BREAKING NEWS

इसरो, २०१९-२० को भारतीय अंतरिक्ष कार्यक्रम के प्रणेता डा. विक्रम एण् साराभा* की जन्म शताब्दी के रूप में मना रहा है

( Read 1675 Times)

06 Nov 19
Share |
Print This Page

 इसरो, २०१९-२० को भारतीय अंतरिक्ष कार्यक्रम के प्रणेता डा. विक्रम एण् साराभा* की जन्म शताब्दी के रूप में मना रहा है

भारतीय अतंरिक्ष अनुसंधान सगंठन (इसरो), २०१९-२० को भारतीय अंतरिक्ष कार्यक्रम के प्रणेता डा. विक्रम एण् साराभा* की जन्म शताब्दी के रूप में मना रहा है। उनके इस जन्मषताब्दी वर्श पर इसरो ने अंतरिक्ष विज्ञान से संबंधित ज्ञान को विद्यार्थी समुदाय तक पहुंचाने हेतु देश भर में क* कार्यक्रमों का आयोजन किया है। प्रादेशिक सुदूर संवेदन केंद्र (पश्चिम), रा.सु.सं.कें./इसरो, जोधपुर, राजस्थान राज्य, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग, कोटा कार्यक्रमों का समन्वय कर रहा है एवं इसी के तहत मोदी पब्लिक स्कूल, कोटा में आयोजित किए जा रहे तीन दिवसीय कार्यक्रम (०६ से ०८ नवम्बर, २०१९) का सह-आयोजक है। तथा सम्पूर्ण कार्यक्रम न्युक्लियर फ्यूल कॉम्पलेक्स रावतभाटा तथा जिला शिक्षा अधिकारी कोटा के मार्गदर्शन में किया जाएगा।

परियोजना अधिकारी, भुवनेष षर्मा नें बताया की भारतीय अतंरिक्ष अनुसंधान सगंठन (इसरो) द्वारा आयोजित विक्रम साराभाई षताब्दी कार्यक्रम में उपग्रह प्रक्षेपण यान परियोजना के अंतर्गत एस.एल.वी., ए.एस.एल.वी., पी.एस.एल.वी., जी.एस.एल.वी. के मॉडल प्रदर्षन के लिये रखे गये है। प्रदर्शनी में कोर्टोसेट-१ जो कि भारत का पहला सुदूर संवेदन उपग्रह है, मंगलयान जो कि भारत का प्रथम मंगल अभियान है और चन्द्रयान-१ चन्द्रमा की तरफ कूच करने वाला भारत का पहला अंतरिक्षयान के मॉडल सजाऐ गये हैं।

मॉडल इनसैट-४(ए) जो डायरेक्ट टू होम सेवा प्रदान करने में सक्षम है। सबके आकर्शण का केन्द्र है। कल्पना-१ भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन द्वारा प्र्र्रक्षेपित पहला मौसम समर्पित उपग्रह और इनसैट-२ (ई) जो कि दूरसंचार टेलिवीजन प्रसारण और मौसम विज्ञानीय सेवाओं के लिये बहुउद्देशीय उपग्रह है। भी विज्ञान प्रदर्शनी का अहम् हिस्सा है।

शिक्षण सहायक सामग्री के उद्देश्य से भी कई मॉडल जैसे न्यूटन का खटोला, गुरूत्वाकर्षण टॉवर, चुम्बकत्व का आधार, परिदर्षी , पिनहोल कैमरा, लेंस कैमरा, द्विषंक प्रकाष के प्रतिबिंब सर्कमपोल २ नक्षत्र आदि भी प्रदर्शनी में शामिल हैं। 

विद्यालय में इसरो संस्थान द्धारा आयोजित प्रदर्शनी में चल मॉडल उपकरणों भी होगें। इस कार्यक्रम के तहत अन्य क* कार्यक्रमों जैसे चित्रकला प्रतियोगिता, वाग्मिता तथा प्रश्नोत्तरी प्रतियोंगिता का आयोजन किया जायेगा। जिसमें हाडौती संभाग क* सरकारी व गैर-सरकारी विद्यालय के छात्र-छात्राएं भाग लेंगे। प्रदर्षन जन-सामान्य के लिए निःषुल्क ९ः०० बजे से  ३ः३० तक अवलोकन के लिए उपलब्ध है।


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Kota News , Education
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like