GMCH STORIES

भूविज्ञान राष्ट्रीय संगोष्ठी की फिल्ड विजिट में प्रतिभागियों ने देखी भूविज्ञान की जटिलताएं

( Read 1131 Times)

11 Feb 24
Share |
Print This Page

भूविज्ञान राष्ट्रीय संगोष्ठी की फिल्ड विजिट में प्रतिभागियों ने देखी भूविज्ञान की जटिलताएं

उदयपुर १२फ़रवरी / भूपाल नोबल्स विश्वविद्यालय के भूविज्ञान विभाग द्वारा आयोजित की गई  अरावली पर्वत श्रृंखला के भूविज्ञान एवं खनिज सम्पदा' में प्रबंध निदेशक मोहब्बत सिंह राठौड के आशीर्वचन के साथ कार्यक्रम में डॉ यूवराज सिंह राठौड़, कमलेश्वर सिंह सारगदेवोत, महेंद्र सिंह चुंडावत आदि  विद्या प्रचारणी  कार्यकारिणी सदस्य उपस्थित रहें। कार्यक्रम की की अध्यक्षता बीएन विश्वविद्यालय के चेयरपर्सन कर्नल प्रो एस एस सारंगदेवोत और प्रेसिडेंट डॉ महेंद्र सिंह आगरीया ने अपने विचार रखे। राष्ट्रीय संगोष्ठी के समापन में विज्ञान संकाय की डीन डॉ रेणु राठौड़  एवं एसोसियेट डीन डॉ ऋतु तोमर ने भी अपने विचार रखे। विषयक राष्ट्रीय संगोष्टी  के दूसरे दिन प्रतिभागियों से उदयपुर एवं गोगुन्दा क्षेत्र  के आस-पास उदयपुर एवं फिल्ड विजिट कराया गया। भूविज्ञान विभाग के अध्यक्ष एवं संगोष्ठी आयोजन सचिव डॉ हेमन्त सेन ने बताया कि प्रो एन. के. चौहान,  प्रोफेसर विनोद अग्रवाल एवं डा  एस-के वशिष्ठ के नेतृत्व में प्रतिभागियों ने थूर की पाल के पास 260 करोड़ वर्ष पूर्व की ग्रेनाईट एवं ज्वालामुखीय शैल बेसाल्ट का अवलोकन किया। उसने बाद जामुनिया की नाल के पास अरावली महासंघ की सबसे पुरानी कायान्तरित शैलो के बारे मे जाना। गोगुन्दा के पास 160 करोड़ वर्ष पूर्व की अल्ट्रमिफिक चट्टानों की निर्माण प्रक्रिया तथा उसमे मिल रहे एस्बेस्टस, सोपस्टोन, काइनाइट आदि खनिजों के बारे मे जानकारी प्राप्त की। इसी प्रकार गोगुन्दा-पिण्डवाडा मार्ग पर देहली महासंघ की 150 से 100 करोड़ वर्ष पूर्व आयु की चट्टानों एवं उनमे मिल रहे खनिजो के बारे में समझा। डॉ रेणु राठौड़ ने बताया कि उदयपुर से गोगुन्दा मार्ग भूविज्ञान की दृष्टि से  महत्वपूर्ण क्षेत्र जहाँ 300 करोड़ से लेकर 100 करोड़ वर्ष पूर्व आयु की विभिन्न प्रकार की चट्टाने तथा उनमे व्याप्त खनिजों की प्रचुरता मौजूद है। साथ ही, समय-समय पर हुए पृथ्वी पर भूवैज्ञानिक प्रभावों के प्रमाण भी मौजूद है। प्रबंध निदेशक मोहब्बत सिंह राठौड़ के धन्यवाद के साथ ही सभी उपस्थित प्रतिभागियों को सर्टिफिकेट और भोज के साथ विदाई दी गई।


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Education News , Bhupal Nobles University
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like