गीतांजली में इंटरनेशनल संगो६ठी का आयोजन

( Read 7797 Times)

31 Mar 19
Share |
Print This Page

गीतांजली में इंटरनेशनल संगो६ठी का आयोजन

गीतांजली इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नीकल स्टडीज, उदयपुर के प्रबंध अध्ययन संकाय, के तत्वाधान में ‘‘वेश्विक परिदृश्य में कॉर्पोरेट गर्वेनेंस संभावनाएं एवं चुनौतियां’’ विषय पर अंतर्रा६ट्रीय संगो६ठी का आयोजन हुआ।

उद्घाटन सत्र् की अध्यक्षता करते हुए संस्था के निदेशक प्रो. विकास मिश्र ने कॉर्पोरेट गर्वेनेंस के महत्व पर प्रकाश डाला। संगो६ठी निदेशक प्रो. पी.के. जैन ने विगत दशक में हुए कॉर्पोरेट गवर्नेंस के गलत उपयोग के कारण हुए घोटालों को रेखाकिंत करते हुए कहा कि कॉर्पोरेट गर्वनेंस का सही प्रयोग ही किसी संस्था को लम्बे वक्त तक बाजार में टिकाऊ बना सकता हैं। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि डॉ. अनुपम भार्गव ने अपने व्यक्तव्य में कहा कि कोई भी कम्पनी तभी कार्पोरेट गर्वनेंस का पालन कर सकती हैं जब उसे चलाने वाले पूरी नैतिकता व नि६ठा के साथ अपने कर्तव्यों का पालन करें।

संगो६ठी सचिव डॉ. धर्मेश मोटवानी ने बताया कि संगो६ठी के लिए देश-विदेश से 86 शोध पत्र् प्राप्त हुए जिनमें से 31 शोध पत्रें को वाचन के लिए आमंत्र्ति किया गया। शोध पत्रें ने कॉपोरेट गर्वनेंस का अभिप्रेरणा, प्रबंध तथा नेतृत्व के साथ संबंधों पर प्रकाश डाला।

समापन समारोह में दो श्रे६ठ शोध पत्रें को रूपये 3000 का नकद पुरूस्कार दिया गया। पहला श्रे६ठ शोध का मंदसौर वि८विद्यालय के चैताली भाटी, नंदिनी सिंह भाटी व डॉ. लोके८वर सिंह जादाना को मिला व दूसरा पुरूस्कार पेसिफिक बिजनेस स्कूल की डॉ. खुशबू अग्रवाल व अक्षिता को मिला। धन्यवाद ज्ञापन डॉ. किरण सोनी द्वारा दिया गया।

इस अवसर पर संस्थान के वित्त नियंत्र्क बी.एल. जांगिड सहित सभी विभाग के विभागाध्यक्ष एवं पूरा गीतांजली परिवार उपस्थित था।


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Sponsored Stories
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like