घटना की चर्चा करके लोगों को रक्तदान व एसडीपी के लिए प्रेरित करेंगे ।

         एक सप्ताह में पहुंचे पांच एसडीपीटीम जीवनदाता के मनीश माहेश्वरी ने मध्य प्रदेश निवासी गांधी नगर 55 वर्शीय अशोक सरदार के लिए भारत विकास परिशद ने एसडीपी डोनेट की ।इसी तरह ए पॉजीटिव एसडीपी की आवष्यकता होने पर न्यू मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल में भर्ती रोगी हीरालाल मीणा के लिए दलवीर सिंह ने एसडीपी डोनेट कीसुवासा बूंदी निवासी आकाश प्रजापति के लिए एसडीपी की आवष्यकता होने पर एबी पॉजीटिव शिखा  अरोड़ा ने एमबीएस ब्लड बैंक में एसडीपी डोनेट की रावतभाटा निवासी अमृता सिंह के लिए रामलाल मीणा ने एसडीपी डोनेट की।


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Headlines
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like