पात्र को लाभ सुनिश्चित करें - आयुक्त टीएडीए

( Read 954 Times)

18 Oct 19
Share |
Print This Page
पात्र को लाभ सुनिश्चित करें - आयुक्त टीएडीए
कोटा (डॉ. प्रभात कुमार सिंघल)  |   आयुक्त जनजाति क्षेत्रीय विकास विभाग उदयपुर शिवांगी स्वर्णकार ने कहा कि जिले में सहरिया समुदाय के सर्वांगीण विकास हेतु विभिन्न योजनाएं चलाई जा रही है जिनका समुचित लाभ पात्र को सुनिश्चित किया जाना चाहिए।
      आयुक्त स्वर्णकार गुरूवार को मिनी सचिवालय सभागार में सहरिया विकास परियोजना के तहत जारी योजनाओं की समीक्षा बैठक को संबोधित कर रही थी। उन्होंने कहा कि जनजाति क्षेत्रीय विकास विभाग जिले में सहरिया समुदाय के सर्वांगीण विकास हेतु प्रतिबद्ध है जिसके तहत शिक्षा, स्वास्थ्य, खाद्यान्न, आधारभूत विकास सहित विभिन्न क्षेत्रों में कल्याणकारी योजनाएं जारी हैं जिसका पूर्ण लाभ लक्षित समुदाय को सुनिश्चित होना चाहिए। 
       सीईओ जिला परिषद बृृजमोहन बैरवा ने पीपीटी प्रजेन्टेशन के माध्यम से सहरिया विकास परियोजना के तहत किशनगंज, शाहबाद में कृषि, पशुपालन, डेयरी की स्वीकृत योजनाओं, सहरिया व खैरवाओं को निशुल्क घी, तेल व दाल के वितरण, शैक्षणिक प्रोत्साहन योजनाएं आदि के संबंध में विस्तृत जानकारी प्रदान की। 
         कलक्टर इन्द्र सिंह राव ने बताया कि सहरिया समुदाय के बच्चे कुपोषण से प्रभावित रहे हैं और इस संबंध में जिले में कार्ययोजना बनाकर पोषण अभियान चलाया जा रहा है जिसके तहत सहरिया समुदाय की 3 हजार एक सो महिलाओं को चिन्हित किया गया है जो एनीमिया अथवा कुपोषण से प्रभावित हैं साथ ही एक हजार 300 बच्चों को चिन्हित किया गया है जो कुपोषण से प्रभावित हैं। इस महिलाओं व बच्चों को संबंधित विभागों के माध्यम से नियमित पौष्टिक आहार सुनिश्चित किया जा रहा है साथ ही बच्चों में नाटापन की समस्या के निस्तारण के लिए केमल (ऊंटनी) मिल्क के वितरण की कार्ययोजना तैयार कर ली गई है और बीकानेर के केमल फार्म से इस संबंध में सम्पर्क स्थापित किया गया है। 
        सीएमएचओ डॉ. संपतराज नागर ने बताया कि जिले के जनजाति क्षेत्र में शिशु एवं बाल रोग विशेषज्ञ नहीं है साथ ही एएनएम के कई पद भी रिक्त हैं इससे समस्या बनी रहती है। इसी क्रम में बारां व शाहबाद के एमटीसी सेन्टर के लिए 2-2 एसी के प्रस्ताव भेजने को कहा गया है जिसे स्वीकृत किया जाएगा।
        पशुपालन विभाग के हरीबल्लभ मीणा ने बताया कि जिले के नवाचार कड़कनाथ मुर्गीपालन के लिए सहरिया परिवारों द्वारा रूचि दर्शाई गई है जिसके तहत उनकों प्रशिक्षण प्रदान कर कड़कनाथ मुर्गीपालन की यूनिट लगाने में अनुदान सहित सहयोग किया जाएगा। डेयरी विकास के तहत किशनगंज शाहबाद क्षेत्र में 5 बल्क मिल्क सेन्टर स्थापित किए गए हैं। इसी क्रम में सहरिया परिवारों को सहरिया किट के तहत निशुल्क घी, दाल, तेल के संबंध में रसद अधिकारी एस.एन. आमेठा ने जानकारी देते हुए बताया कि सरस डेयरी द्वारा घी की आपूर्ति नहीं करने से सहरिया किट के वितरण में देरी हो रही है। 
        अतिरिक्त आयुक्त जनजाति क्षेत्रीय विकास विभाग उदयपुर रामजीवन मीणा ने डेयरी फर्म को शीघ्रता से घी की आपूर्ति सुनिश्चित करने हेतु पाबंद किया जिससे निशुल्क घी, दाल व तेल का सहरिया व खैरवाओं को निर्बाध वितरण किया जा सके। बैठक में सार्वजनिक निर्माण विभाग को पछाड़ व बटावदी के छात्रावासों में स्तरहीन व गुणवत्ताहीन कार्य के लिए रिपोर्ट प्रस्तुत करने को कहा गया। साथ ही आमापुरा छात्रावास में भी खराब लिफ्ट को शीघ्र दुरूस्त करने के निर्देश दिए गए। इस अवसर पर एसडीएम चंदन दुबे, हीरालाल मीणा, बीडीओ राहूल बैरवा सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी मौजूद थे।
आयुक्त जनजाति क्षेत्रीय विकास विभाग उदयपुर शिवांगी स्वर्णकार ने जनजाति छात्रावास बटावदी, आमापुरा, किशनगंज में सहरिया कन्या आवासीय विद्यालय का निरीक्षण भी किया और संबंधित अधिकारियों को व्यवस्थाओं के संबंध में निर्देश दिए।

Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Kota News
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like