BREAKING NEWS

दो दिवसीय आवासीय विज्ञान तकनीकी नवाचार कार्यशाला का शुभारम्भ

( Read 3590 Times)

07 Feb 20
Share |
Print This Page

दो दिवसीय आवासीय विज्ञान तकनीकी नवाचार कार्यशाला का शुभारम्भ

झालावाड़   राष्ट्रीय अविष्कार अभियान योजनान्तर्गत जिला परियोजना समन्वयक समग्र शिक्षा अभियान झालावाड़ द्वारा चाहत रिसोर्ट में दो दिवसीय आवासीय विज्ञान तकनीकी नवाचार कार्यशाला का शुभारम्भ गुरूवार को हुआ। 
कार्यशाला में विज्ञान, गणित तथा बोर्ड परीक्षाओं में श्रेष्ठ परिणाम देने वाले प्राचार्यों को मुख्य अतिथि के रूप में सम्बोधित करते हुए सहायक निदेशक सूचना एवं जनसम्पर्क हेमन्त सिंह ने कहा कि विज्ञान शब्द का प्रयोग ज्ञान की ऐसी शाखा के लिये करते हैं, जो तथ्यों और सिद्धान्तों के प्रयोग और परिकल्पना से स्थापित और व्यवस्थित होती है। उन्होंने कहा कि निरन्तर शोध से ही विज्ञान को गति और स्थायित्व मिलता है। विज्ञान विषय को रूचिकर बनाकर खेल-खेल में बच्चों को मॉडल्स के माध्यम से समझाएं। विज्ञान में शोध नहीं होंगे तो हम मध्यकाल के समान ही वर्तमान काल में अन्य देशों से पिछड़ जाएंगे। एपीसी समसा आबिद खान ने शिक्षकों से कहा कि वे ग्रामीण क्षेत्र में पढ़ रहे बच्चों में विज्ञान के प्रति रूचि पैदा करें ताकि अधिक से अधिक बच्चे विज्ञान और गणित विषय लें और हमें भविष्य में अच्छे वैज्ञानिक और गणितज्ञ मिल सकें। 
जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक रंगलाल मीणा ने बताया कि राष्ट्रीय अविष्कार अभियान योजनान्तर्गत दो दिवसीय आवासीय विज्ञान तकनीकी नवाचार कार्यशाला का आयोजन किया जा रहा जिसमें विषय विशेषज्ञों द्वारा परमाणु विज्ञान, अंतरिक्ष विज्ञान, रोबोटिक विज्ञान, विज्ञान-गणित शोध एवं नवाचार, कृत्रिम बुद्धिमत्ता, चिकित्सा एवं अनुवांशिकी विज्ञान, विज्ञान एवं गणित किट का उपयोग पर व्याख्यान दिये जा रहे हैं। इसमें जिले भर से 75 विज्ञान, गणित विषयों के शिक्षक एवं बोर्ड परीक्षाओं में 95 प्रतिशत से अधिक परिणाम देने वाले राजकीय विद्यालयों के प्राचार्य भाग ले रहे हैं। 
गैर सरकारी संगठन ‘रूम टू रिड’ की जिला समन्वयक अदिती शुक्ला ने बताया कि 9वीं एवं 10वीं में पढ़ने वाली छात्राएं विज्ञान विषय से डरती हैं। इन विषयों को रूचिकर बनाकर पढ़ाया जाए तो अधिक संख्या में छात्राएं विज्ञान एवं गणित विषयों का चयन कर अध्ययन करेंगी। पॉलिटेक्निक कॉलेज के व्याख्याता सौरभ गौतम ने कृत्रिम बुद्धिमत्ता, सूर्यप्रकाश ने परमाणु विज्ञान, हीरेन्द्र बागड़ी ने रोबोटिक विज्ञान विषय पर व्याख्यान दिया। कार्यशाला का संचालन कार्यक्रम अधिकारी मनोहरलाल सोनी ने किया। इस दौरान सहायक परियोजना समन्वयक डॉ. हेमन्त शर्मा एवं कार्यक्रम अधिकारी शमशुद्दीन उपस्थित रहे। 


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Rajasthan
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like