GMCH STORIES

वीरों की धरती को रेलमंत्री अश्विनी वैष्णव ने झंडी दिखाकर सैनिक एक्सप्रेस ट्रेन का तोहफ़ा दिया

( Read 811 Times)

13 May 22
Share |
Print This Page

वीरों की धरती को रेलमंत्री अश्विनी वैष्णव ने झंडी दिखाकर सैनिक एक्सप्रेस ट्रेन का तोहफ़ा दिया

श्रीगंगानगर । रेल, संचार, इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री श्री अश्विनी वैष्णव ने गुरुवार को शेखावाटी क्षेत्र के निवासियां और इस क्षेत्र के सैनिकों की बहुप्रतिक्षित मांग को पूरा करते हुये जयपुर-दिल्ली सराय रोहिल्ला-जयपुर सैनिक एक्सप्रेस रेलसेवा के त्रि-साप्ताहिक से प्रतिदिन व दिल्ली सराय रोहिल्ला के स्थान पर दिल्ली तक विस्तार के संचालन को नई दिल्ली से वीडियों कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया।
 उत्तर पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी कैप्टन शशि किरण ने बताया कि इस अवसर पर सीकर स्टेशन पर सांसद सीकर श्री सुमेधानंद सरस्वती, सांसद झुन्झुनू श्री नरेन्द्र कुमार, जिला प्रमुख.सीकर श्रीमती गायत्राी कंवर, चेयरमैन नगरपरिषद सीकर श्री जीवण खां व अन्य गणमान्य अतिथिगण उपस्थिति थे।
 उन्होने बताया कि राजस्थान के सीकर व झुन्झुनू जिले शेखावाटी क्षेत्र के अन्तर्गत आते है और इस क्षेत्र के काफी नौजवान भारतीय सेना में कार्यरत है तथा इन्होनें सेना में देश व अपने क्षेत्र का नाम रोशन कर इस क्षेत्र को विशेष पहचान दी है। इस क्षेत्र के सैनिक, आवागमन के लिये रेल का उपयोग करते है, इसी को देखते हुये मीटर गेज के समय से ही जयपुर-दिल्ली वाया सीकर के मध्य यह रेलसेवा सैनिक एक्सप्रेस के नाम से संचालित की जा रही है। यह रेलसेवा सैनिकों में विशेष लोकप्रिय है। इस रेलसेवा के प्रतिदिन और दिल्ली तक विस्तार होने से सैनिकों एवं आमजन को दिल्ली तक रेल परिवहन उपलब्ध होगा और दिल्ली से आगे गंतव्य तक जाने के लिये उपलब्ध रेलसेवाओं के माध्यम से सम्पर्क स्थापित होगा।
 उन्होने बताया कि शेखावाटी क्षेत्र पर्यटन, सेना एवं शिक्षा की दृष्टि से अत्यंत महत्वपूर्ण स्थान माना जाता है। पिलानी एवं लक्ष्मणगढ़ की गिनती भारत के प्रसिद्ध शिक्षा क्षेत्रों के रुप में की जाती है। इस क्षेत्र में स्थित खाटू, सालासर, जीणमाता, शाकम्भरी माता आदि पहाडों में सुरम्य स्थानों पर बने धार्मिक स्थान पूरे भारत में पहचान रखते हैं। आस्था के इन केन्द्रों पर वर्ष भर श्रद्धालुओं का आना जाना लगा रहता है। सैनिक एक्सप्रेस के प्रतिदिन संचालित होने और दिल्ली तक विस्तार होने से इस क्षेत्र में पर्यटन को बढावा मिलेगा साथ ही सामाजिक व शैक्षणिक गतिविधियों को भी बढावा मिलेगा।
 इस अवसर पर रेल, संचार, इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री श्री अश्विनी वैष्णव ने समस्त मंचस्थ अतिथियों का स्वागत करते हुए स्थानीय सीकर एवं झुन्झुनू सांसदों के स्थानीय क्षेत्रा के लिए दिन-रात मेहनत करने को सराहा। उन्होंने राजस्थान की गौरवमयी विरासत को याद करते हुए कहा कि इस क्षेत्र के लोग सेना के समस्त अंगों में अपनी सेवायें दे रहे है, ऐसी जगह पर सैनिक एक्सप्रेस नाम से रेलसेवा का संचालन अपना विषेष महत्व रखता है।
 इस अवसर पर सांसद (सीकर) श्री सुमेद्यानन्द सरस्वती ने मीटरगेज समय से ही संचालित इस सैनिक एक्सप्रेस को प्रतिदिन संचालित करने की चिर-प्रतिक्षित मांग को पूरा करने के लिए रेलमंत्री एवं रेलवे अधिकारियों को धन्यवाद देते हुए कहा कि इस रेलसेवा के प्रतिदिन संचालन से शेखावाटी क्षेत्र के सैनिक एवं व्यापारी भाईयों को, जो कि सम्पूर्ण भारतवर्ष में है उनको निःसंदेह लाभ प्राप्त होगा। सीकर जो कि शिक्षा के क्षेत्र में अपनी अलग पहचान रखता है, उसको भी और गति मिलेगी। जल्द ही यहां के निवासियों को प्रयागराज के लिए भी रेलसेवा मिल जायेगी एवं उन्होंने नई ट्रेनों और ठहरावों एवं सीकर स्टेशन पर द्वितीय प्रवेश द्वार की मांग की।
 इस अवसर पर सांसद (झुन्झुनू) श्री नरेन्द्र कुमार ने कहा कि झुन्झुनू-सीकर के निवासियों की लम्बे समय की मांग आज पूरी हो रही है। इस रेलसेवा के प्रतिदिन संचालन से यहां के निवासियों को जयपुर एवं दिल्ली की और जाने के लिए अधिक सुविधा प्राप्त हो गई है साथ ही व्यापारी को लाभ प्राप्त होगा। उन्होंने दुरंतो एवं अरावली एक्सप्रेस के ठहराव की भी मांग की।
 शुभारम्भ समारोह में रेलवे बोर्ड के चेयरमैन एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री वी. के. त्रिपाठी ने स्वागत संबोधन में कहा कि राजस्थान का शेखावाटी क्षेत्र उत्ृकष्ठ शिक्षा संस्थानों, हवेलियों एवं सेना के जवानों के लिए प्रसिद्ध है। यहां के उद्योगपतियों ने भी अलग पहचान स्थापित की है। इस क्षेत्र के लिए हर संभव सुविधाऐं उपलब्ध करवाने के लिए रेलवे सदैव प्रयासरत है।
 इस अवसर पर उत्तर पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक श्री विजय शर्मा ने स्वागत संबोधन में उत्तर पश्चिम रेलवे की उपलब्धियों के बारे में संक्षिप्त जानकारी देते हुए बताया कि रेलवे पर विभिन्न निर्माण परियोजनाओं को समय सीमा में पूर्ण किया जा रहा है। यात्राी सुविधाओं के कार्यों को भी प्राथमिकता के साथ पूरा किया जा रहा है।
 इस समारोह में रेलवे बोर्ड के अन्य अधिकारीगण वीडियों कॉन्फेसिंग के माध्यम से एवं सीकर में श्री नरेन्द्र, मण्डल रेल प्रबंधक, जयपुर सहित रेलवे प्रधान कार्यालय एवं मण्डल कार्यालय के अधिकारीगण उपस्थित रहे। जयपुर-दिल्ली-जयपुर सैनिक एक्सप्रेस रेलसेवा का नियमित संचालन 13 मई 2022 से प्रतिदिन किया गया है। 


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Headlines , Shri Ganga NagarNews ,
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like