GMCH STORIES

हिन्दुस्तान जिंक लिमिटेड : ३१ दिसंबर २०२० को समाप्त तीसरी तिमाही और नौमाही के नतीजे

( Read 2924 Times)

20 Jan 21
Share |
Print This Page

हिन्दुस्तान जिंक लिमिटेड : ३१ दिसंबर २०२० को समाप्त तीसरी तिमाही और नौमाही के नतीजे

अब तक का सबसे अधिक अयस्क उत्पादन; भूमिगत ऑपरेषन अपनाने के बाद से न्यूनतम नौमाही उत्पादन लागत

तिमाही की झलकियां

खनित धातु उत्पादनः २४४केटी

रिफाइन्ड धातु उत्पादनः २३५केटी

बिक्रीयोग्य चांदी का उत्पादनः १८३एमटी

जिंक सीओपीः ९४६ डॉलर प्रति एमटी

उदयपुर,  जिंक, सीसा और चांदी की अग्रणी वैष्विक एकीकृत उत्पादक हिन्दुस्तान जिंक लिमिटेड ने ३१ दिसंबर २०२० को समाप्त तीसरी तिमाही और नौमाही के वित्तीय परिणाम घोषित किए हैं।

तीसरी तिमाही के प्रदर्षन पर सीईओ श्री अरुण मिश्रा ने कहाः ‘‘कोविड की वजह से चुनौतीपूर्ण परिचालन परिवेष के बावजूद हमने एक बार फिर रिकॉर्ड उत्पादन किया है। बुनियादी पहलुओं पर हमारे ध्यान की बदौलत हम चौथी तिमाही में भी हम लक्षित उत्पादन हेतु परिचालन करेंगे और अगले वित्त वर्ष के लिए सही भूमिका तैयार कर देंगे। अपनी खदानों और स्मैल्टर्स में कार्यकुषलता बढाने के लिए हम तकनीक पर जोर दे रहे हैं और इससे भी खास यह है कि हम इस चुनौतीपूर्ण समय में सुरक्षित परिचालन सुनिष्चित कर रहे हैं।‘‘

 

सीएफओ श्री स्वयम् सौरभ ने कहाः ‘‘हम अत्याधुनिक तकनीक में निवेष और अपने परिचालनों में डिजिटलीकरण बढाने के लिए प्रतिबद्ध हैं। साथ ही ढांचागत लागत में कमी लाने वाली पहलों से हमें संवहनीय निम्न स्तर तक लागत घटाने में मदद मिली है। कार्यषील पूंजी के सही इस्तेमाल के जरिए हमने उन्मुक्त नकदी प्रवाह पर दृढता से ध्यान दिया जिसके फलस्वरूप हम उद्योग-अग्रणी षेयरधारक रिटर्न दे सके। हम दुनिया भर के अपने साथियों के लिए नए बेंचमार्क तय करते रहेंगे और सभी स्टेकहोल्डर्स के लिए दीर्घकालिक लाभ की रचना करेंगे।‘‘

 

 

 

 

परिचालनीय प्रदर्षन

टोटल माइन्ड मेटल (एमआईसी) प्रोडक्षन यानी खदानों में हुआ उत्पादन इस तिमाही बीते वर्ष की समान अवधि से ४ प्रतिषत अधिक २४४केटी रहा। उच्चतर अयस्क उत्पादन आंषिक रूप से, थोडे कमतर समग्र मेटल ग्रेड्स द्वारा ऑफसैट कर दिया गया। उच्चतर अयस्क उत्पादन के चलते क्रमिक रूप से एमआईसी उत्पादन २ प्रतिषत बढा। वि.व.२१ की नौमाही में एमआईसी उत्पादन ६८४केटी रहा यह बीते वर्ष के मुकाबले २ प्रतिषत अधिक है। उच्चतर अयस्क उत्पादन, थोडे कमतर मेटल ग्रेड्स द्वारा ऑफसैट हुआ।

 

बीते वर्ष की तीसरी तिमाही के मुकाबले इस तिमाही एकीकृत धातु उत्पादन ७ प्रतिषत अधिक २३५ केटी रहा। एकीकृत जिंक उत्पादन पिछले साल से २ प्रतिषत अधिक १८२केटी रहा जबकि एकीकृत सीसा उत्पादन २८ प्रतिषत ज्यादा ५२केटी रहा, यह समर्पित पायरो-लैड स्मैल्टर ऑपरेषन की वजह से हुआ। एकीकृत चांदी उत्पादन बीते साल से २३ प्रतिषत अधिक १८३ एमटी रहा; उच्चतर सीसा उत्पादन आंषिक रूप से एसके में कमतर ग्रेड्स द्वारा ऑफसैट हुआ। क्रमिक रूप से एकीकृत धातु उत्पादन निम्न कंसन्ट्रेट ट्रीटमेंट की वजह से १ प्रतिषत कम रहा। एकीकृत चांदी उत्पादन १० प्रतिषत कम था, क्रमिक रूप से सीसा उत्पादन कम था और एसके में कमतर ग्रेड्स थे। वि.व.२१ की नौमाही में परिश्कृत धातु उत्पादन ४ प्रतिषत बढकर ६७४केटी रहा खदान में धातु की उपलब्धता के अनुसार। जबकि नौमाही में चांदी उत्पादन १४ प्रतिषत बढकर ५०३ एमटी रहा, यह उच्चतर सीसा उत्पादन और एसके में उच्चतर धातु ग्रेड्स के अनुसार रहा।

 

वित्तीय प्रदर्षन

इस तिमाही परिचालन से रु. ५,९१५ करोड का रेवेन्यू अर्जित किया गया जो कि बीते वर्ष की समान अवधि से २८ प्रतिषत अधिक है। उच्चतर धातु परिमाण, जिंक व चांदी की उच्चतर कीमतों और रुपया गिरने से आंषिक तौर पर सीसे की कमतर कीमतों द्वारा ऑफसैट हो जाने से रेवेन्यू में यह बढत मिली। इस साल, इस तिमाही जिंक की बिक्री ६ प्रतिषत और सीसे की बिक्री ३० प्रतिषत बढी, यह उच्चतर उत्पादन और दमदार मांग की वजह से मुमकिन हुआ।

 

क्रमिक रूप से रेवेन्यू ७ प्रतिषत ऊपर था, यह मुख्यतः जिंक की उच्चतर कीमतों, उच्चतर मेटल प्रीमियम, रुपये की गिरावट द्वारा आंषिक ऑफसैट से हुआ। एलएमई कीमतें क्रमिक रूप से १३ प्रतिषत ऊपर थीं, सीसे की कीमतें १ प्रतिषत ऊपर थीं।

 

इस तिमाही रॉयल्टी से पहले जिंक की उत्पादन लागत (सीओपी) ९४६ डॉलर (रु. ६९,७४४) प्रति एमटी रही, साल-दर-साल के हिसाब से यह १२ प्रतिषत कम और क्रमिक रूप से ३ प्रतिषत ऊंची रही। तिमाही में सीओपी पर एक-बारगी होने वाले ऐम्पलॉई पेआउट का असर पडा जो २० डॉलर प्रति एमटी के समकक्ष होता है। वि.व.२१ की नौमाही में सीओपी बीते वर्ष की समान अवधि के मुकाबले १० प्रतिषत कम ९५८ डॉलर रही। तिमाही और नौमाही में सीओपी को ढांचागत लागत घटाने की जारी पहलकदमियों से लाभ मिला, तीसरी तिमाही में खदान विकास में क्रमिक बढोतरी से आंषिक ऑफसैट हुआ।

 

पिछली तिमाही से हमारा फोकस अहम प्राथमिकताओं के निश्पादन हेतु जारी रहा। यह सभी मोर्चों पर था जिनमें खपत, कॉन्ट्रैक्टिंग, प्रोक्योरमेंट और फिक्स्ड कॉस्ट षामिल हैं और परिणामस्वरूप लागत में कमी आई।

 

इस तिमाही में ईबीआईटीडीए बढकर रु. ३,३१४ करोड हो गया, बीते वर्ष के मुकाबले ४५ प्रतिषत अधिक और १२ प्रतिषत क्रमिक रूप से उच्चतर रेवेन्यू और अच्छी प्रकार प्रबंधित परिचालन लागत की वजह से।

 

इस तिमाही षुद्ध लाभ रु. ,२०० करोड रहा, बीते वर्ष से ३६ प्रतिषत अधिक और १३ प्रतिषत क्रमिक रूप से धातु की कीमतों में रिकवरी और कडे लागत अनुषासन की वजह से।

 

आउटलुक

पूर्व में, हमें मार्गदषन मिला था कि वि.व.२१ में खनन धातु और तैयार धातु उत्पादन (९२५-९५० केटी प्रत्येक) तथा ६५०एमटी बिक्री योग्य चांदी का उत्पादन किया जाए। हमने जिंक की उत्पादन लागत को प्रति एमटी १००० डॉलर से नीचे रखा और वर्ष के लिए प्रोजेक्ट कैपेक्स १०० मीलियन डॉलर व १४० मीलियन डॉलर के बीच है।

 

लगातार दमदार प्रदर्षन से हमें विष्वास है कि हम खनन धातु और परिश्कृत धातु के लक्ष्य हासिल कर लेंगे। हम चांदी के उत्पादन और वि.व.२१ में उत्पादन लागत पर बेहतर काम करेंगे।

 

विस्तार परियोजनाएं

जावर खदान विस्तार के लिए पर्यावरण और वन मंत्रालय से पर्यावरणीय मंजूरी (ईसी) मिल गई है, जिससे उत्पादन वर्तमान ४० लाख एमटी प्रति वर्ष से बढ कर ४८ लाख एमटी प्रति वर्ष हो जाएगा। चंदेरिया जिंक स्मैल्टर को भी वर्तमान ४.२० लाख एमटी सालाना से उत्पादन बढाकर ५ लाख एमटी सालाना करने के लिए विस्तार की मंजूरी मिल चुकी है।

 

इस तिमाही जावर माइंस में दोनों बैक-फिल प्लांट्स को कमिषन कर दिया गया। ये प्लांट्स परिचालन में जोखिम घटाएंगे और खम्भों में बचे रह गए हाई ग्रेड अयस्क के खनन का अवसर देंगे।

 

कोविड-१९ संबंधी प्रतिबंधों के अलावा चीनी नागरिकों के लिए कडे वीजा दिषानिर्देष इस तिमाही में रहे जिसके चलते चंदेरिया में फ्यूमर प्लांट की कमिषनिंग में देरी हुई। इसके तत्काल हल के लिए हम सक्रियता से वैकल्पिक समाधान तलाष रहे हैं।

 

नकदी और निवेष

३१ दिसंबर २०२० को कंपनी की सकल नकदी और नकदी समकक्ष रु. २१,०२४ करोड थे जबकि दूसरी तिमाही में यह आंकडा रु. २७,६३१ करोड था।

 

३१ दिसंबर २०२० को कंपनी की षुद्ध नकदी और नकदी समकक्ष रु. १०,९८७ करोड थे जबकि दूसरी तिमाही में यह आंकडा रु. १७,८३२ करोड था और इसे उच्च क्वालिटी के डेट इंस्ट्रूमेंट्स में निवेष किया गया।


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Headlines , Zinc News
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like