GMCH STORIES

वेस्टर्न सिडनी विश्वविद्यालय एवं एमपीयुएटी के बीच समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर

( Read 888 Times)

23 Nov 22
Share |
Print This Page
वेस्टर्न सिडनी विश्वविद्यालय एवं एमपीयुएटी के बीच समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर

 

उदयपुर,   महाराणा प्रताप कृषि और प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय उदयपुर , राजस्थान एवं वेस्टर्न सिडनी विश्वविद्यालय के बीच नयी दिल्ली के पांच सितारा होटल संगरिका ला में आयोजित कार्यशाला में मंगलवार शाम को एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किये गए l समझौता ज्ञापन पर वेस्टर्न सिडनी विश्वविद्यालय के कुलपति की ओर से प्रो. बसंत महेश्वरी तथा एमपीयुएटी के कुलपति डॉ अजीत कुमार कार्नाटक ने हस्ताक्षर किये l इस अवसर पर प्रोध्योगिकी एवं अभियांत्रिकी महाविद्यालय के अधिष्ठाता डॉ पी. के. सिंह तथा निदेशक आयोजना एवं परिवीक्षण डॉ महेश कोठारी ने भी साक्षी के रूप में हस्ताक्षर किये l एमपीयुएटी के कुलपति डॉ अजीत कुमार कार्नाटक ने इस समझोते को अभूतपूर्व बताते हुए कहा की इस माध्यम से हमारे विश्वविद्यालय के योग्य छात्र - छात्राओं को ऑस्ट्रेलिया की श्रेष्ठतम शिक्षण संस्थान में अध्ययन एवं शोध का अवसर मिलेगा l उन्होंने इसे द्विपक्षीय संस्थाओं के लिये लाभकारी बताया इससे दोनों देश के विधार्थियों को एक दूसरे की संस्कृति और आचार विचार को समझने का अवसर भी मिलेगा l उन्होंने कहा की इस समझोते की अवधी 5 वर्ष रहेगी जिसे आगे भी बढाया जा सकता हे, और यह समझोता इसी अकादमिक वर्ष से लागु हो जायेगा l  

 

सी टी ए ई अधिष्ठाता डॉ पी. के. सिंह ने बताया की उन्होंने प्रो. बसंत महेश्वरी से लगातार पत्राचार कर सामझोता पत्र का मसोदा तैयार किया l इस समझोते के अंतर्गत वेस्टर्न सिडनी विश्वविद्यालय (डब्ल्यूएसयू ) अपने यहाँ अभियांत्रिकी में पी एच डी करने वाले एमपीयुएटी के विद्यार्थियों को ऑस्ट्रेलिया आवास के दोरान प्रति वर्ष  30,000 ऑस्ट्रेलियाई डॉलर की छात्रवृत्ति  प्रदान करेगा साथ ही  उम्मीदवारों को परियोजना निधि भी प्रदान की जाएगी।  आकस्मिक व्यय के लिए उच्च लागत वाली परियोजनाओं में प्रति वर्ष 6,000 आ.डॉलर और कम लागत वाली परियोजनाओं के लिए न्यूनतम राशी प्रदान की जाएगीl  उस अवधि के लिए  एमपीयुएटी द्वारा छात्र को शुल्क, छात्रवृत्ति, प्रोजेक्ट फंडिंग या यात्रा सहायता प्रदान की जाएगी।

 

इसी प्रकार डब्ल्यूएसयू और एमपीयूएटी के बीच समझौता ज्ञापन के अनुसार, विज्ञान के विभिन्न विषयों में मास्टर ऑफ साइंस डिग्री हेतु 5 सीटों पर थीसिस वर्ष के लिए कोई डब्ल्यूएसयू छात्रवृत्ति वजीफा प्रदान नहीं किया जाएगा।  25% छूट के साथ प्रवेश से पहले एक शिक्षण शुल्क निर्दिष्ट किया जाएगा।  डब्ल्यूएसयू उम्मीदवारों को अधिकतम 3000 आ.डॉलर परियोजना निधि प्रदान करेगा । डॉ सिंह ने बताया की मास्टर ऑफ साइंस में ड्यूल डिग्री प्रोग्राम के अंतर्गत 5 सीटों पर प्रतियोगिता के आधार पर ऑस्ट्रेलिया में अध्ययन के लिए एमपीयुएटी द्वारा छात्र को शुल्क, छात्रवृत्ति, प्रोजेक्ट फंडिंग या यात्रा सहायता प्रदान की जाएगी। साथ ही ऐसे विद्यार्थियों को डब्ल्यूएसयू द्वारा प्रतिवर्ष अधिकतम 6000 ऑस्ट्रलियन डॉलर छात्रवृत्ति भी प्रदान की जाएगी l  

 


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Headlines , Education
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like