GMCH STORIES

कलक्टर ने जानी जिले में टीकाकरण की प्रगति

( Read 2335 Times)

10 Jun 21
Share |
Print This Page
कलक्टर ने जानी जिले में टीकाकरण की प्रगति

उदयपुर, कोरोना की दूसरी लहर के नियंत्रण में आने के साथ ही प्रशासन ने संभावित तीसरी लहर से निपटने की तैयारी शुरू कर दी है। इसके लिए वेक्सीनेशन की गति बढ़ाने के साथ ही अस्पतालों में मेडिकल संसाधनों की उपलब्धता भी सुनिश्चित करने में प्रशासन जुट गया है।
इसी कड़ी में जिला कलक्टर चेतन देवड़ा ने बुधवार को जिले के सभी उपखण्ड अधिकारियों, बीसीएमओ, बीईईओ और बीडीओ की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बैठक ली। डीओआईटी स्थित वीडियो कॉन्फ्रेंस रूम से कलक्टर देवड़ा ने अधिकारियों से जिले में टीकाकरण की प्रगति जानी और टीकाकरण में तेजी लाने के निर्देश दिए। इस अवसर पर एडीएम (प्रशासन) ओ.पी. बुनकर, जिला परिषद सीईओ डॉ. मंजू, नगर निगम आयुक्त हिम्मत सिंह बारहठ, सीएमएचओ डॉ. दिनेश खराड़ी, आरसीएचओ डॉ. अशोक आदित्य भी उपस्थित थे।
ग्रामीण क्षेत्रों में जारूकता जरूरी
कलक्टर देवड़ा ने जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में टीकाकरण की गति बढ़ाने पर जोर देते हुए कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों और जनजाति बाहुल्य वाले इलाकों में टीकाकरण के लिए लोगों को जागरूक करने की जरूरत है। इस कार्य में जनप्रतिनिधियों, एनजीओ, स्वयं सहायता समूहों की भी मदद ले सकते हैं। ग्रामीण क्षेत्रों में जनप्रतिनिधियों, सरकारी कर्मचारियों को टीकाकरण के लिए आगे आना चाहिए, इससे सकारात्मक माहौल बनेगा। उन्होंने कम टीकाकरण वाले क्षेत्रों में माइक्रो मैनेजमेंट पर ध्यान देने, घर-घर जाकर समझाइश करने और लोगों को टीका लगवाने के लिए घर से लाने और वापस छोड़ने की व्यवस्था करने के निर्देश दिए।
जरूरत पड़ने पर सेशन साइट बढ़ाएं
कलेक्टर ने कहा कि लोगों में टीके को लेकर जागरुकता आई है और यही वजह है कि कई साइटों पर लोगों की भीड़ उमड़ रही है। ऐसे में सेशन साइट बढ़ाई जाए और ऑफलाइन पंजीकरण भी किया जाए। उन्होंने कहा कि जो लोग टीका लगवाना चाहते हैं, उन्हें टीका लगाएं। इसके लिए ऑनलाइन या ऑफलाइन जो भी व्यवस्था करनी पडे़, अधिक से अधिक लोगों का टीकाकरण करना हमारा प्राथमिक लक्ष्य है।
कोरोना अभी गया नहीं
वीसी के दौरान कलक्टर ने 45 प्लस और 18 प्लस आयु वर्ग के टीकाकरण की वर्तमान स्थिति जानी और आगे की रणनीति पर चर्चा की। जिले में सैम्पलिंग और डोर-टू-डोर सर्वे की समीक्षा करते हुए कलक्टर ने कहा कि कोरोना अभी गया नहीं है, इसलिए जिले में सैम्पलिंग और डोर-टू-डोर सर्वे जारी रहना चाहिए। अनलॉक की प्रक्रिया के दौरान कोरोना प्रोटोकॉल और निर्धारित गाइडलाइन का पालन करना बहुत जरूरी है।


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Udaipur News
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like