जनता की आकांक्षाओं के अनुरूप बजट

( Read 3926 Times)

20 Feb 20
Share |
Print This Page

जनता की आकांक्षाओं के अनुरूप बजट

पूर्व केन्द्रीय मंत्री डॉ. गिरिजा व्यास ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा 2020-21 के लिए राज्य विधानसभा में पेश बजट पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री ने जनता की आकांक्षाओं के अनुरूप बजट में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य के क्षेत्र में 100 करोड़ रुपये के निरोगी राजस्थान प्रबंधन कोष के गठन, अगले 4 वर्षों में 15 नए मेडिकल कॉलेजों का निर्माण पूर्ण करने, 25 हजार सोलर पम्प लगाने, 44 नई स्वतंत्र मंडियों एवं 100 नवीन गौण उपज मंडी समितियों की घोषणा करने, 8 लाख से अधिक पहली बार सदस्य बने किसानों को 1800 करोड़ रुपये के फसली ऋण देने, बेरोजगार युवाओं के लिए 53000 हजार पदों पर भर्तियां करने, 167 ब्लॉक में अंग्रेजी माध्यम के सरकारी स्कूल खोलने जैसी घोषणाएं कर प्रदेश को विकास के पथ पर अग्रसर किया है। मुख्यमंत्री ने दूरगामी लक्ष्यों को ध्यान में रखते हुए कई घोषणाएं की है। प्रस्तुत बजट से स्पष्ट है कि कृषकों, पशुपालकों, महिलाओं, छात्रों-युवाओं, औद्योगिक एवं व्यापारिक संगठनों आदि के सुझावों एवं विचारों को इस बजट में शामिल किया गया है। रीको द्वारा उदयपुर सहित 9 जिलों में नए औद्योगिक क्षेत्रों की स्थापना की घोषणा से प्रदेश आर्थिक क्षेत्र में मजबूती से उभरेगा जिससे युवाओं के लिए रोजगार की संभावनाएं बढ़ेगी। 
बजट में है केवल निराशा -जोशी

          राज्य सरकार के द्वारा प्रस्तुत बजट आमजन,युवा,महिला, किसान सभी के लिए निराशाजनक है। इस बजट में केवल केंद्र प्रवर्तित योजनाओं के  बजट को अपनी उपलब्धि बताया है और विशेषकर मेवाड को तो इस बजट में केवल निराशा ही हाथ लगी है। और ना ही पूरे संसदीय क्षेत्र् में कोई विशेष ठोस प्रयास विकास और जनमानस की सुविधाओं के लिए हुए हैं।यह बजट किसी भी प्रकार से उत्साहजनक नहीं है। जनता को गुमराह करने वाला बजट है केन्द्र सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं को अपनी योजना बता कर लागू करने का प्रयास किया है। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में भी अपनी हिस्सा राशी नहीं देने से प्रदेश के किसानो को नुकसान हो रहा है।
                 सांसद जोशी ने कहा कि आज प्रदेश में भ्रष्टाचार चरम पर है। प्रतिदिन दैनिक समाचार पत्रें में भ्रष्टाचार के संदर्भ में समाचार प्रकाशित हो रहे हैं। युवा रोजगार के लिए सडकों पर उतरने को मजबूर है और किसान अपने आप को इस राज में ठगा सा महसूस कर रहा है, जिसे 10 दिन में कर्ज माफ करने का सपना दिखाया गया था। समय पर भर्तियां नहीं होने के कारण बेरोजगार युवा वर्ग मानसिक अवसाद में हैं। महिलाऐं सुरक्षा को लेकर चिंतित हैं।
ख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा गुरुवार को राज्य विधानसभा में पेश 2020-21 वित्त वर्ष के बजट को कांग्रेस मीडिया सेन्टर अध्यक्ष पंकज कुमार शर्मा ने बहुआयामी विकास की संभावनाओं वाला बताया है। उन्होंने कहा कि कृषि विकास और किसानों के लिए 3420 करोड़ रुपये का बजट किसानों के आर्थिक जीवन स्तर को बेहतर करेगा। किसानों को दिन में भी बिजली दिए जाने व उदयपुर की आयड़ नदी के पुनरोद्धार के लिए 75 करोड़ की व्यवस्था का भी स्वागत किया। बजट शिक्षा, चिकित्सा, रोजगार की दृष्टि से भी आशावादी है। 


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Headlines
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like