मजदूरों ने श्रम विभाग द्वारा बजट नहीं देने के विरोध में कलेक्ट्री पर किया प्रदर्शन

( Read 3461 Times)

03 Jul 19
Share |
Print This Page

मजदूरों ने श्रम विभाग द्वारा बजट नहीं देने के विरोध में कलेक्ट्री पर किया प्रदर्शन

मजदूरों ने श्रम विभाग द्वारा बजट नहीं देने के विरोध में कलेक्ट्री पर किया विरोध प्रदर्शन कमठा मजदूर यूनियन बाड़मेर, निर्माण मजदूर यूनियन एटक ,बाड़मेर देवानंद कमठा मजदूर यूनियन बाड़मेर ,आदर्श कमठा मजदूर यूनियन बालोतरा एवं राजस्थान भवन एवं अन्य संनिर्माण श्रमिक यूनियन बालोतरा बाड़मेर के संयुक्त तत्वाधान में मजदूर संगठनों ने श्रम विभाग की नीतियों के खिलाफ में जिला कलेक्टर कार्यालय बाड़मेर के आगे धरना देकर कलेक्ट्री पर विरोध प्रदर्शन कर पंजीकृत निर्माण श्रमिक के लिए सहायता योजना में बजट नहीं देने पर भारी विरोध प्रदर्शन किया सरकार विरोधी नारे लगाए राजस्थान सरकार मुर्दाबाद गहलोत सरकार मुर्दाबाद श्रम मंत्री मुर्दाबाद हमारी मांगे पूरी करो चाहे जो मजबूरी हो हमारी मांगे पूरी हो मज़दूर एकता जिंदाबाद दुनिया के मजदूरों एक हो मजदूरों को बजट दो बजट तो इस प्रकार के गगनभेदी नारों से जिला कलेक्टर कार्यालय गुंजायमान हुआ | मजदूर नेता लक्ष्मण बडेरा ने धरने को संबोधित करते हुए कहां की राजस्थान सरकार ने बाड़मेर जिले को छोड़कर राज्य के सभी दूसरे जिलों को बजट दिया बाड़मेर जिले को बजट नहीं दिया बाड़मेर जिले के साथ में सरकार के सौतेले व्यवहार को निंदनीय बताया और कहा कि यहां के जनप्रतिनिधियों का कर्तव्य बनता है कि वह मजदूरों को सहायता योजनाओं में बजट उपलब्ध करवाएं जनप्रतिनिधियों द्वारा मजदूरों की पैरवी नहीं करने पर रोष व्यक्त  करते हुए लक्ष्मण बडेरा ने कहा कि इन विधायकों को मजदूरों के समर्थन में बजट जारी करवाना चाहिए ना कि विरोध करके यहां मौन धारण करके बैठना चाहिए लक्ष्मण बडेरा ने कहा कि श्रम विभाग द्वारा 4 साल पहले से स्वीकृत  मजदूरों की बेटियों की विवाह सहायता योजना के आवेदनों की सहायता राशि रोक  करके रखी है वह भी तत्काल दिलवाई जाए और जनवरी 2016 से शुरू शुभ शक्ति योजना में 15,000 से अधिक आवेदन बाड़मेर जिले में पेंडिंग है जिनके अंदर स्वीकृति के बाद में भी उनको सहायता राशि नहीं दी गई है लक्ष्मण ने कहा श्रम  विभाग के श्रम आयुक्त ने30 अगस्त 2016 को आदेश जारी कर बताया कि पंजीयन 15 दिन में और सहायता आवेदनों का निस्तारण एक महीने में किया जाना सुनिश्चित किया जाए लेकिन सहायक श्रम आयुक्त बालोतरा के अधिकारियों ने श्रम आयुक्त के आदेशों की अनदेखी की और मजदूरों को सहायता आवेदनों को एक महीने की बजाय वर्षों तक लंबित रखकर के मजदूरों को योजना के लाभ से वंचित रखा है मजदूरों के साथ विश्वासघात किया है जिसकी वजह से मजदूरों को भारी नुकसान उठाना पड़ रहा है और मजदूरों का अहित किया जा रहा है मजदूरों का शोषण किया जा रहा है इस शोषण की वजह से मजदूरों को सरकार की योजनाओं से मिलने वाली सहायता में श्रम  विभाग के अधिकारी रोड़े बनकर  खड़े हुए हैं इसकी वजह से  बाड़मेर के मजदूरों को लाभ समय पर नहीं मिल रहा

 मजदूर नेता लक्ष्मण बड़ेरा ने आरोप लगाया कि 17 मई 2019 को कमठा मजदूर यूनियन बाड़मेर ने बजट आवंटन की मांग को लेकर राज्य के मुख्यमंत्री श्रम मंत्री राजस्व मंत्री मुख्य सचिव श्रम आयुक्त को जिला कलेक्टर के माध्यम से ज्ञापन देकर बजट आवंटन की मांग की थी लेकिन राज्य सरकार के मुख्यमंत्री श्रम मंत्री और अन्य किसी ने भी बाड़मेर जिले के मजदूरों की दर्द व पीड़ा को समझा नहीं और बाड़मेर जिले को बजट का आवंटन नहीं किया इसकी वजह से बाड़मेर के हजारों मजदूर सरकार की सहायता योजना से वंचित हो गए मजदूर नेता ने नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा की नब्बे हजार छात्रवृत्ति के सहायता आवेदन श्रम विभाग बालोतरा के पास  मौजूद हैं जो 2016 2017 2018 लगातार तीन वर्षों से  सहायता  के इंतजार में है उनको सहायता नहीं दी इस कारण मजदूरों को सहायता से वंचित किया गया 7 सूत्री मांग पत्र पेश करते हुए लक्ष्मण वडेरा ने कहा कि मजदूर की मृत्यु व घायल होने की दशा में जो सहायता योजना है उसमें मजदूर की मृत्यु का घायल होने की दशा में दो लाख की सहायता योजना है मगर श्रम विभाग बालोतरा ने मृतक मजदूर के आश्रित को 50% राशि का एफडी बनाकर उपलब्ध नहीं कराया इससे मजदूरों को भारी आर्थिक नुकसान उठाना पड़ रहा है बडेरा ने कहा  की बाड़मेर जिले में हजारों आवेदन ऑफलाइन है जो ऑनलाइन नहीं होने की वजह से उनको कोई भी योजनाओं का लाभ नहीं मिल रहा है और श्रम विभाग की  हठधर्मिता के कारण ऑफलाइन को ऑनलाइन करने का सिस्टम बंद कर दिया है जिससे हजारों मजदूरों को भारी आर्थिक नुकसान उठाना पड़ रहा है सरकार के कानून के मुताबिक पंजीकृत निर्माण श्रमिक ऑफलाइन को ऑनलाइन करने की पूरी व्यवस्था श्रम विभाग की जिम्मेदारी है जो अपनी जिम्मेदारी विभाग नहीं निभा रहा है विभाग अपनी जिम्मेदारी नहीं निभाई तो मजदूर आंदोलन करेंगे सिलिकोसिस की चर्चा करते हुए सिलिकोसिस से पीड़ित एक साल से सहायता को तरस रहे हैं और सिलिकोसिस पीड़ितों को श्रम विभाग बालोतरा सहायता नहीं दे रहा है प्रसूति सहायता योजना में सैकड़ों आवेदन मौजूद होने के बावजूद भी स्वीकृत आवेदनों में एक वर्ष से सहायता नहीं दी जा रही है ऐसी सूरत में मजदूरों के मन में श्रम विभाग के प्रति और अधिकारियों के प्रति भारी आशंका व्याप्त हो गई है विभाग द्वारा आदेशों की अनदेखी करने से कारण मजदूरों को हर लाभ से वंचित होना पड़ रहा है और विभाग ने स्वीकृत आवेदनों को RE-OPEN  कर और सहायता राशि को लटका कर रखा है कार्यक्रम को संबोधित करते हुए निर्माण मजदूर यूनियन एटक के महासचिव हनुमान प्रजापत ने कहा कि श्रम विभाग बालोतरा द्वारा मजदूरों के सहायता आवेदन में भारी छेड़छाड़ की जा रही है जिसकी वजह से सहायता मिलने में भारी विलंब हो रहा है और हम सभी को मिलकर के श्रम विभाग की इस कार्यशैली के विरोध में धरना प्रदर्शन आंदोलन करके जनता को जागृत करना चाहिए देवानंद कमठा मजदूर यूनियन बाड़मेर के अध्यक्ष गेनाराम विरट ने कहा कि मजदूरों के साथ में भारी अन्याय हो रहा है और श्रम विभाग बाड़मेर के मजदूरों के साथ में न्याय कर रहा है बाड़मेर के जितने भी जनप्रतिनिधि है वह मजदूरों का साथ नहीं दे कर के मजदूरों का भारत कर रहे हैं आदर्श कमठा मजदूर यूनियन बालोतरा सावलाराम ने कहा कि मजदूरों के साथ में श्रम विभाग अन्याय कर रहा है इसी तरह मारवाड़ मजदूर यूनियन बाड़मेर में भी श्रम  विभाग की खुली आलोचना करते हुए कहा कि श्रम विभाग के अधिकारियों की मनमानी की वजह से बाड़मेर के मजदूरों को समय पर सहायता उपलब्ध नहीं हो रही है कार्यक्रम का संचालन डूंगर राठी चौहटन ने किया महेश सिंह राजपुरोहित ने सभी को धन्यवाद दिया  कमठा मजदूर यूनियन के सभी साथियों ने एक साथ होकर धरना स्थल से जिला कलेक्टर की तरफ प्रदर्शन किया और हाथों में तख्तियां लिए हुए जिन पर लिखा हुआ था श्रमिकों का शोषण बंद किया जाए बाड़मेर जिले को बजट आवंटन किया जाए सहायता योजनाओं में श्रमिकों को सहायता उपलब्ध की जाए  प्रदर्शन में ग्रामीण महिला मजदूरों ने भाग लिया मिठडी  की झीणी  देवी महाबार की  तुलसी देवी बाड़मेर की सुआ देवी तारातरा की कमला रानी गांव की पारो देवी ,कंकू देवी बांसवाड़ा की मणि देवी बाड़मेर मगरा की काली देवी की गीता देवी  सुम्मरी शारदा मांगता की धनी नेनू देवी जैसार तारातरा की पार्वती साथ में जैसार के चेलाराम प्रजापत ने संबोधित किया भाषणों के मिश्रा राम ने संबोधित किया मजदूर को पिछले 3 साल से सहायता योजनाओं में बजट नहीं देने से नाराज मजदूर वर्ग ने सरकार के खिलाफ खुलकर आक्रोश व्यक्त किया और कहा कि भविष्य में यदि बजट आवंटित नहीं किया सत्ताधारी दल के विधायकों व मंत्रियों का घेराव किया जाएगा और विरोध किया जाएगा मुख्यमंत्री के नाम का ज्ञापन बाड़मेर के तहसीलदार नए मजदूरों के सम्मान में मुख्य गेट पर आकर ज्ञापन लिया और आश्वस्त किया कि सरकार तक मजदूरों की भावनाओं को पहुंचाया जाएगा


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Barmer News
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like