logo

राष्ट्रीय अभियन्ता दिवस १५ सितम्बर, २०१८ का आगाज

( Read 857 Times)

15 Sep 18
Share |
Print This Page

राष्ट्रीय अभियन्ता दिवस १५ सितम्बर, २०१८ का आगाज भारत रत्न सर मोक्षगुंडम विश्वेश्वरय्या के जन्म दिवस के उपलक्ष में दिनांक १४ सितम्बर, २०१८ से विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग, क्षेत्रीय कार्यालय, कोटा में प्रदर्शनी के उद्घाटन में मुख्य अतिथि माननीय विधायक कोटा-दक्षिण श्री संदीप शर्मा, विशिष्ट अतिथि ऐलन इंस्टीट्यूट के डायरेक्टर माननीय श्री नवीन माहेश्वरी, कैप्टन आयुष शर्मा एवं अध्यक्षता परियोजना अधिकारी भुवनेश कुमार शर्मा ने की।
यह ज्ञातव्य है कि सर मोक्षगुंडम विश्वेश्वरय्या के जन्म दिवस को राष्ट्रीय अभियन्ता दिवस के रूप में मनाया जाता है। १५ सितम्बर, १८६१ को जन्मे सर मोक्षगुंडम विश्वेश्वरय्या ने वर्ष १८८३ में विज्ञान महाविद्यालय, पूना से बी.ई. की उपाधि प्रथम श्रेणी में प्राप्त की थी। यहा यह भी ज्ञतव्य है कि सर मोक्षगुंडम विश्वेश्वरय्या की देखरेख में कृष्णराज सागर बांध, भ्रदावती आयरन एण्ड स्टील वक्र्स, मैसूर संदल ऑयल एण्ड सोप फैक्ट्री, मैसूर विश्वविद्यालय, बैंक ऑफ मैसूर सहित कई महान उपलब्धियाँ सम्भव हो सकी - उनकी अभूतपूर्व तथा जनहितकारी सेवाओं को देखते हुए वर्ष १९५५ में उन्हें देश के सर्वोच्च सम्मान भारत रत्न से सम्मानित किया गया। भारत सरकार ने यह भी सुनिश्चित किया कि खास मुसाफिर के जन्मदिवस को राष्ट्रीय अभियन्ता दिवस के रूप में मनाया जावें।
इस अवसर पर विज्ञान केन्द्र, क्षेत्रीय कार्यालय, कोटा में आयोजित प्रदर्शनी में सेना के अभियांत्रिकी डिविजन, इन्फेन्टरी डिविजन, एयर डिफेन्स डिविजन सहित इंजीनियरिंग कॉलेज कोटा, पॉलोटेक्निक कॉलेज कोटा आदि अन्यान्य संस्थाओं ने अपने प्रदर्श लगाये जाकर सामान्यजन को आकृष्ट किया - इन प्रदर्शो में प्रमुख रूप से भारतीय सेना द्वारा युद्ध में प्रयोग होने वाले हथियारों जिनमें उच्च कोटि की तकनीक का उपयोग हुआ है एवं जिनकी मारक क्षमता बहुत प्रभावशाली है - ऐसे ऑटोमेटिक वेपन सिस्टम का प्रदर्शन किया गया।
अभियांत्रिकी डिविजन के द्वारा सेना के काम में आने वाले अत्याधुनिक उपकरणों, रडार एवं रासायनिक, जैविक, न्यूक्लियर हमलों से रक्षा करने वाले उपकरणों का प्रदर्शन किया गया एवं एयर डिफेन्स डिविजन के द्वारा अरावली वेपन सिस्टम का प्रदर्शन किया गया।
राष्ट्रीय अभियन्ता दिवस १५ सितम्बर २०१८ को होने के कारण आयोजित प्रदर्शनी दिनांक १५ सितम्बर, २०१८ को प्रातः १०ः०० बजे से सांय ०६ः०० बजे तक जारी रहेगी।
आयोजन में आमंत्रित अतिथिगणों, शिक्षकों, लॉर्ड कृष्णा स्कूल, एस.आर. पब्लिक स्कूल, राजकीय बालिका विद्यालय बल्लभनगर, स्वामी विवेकानन्द सी.सै. स्कूल महावीर नगर, कोटा पॉलिटेक्निक महाविद्यालय, राजकीय पोलिटेक्निक महाविद्यालय के लगभग १००० विद्यार्थियों एवं सामान्यजन ने प्रदर्शो को देखा - उपस्थित सेना के अधिकारियों एवं कोटा पोलिटैक्निक कॉलेज के विद्यार्थियों ने प्रत्येक प्रदर्श के संबंध में सभी को विस्तृमत मार्गदर्शन दिया। इस प्रदर्शनी के माध्यम से जहां आगन्तुकों तकनीकी ध्यान उपलब्ध हुआ वहीं यह सोच भी उत्पन्न हुआ कि भारतीय सेना एवं वैज्ञानिकों के हाथों में देश का भविष्य सुरक्षित है।
परियोजना अधिकारी, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग, क्षेत्रीय कार्यालय कोटा भुवनेश कुमार शर्मा, क्यूरेटर प्रतिभा श्रृंगी, एफ.टी.एल.एल. के काउन्सलर श्री विजय माहेश्वरी ने कोटा के सभी विज्ञान शिक्षकों विद्यार्थियों और विज्ञान से जुडे हुए सामान्यजन को अपील की - कि वह दिनांक १५ सितम्बर, २०१८ को इस कार्यालय में पधार कर उक्त प्रदर्शनी को देखें - साथ ही सेना एवं विद्यार्थियों का मनोबल भी बढावे।


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Kota News
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like