BREAKING NEWS

डा. हर्ष वर्धन ने देश के सबसे बड़ी विज्ञान प्रतिभा खोज परीक्षा “विद्यार्थी विज्ञान मंथन 2020-21” का शुभारंभ किया

( Read 1149 Times)

01 Aug 20
Share |
Print This Page

-नीति गोपेंद्र भट्ट-

डा. हर्ष वर्धन ने देश के सबसे बड़ी विज्ञान प्रतिभा खोज परीक्षा “विद्यार्थी विज्ञान मंथन 2020-21” का शुभारंभ किया

नई दिल्ली – केंद्रीय विज्ञान और प्रौद्योगिकी, पृथ्वी विज्ञान तथा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री ने आज विज्ञान भारती द्वारा आयोजित विद्यार्थी विज्ञान मंथन 2020-21 का विडियो क्राफ्रेंसिंग के माध्यम से शुभारंभ किया। इस कार्यक्रम को राष्टीय विज्ञान प्रतिभा खोज डिजिटल परीक्षा के रूप में जाना जाता है। इस वर्ष इसमें देश के सभी राज्यों और निकटवर्ती 6 देशों के हजारों विद्यार्थी भाग ले रहे हैं। यह परीक्षा अंतरराष्ट्रीय मानकों के अनुसार ओपन बुक के माध्यम से होगी।

डा. हर्ष वर्धन ने कहा कि इससे पहले 9000 स्कूलों के 10 लाख से अधिक विद्यर्थी पिछले 3 वर्ष में विज्ञान विद्यार्थी मंच के संपर्क में आये और उन्होंने भारतीय वैज्ञानिकों और उनकी उपलब्धियों की जानकारी प्राप्त की। डा. हर्ष वर्धन ने कहा कि विज्ञान विद्यार्थी मंच नए तरीकों से बच्चों में प्रतिभा विकसित करने का प्रेरणादायक प्रकल्प है। विज्ञान विद्यार्थी मंच के अंतर्गत स्कूल स्तर पर, राज्य स्तर पर और राष्ट्रीय स्तर पर प्रतिभा के चयन के प्रयास किए जाते हैं। विद्यार्थी विज्ञान मंथन का उद्देश्य भारत की समृद्ध सांस्कृतिक विरासत और आद्युनिक विज्ञान के विकास में योगदान प्रदान करना है। विद्यार्थी विज्ञान मंथन के मंच से सृजनात्मक, नवाचार, कौशल परीक्षण, नेतृत्व क्षमता और वैज्ञानिक खेलों के माध्यम से विद्यार्थियों की प्रतिभा की पहचान करना है। विद्यार्थी विज्ञान मंथन विगत 8 वर्षों से विद्यार्थियों में विज्ञान के प्रति रुचि विकसित कर रहा है और उन्हें विज्ञान की खोज में सक्रिय प्रयास करने की प्रेरणा भी दे रहा है।

 डा. हर्ष वर्धन ने बताया कि इस वर्ष के आयोजन में राष्ट्रव्यापी विशाल एक्सपेरिमेंट भी किया जा रहा है कि इसमें विद्यार्थियों को भोजन की आदतों, भोजन के पोषक तत्वों, स्वास्थ्य पर इसके प्रभाव की जानकारी देनें की एक ऐसी पहल की जा रही है, जिससे विद्यार्थी भोजन और अपने स्वास्थ्य के प्रति जागरूकता विकसित कर सकेंगे। सात्विक भोजन से सात्विक विचारों का विकास होता है।  उन्होंने बताया कि स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के तहत 
भारतीय खाद्य संरक्षा एव मानक प्राधिकरण  में ईट राइट अभियान की शुरुआत की थी। जिसके बाद ईट राइट इंडिया कार्यक्रम से व्यापक तौर पर सही खान पान के प्रति जागरूकता विकसित की गई। इसे देखकर विश्व स्वास्थ्य संगठन ने दक्षिण पूर्वी देशों में ईट राइट अभियान की शुरुआत करने पर विचार किया।

डा. हर्ष वर्धन ने कहा कि हमारे देश की जनसंख्या में 65 प्रतिशत युवा हैं जिनकी प्रतिभा देश को नई दिशा दे सकती है। यह युवा वर्ग 135 करोड़ लोगों को  प्रधानमंत्री द्वारा 2022 तक नया भारत बनाकर आशीर्वाद देने के काम में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है। डा. हर्ष वर्धन ने आशा व्यक्त की कि विद्यार्थी विज्ञान मंथन 2020-21 सफल होगा और इससे विज्ञान की प्रासंगिकता बढ़ेगी। इस अवसर पर विज्ञान भारती के राष्ट्रीय संगठन सचिव श्री जयंत सहस्रबुद्धे उपस्थित रहे जबकि  विडियो क्रांफ्रेंसिंग के माध्यम से विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय के सचिव प्रो. आशुतोष शर्मा, भारतीय वैज्ञानिक एवं औद्योगिक अनुसंधान परिषद के महानिदेशक डा. शेखर माड़े, विज्ञान प्रसार के निदेशक श्री नकुल पराशर, श्री विश्वजीत शाहा, श्री ए एन रामचंद्रन और सुश्री मयूरी दास उपस्थित रहीं।


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Education
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like