GMCH STORIES

बुद्ध जयंती पर संस्कृतभारती द्वारा आयोजित व्याख्यानमाला

( Read 4010 Times)

08 May 20
Share |
Print This Page

बुद्ध जयंती पर संस्कृतभारती द्वारा आयोजित व्याख्यानमाला

संस्कृतभारती उदयपुर द्वारा महात्मा बुद्ध जयंती(वैशाख मास की पूर्णिमा- बुद्ध पूर्णिमा) के अवसर पर बुद्ध एवं संस्कृत साहित्य" और "वैश्विक परिप्रेक्ष्य में बौद्ध दर्शन " विषय पर ऑनलाइन व्याख्यानमाला का आयोजन किया गया, जिसमें समाज में महात्मा बुद्ध के जीवन चरित्र एवं उनकी संस्कृतनिष्ठा, समाज में करुणाा एवं सेवा का भाव मुख्य रूप से चर्चा का केंद्र रहा।

संस्कृतभारती के प्रांत प्रचार प्रमुख डॉ यज्ञ आमेटा ने बताया कि बुद्ध जयंती के इस अवसर पर आयोजित इस व्याख्यानमाला में संपूर्ण चित्तौड़ प्रांत के 12 जिलों से 93 संस्कृत अनुरागियों ने हिस्सा लिया।

मुख्य वक्ता प्रांत संगठन मंत्री देवेंद्र पंड्या ने महात्मा बुद्ध को विश्व में शांति व करुणा का दूत बताते हुए कहा कि महात्मा बुद्ध ने आत्मा के उत्थान व चरित्र निर्माण का संपूर्ण विश्व में संदेश दिया तथा उन्होंने बताया कि बुद्ध के उपदेशों में चार आर्य सत्य व अष्टांगिक मार्ग के माध्यम से वर्तमान समय में वैश्विक कोरोना महामारी व आर्थिक मंदी से लड़ने का नैतिक बल मिलता है। वर्तमान परिप्रेक्ष्य में बुद्ध की शिक्षा हमारा मार्ग प्रशस्त करती है। 

इस अवसर पर नाथद्वारा राजकीय महाविद्यालय के संस्कृत व्याख्याता डॉ कृष्ण कुमार कुमावत ने बुद्ध व संस्कृत साहित्य विषय पर अपने विचार रखे।

 इस अवसर पर उदयपुर सहित प्रान्त के  100 से अधिक कार्यकर्ताओं ने  महात्मा बुद्ध के जीवन चरित्र उनके गुणों एवं उनकी शिक्षा व संस्कारों  को अधिक से अधिक समाज में पहुंचाने की दृष्टि से सोशल मीडिया जिसमें ट्वीटर, इंस्टाग्राम फेसबुक व्हाट्सएप्प आदि सोशल मीडिया के माध्यम से महात्मा बुद्ध के जीवन चरित्र को प्रसारित किया गया। 

इस अवसर पर आयोजित व्याख्यानमाला में राजसमंद जिले से नाथद्वारा राजकीय महाविद्यालय के संस्कृत व्याख्याता कृष्ण कुमार कुमावत, अजमेर से डॉक्टर आशुतोष पारीक, कोटा से सरिता भार्गव, बूंदी से डॉ पूर्ण चंद्र उपाध्याय, कोटा से प्रांत महिला प्रमुखा दिव्या ढूंढारा, उदयपुर से प्रचार प्रमुखा रेखा सिसोदिया, बूंदी से रविंद्र शर्मा, ब्यावर से ज्योति चांवरिया व अजमेर से गरिमा मौर्या, बूंदी से संगीता राठौड़ व कविता, झालावाड़ से वीना कुमारी हाड़ा व आत्माराम गुर्जर, सावर से प्रांत शिक्षण प्रमुख मधुसूदन शर्मा व अनिरुद्ध शर्मा, भीलवाड़ा से परमानंद प्रमोद व परमेश्वर कुमावत, डूंगरपुर से प्रदीप भट्ट आदि ने महात्मा बुद्ध पर अपने विचार प्रस्तुत किए।


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Udaipur News
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like