श्रीमद् वाल्मीकि रामायण स्वाध्याय केंद्र का संचालन

( Read 6191 Times)

03 May 21
Share |
Print This Page
श्रीमद् वाल्मीकि रामायण स्वाध्याय केंद्र का संचालन

संस्कृत भारती चित्तौड़ प्रांत ,आर्ट ऑफ लिविंग, गोकर्ण सेवा संस्थान, प्रज्ञा ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशन के संयुक्त तत्वाधान में श्रीमद् बाल्मीकि रामायण स्वाध्याय केंद्र का संचालन किया जा रहा है।
 राम का व्यक्तित्व विराट व्यक्तित्व है । राम सत्य है, संस्कार है, सेवा है, समर्पण है, साक्षात् त्याग की प्रतिमूर्ति है । राम ने अपने जीवन से दुनिया को संदेश दिया । विकट परिस्थितियों में  भी  उन्होंनें  धैर्य  छोड़ा व उन्होने जीवन पर्यन्त  सामाजिक जीवन मूल्यो के आदर्शो को जिया है।  रामो भूत्वा रामं यजेत् यह बात संस्कृत भारती चित्तौड़ प्रांत द्वारा प्रत्येक रविवार को सांय 5 बजे से 6 बजे तक ऑनलाइन आयोजित श्रीमद् वाल्मीकि रामायण स्वाध्याय केंद्र के तृतीय रविवार को विशेष सत्र में बोलते हुए अभियान संयोजक डॉ पवन शर्मा ने कही। उन्होंने कहा है कि राम का जीवन आदर्श जीवन तो है ही साथ ही सामाजिक समरसता का भी बहुत बड़ा उदाहरण है । वर्तमान समय में राम के आदर्शों को आत्मसात करने की आवश्यकता है । प्रांत संगठन मंत्री देवेंद्र पंड्या ने बोलते हुए कहा कि राम राष्ट्र के आदर्श महापुरुष है । राम का  चरित्र व्यक्तिवादी  न होकर  राष्ट्रवादी चरित्र था । 
महानगर प्रचार प्रमुखा रेखा सिसोदिया ने बताया कि ने बताया कि राम के आदर्शों को घर घर पहुंचाने के लिए संस्कृत भारती द्वारा श्रीमद् वाल्मीकि रामायण स्वाध्याय केंद्र की संकल्पना की गई। कार्यक्रम का आरंभ उदयपुर महानगर महिला सह प्रमुखा रेनू पालीवाल द्वारा मंगलाचरण से हुआ । संस्कृत भारती के गृहे गृहे वाल्मीकि रामायण योजना पर बोलते हुए प्रांत शिक्षण प्रमुख मधुसूदन शर्मा ने कहा कि संस्कृत भारती भगवान राम के आदर्शों की भाषा संस्कृत को घर-घर तक वाल्मीकि रामायण के माध्यम से ले जाएगी उन्होंने हर जिला केंद्र पर बाल्मीकि रामायण के केंद्र खोलने की बात कही ।
 अतिथियों का परिचय महानगर सम्पर्क प्रमुख हिमांशु भट्ट ने किया तथा रामायण का महत्व बताते हुए प्रथम सर्ग का पारायण किया । प्रति सप्ताह रविवार को 5:00 से 6:00 बजे तक रामायण का अध्ययन होगा जो निशुल्क रहेगा । धन्यवाद ज्ञापन संयोजक नरेंद्र शर्मा ने किया ।
 कार्यक्रम में उदयपुर से दुष्यंत नागदा, चेन शंकर दशोरा, रेनू पालीवाल, रेखा सिसोदिया, नरेंद्र शर्मा, डॉ हिमांशु भट्ट, डॉ यज्ञ आमेटा , संजय शांडिल्य, मंगल जैन, दुर्गा कुमावत, अर्चना जैन, भूपेंद्र शर्मा दुष्यंत कुमावत, प्रान्त से प्रांत प्रांत संगठन मंत्री देवेंद्र पंड्या, शिक्षण प्रमुख मधुसूदन शर्मा, विद्वत परिषद के परमानंद शर्मा, प्रांत संपर्क प्रमुख ललित कुमार नामा आदि उपस्थित रहे।


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Chittor News
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like