GMCH STORIES

संभागीय आयुक्त ने एमबी चिकित्सालय परिसर का सघन निरीक्षण किया

( Read 3425 Times)

31 Jan 23
Share |
Print This Page
संभागीय आयुक्त ने एमबी चिकित्सालय परिसर का सघन निरीक्षण किया

 उदयपुर के महाराणा भूपाल चिकित्सालय के सुदृढ़ीकरण को लेकर दो दिन से लगातार व्यवस्थाओं का जायजा ले रहे संभागीय आयुक्त राजेन्द्र भट्ट मंगलवार को भी गंभीर दिखे। उन्होंने एमबी हॉस्पीटल के इंमरजेंसी वार्ड से निरीक्षण लेते हुए साफ-सफाई व प्रबंधन सेवाओं का जायजा लिया और वहां मिली विभिन्न कमियों को देखते हुए अस्पताल प्रबंधन को सुधार के सख्त निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि सबसे ज्यादा केस इंमरजेंसी में आते है ऐसे में यहां की व्यवस्थाओं को हाइटेक बनाने की आवश्यकता है और इसके लिए सभी को मिलकर कार्य करना होगा। निरीक्षण दौरान आरएनटी प्राचार्य डॉ. लाखन पोसवाल, एमबी अधीक्षक डॉ. आरएल सुमन, समिति सदस्य समाजसेवी पंकज कुमार शर्मा व अन्य चिकित्साधिकारी आदि मौजूद रहे।
अच्छा नहीं बल्कि खराब देखने आया हूं:
चिकित्साधिकारियों ने यहां नवनिर्मित चमचमाते एमआईसीयू कॉम्पलेक्स की विजिट का आग्रह किया तो संभागीय आयुक्त भट्ट ने कहा कि मैं अच्छा देखते नहीं आया हूं, आप तो नए निर्माण की जगह पुराने और क्षतिग्रस्त भागों को दिखाओ ताकि उसमें सुधार करवाया जा सके। उन्होंने इमरजेंसी में प्रवेश करते ही अव्यवस्थित पार्किंग, पोर्च में क्षतिग्रस्त हो रहा प्लास्टर और भीतर धंसी हुई फर्श को देखकर नाराजगी जाहिर की और चिकित्सालय प्रबंधन को निर्देश दिए कि लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को बुलाकर इसे शीघ्र दुरस्त कराएं।
टॉयलेट की बेहतर सफाई और आकर्षक रंग रोगन के निर्देश:
निरीक्षण दौरान संभागीय आयुक्त भट्ट ने हर शौचालय में जाकर सफाई का जायजा लिया और यहां कई स्थानों पर गंदगी पर नाराजगी जताई। उन्होंने सीलन भरे शौचालयों को दुरस्त करवाने के निर्देश दिए। इसके साथ ही उन्होंने शौचालयों की नियमित व्यवस्थित सफाई, चैनल गेट, फॉल सिलिंग आदि के सुधार पर भी जोर दिया। संभागीय आयुक्त ने कहा कि पूरे परिसर में एक जैसा रंग रोगन हो। कहीं कलर उतर गया है या फीका पड़ा है और जहां रंग रोगन की आवश्यकता है वहां मरम्मत इत्यादि के बाद आकर्षक रंग रोगन करें। वहीं उन्होंने टूटी खिडकियां, दरवाजे, जालियां, रोशनदान आदि के सुधार के भी सख्त निर्देश दिए।
काका हर जगह का फोटो खीचों:
इस विजिट के दौरान संभागीय आयुक्त ने साथ चल रहे फोटोग्राफर से कहा कि काका हर जगह का फोटो खीचों। उन्होंने फोटोग्राफर को साथ लेकर विभिन्न वार्डों, कमरों, खिड़कियों, पोर्च के साथ सभी जगहों के अलग अलग एंगल से फोटो खिचवाएं और कहा कि इन फोटो के अनुसार शीघ्र सुधार हो और मैं पुनः यहां का निरीक्षण करूं तक मुझे बदली हुई तस्वीर चाहिए। उन्होंने हर टूट फूट की ओर ध्यान आकृष्ट करते हुए फोटो खींचवाया।
विजिटिंग चेयर लगाओ:
गैलेरी और प्रतीक्षालय में अव्यवस्थित रूप से बैठे मरीजों के परिजनों को देखकर सभागीय आयुक्त ने इनके बैठने के लिए विजिटिंग चेयर लगाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि बैठक व्यवस्था उपयुक्त ताकि ताकि पर्ची बनवाने आए रोगी और उसके परिजनों को कतार में ना खड़ा रहना पड़े और ना असुविधा हो। उन्होंने चिकित्सालय प्रबंधन से कहा कि यदि कोई खाली भवन हो तो उसमें वेटिंग एरिया विकसित करो।
लटकते तारों को व्यवस्थित करें:
संभागीय आयुक्त द्वारा हॉस्पीटल के विभिन्न स्थानों के निरीक्षण के दौरान बिजली व केबल आदि के तारे लटकते व अव्यस्थित मिले। इस पर आयुक्त भट्ट ने पीडब्ल्यूडी एईएन (इलेक्ट्रिक) दिनेश सालवी को कहा कि लटकते और खुले तार सुरक्षा की दृष्टि व्यवस्थित किए जाने चाहिए। उन्होंने बेतरतीब सभी तारों को एक केसिंग पट्टी में फिट करवाने के लिए उपयुक्त प्रस्ताव तैयार करने के निर्देश दिए।
पूरे अस्पताल के लिए एक जैसे निर्देश हैं मेरे:
संभागीय आयुक्त भट्ट ने विभिन्न वार्डों के भ्रमण दौरान दिखाई गई कमियों को दूर करने के संबंध में पीडब्ल्यूडी एईएन कनिका गंभीर तथा पीडब्ल्यूडी एईएन (इलेक्ट्रिक) दिनेश सालवी को कहा कि पूरे परिसर के लिए मेरे एक जैसे निर्देश हैं। आप पूरे अस्पताल का विजिट करें और जहां भी इस तरह की कमियां मिले उनमें सुधार के लिए उपयुक्त प्रस्ताव तैयार कर प्रस्तुत करें।
3 दिन में तैयार करो प्रस्ताव:
निरीक्षण दौरान संभागीय आयुक्त भट्ट ने मरम्मत व विकास संबंधित प्रस्ताव शीघ्र तैयार करने के निर्देश दिए तो अधिकारियों ने 10 से 15 दिनों में प्रस्ताव तैयार करने की बात कही तो भट्ट ने कहा कि 3 दिन में प्रस्ताव तैयार करो, मैं तीन दिन बाद प्रस्तावों के साथ दोबारा विजिट करूंगा और इसमें अनावश्यक प्रस्तावों को हटवाउंगा और जो आवश्यक काम छूट गए हैं उन्हें जुड़वाउंगा तथा इसी आधार पर आगे की कार्यवाही की जाएगी।
वरना चार्जशीट मिलेगी:
निरीक्षण दौरान कई स्थानों पर कचरे के ढेर देखकर संभागीय आयुक्त भट्ट ने नर्सिंग अधीक्षक तारा सालवी के प्रति नाराजगी दिखाई और कहा कि टूट-फूट की मरम्मत तो हम करवा देंगे परंतु नियमित साफ-सफाई करवाने की जिम्मेदारी तो आपकी है। इस बार तो आप सफाई करवा लो, दोबारा गंदगी मिली तो चार्जशीट मिलेगी।
मोहन से पूछा-कितनी बार पौछा लगाते हो ?ः
निरीक्षण दौरान पौंछा लगा रहे सफाईकर्मी मोहन से संभागीय आयुक्त ने पूछा कि आप कितनी बार पौंछा लगाते हो तो उसने दिन में तीन बार पौंछा लगाने की जानकारी दी। भट्ट ने इस पर उसे पौंछा लगाने का टाईम भी पूछा और बेहतर सफाई रखने के निर्देश दिए।
 180 सीसीटीवी कैमेरों पर एक ऑपरेटर, बिल्कुल गलत:
निरीक्षण दौरान संभागीय आयुक्त भट्ट ने चिकित्सालय में 180 कैमेरों पर मात्र एक ऑपरेटर नियुक्त होने पर आश्चर्य जताया और कहा कि एक व्यक्ति चौबीसों घंटों के लिए सर्वर रूम में ही लगातार विजुअल देखता हुआ रहे। उन्होंने सभी टीवी को एक ही दिशा में लगाने और नियमित मॉनिटरिंग के निर्देश दिए।    


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Headlines , Health Plus
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like