GMCH STORIES

एक माह में होगा एमबी हॉस्पिटल का कायाकल्प

( Read 2946 Times)

30 Jan 23
Share |
Print This Page
एक माह में होगा एमबी हॉस्पिटल का कायाकल्प

 जी-20 शेरपा बैठक के लिए जब जिला प्रशासन पूरे शहर को चमका सकता है तो आप एक हॉस्पिटल को क्यों नहीं चमका सकते, मुझे एक महिने में हॉस्पीटल की सूरत बदली हुई दिखनी चाहिए, इसके लिए जल्द से जल्द कार्ययोजना बनाओ और कार्य पूरा करो।
यह निर्देश संभागीय आयुक्त राजेन्द्र भट्ट ने सोमवार को दोपहर में आरएनटी मेडिकल कॉलेज के बैठक सभागार में एमबी चिकित्सालय और आरएनटी मेडिकल कॉलेज से संबद्ध चिकित्साधिकारियों व राजस्थान मेडिकेयर रिलीफ सोसायटी की महत्वपूर्ण बैठक की अध्यक्षता करते हुए दिए।  
संभागीय आयुक्त भट्ट ने पीडि़त मानवता की सेवा के लिए चिकित्सालय को साफ-सुथरा और संपूर्ण सुविधायुक्त होने की जरूरत बताई और कहा कि यहां आने वाले रोगी को यहां बेहतर माहौल मिलेगा तो आधी बीमारी तो वैसे ही दूर हो जाएगी। उन्होंने चिकित्साधिकारियों को चिकित्सालय के कायाकल्प के लिए पूरी प्रतिबद्धता जताने के निर्देश देते हुए अपने-अपने वार्ड, चिकित्सालय, प्रभाग इत्यादि की आवश्यकताओं के बारे में तत्काल मांग पत्र उपलब्ध कराने के निर्देश दिए तथा संबंधित अधिकारियों को तदनुरूप बजट आवंटन की बात कही। बैठक दौरान संभागीय आयुक्त ने टीबी हॉस्पीटल में वार्ड निर्माण के लिए तीन करोड़ रुपयों तक का बजट उपलब्ध कराने की बात की वहीं एमबी हॉस्पीटल की कायाकल्प के लिए आवश्यक प्रस्ताव तत्काल प्रभाव से प्रस्तुत करने के निर्देश दिए।
चकाचक सफाई और रंगरोगन भी:
संभागीय आयुक्त भट्ट ने चिकित्सालय के सभी वार्डों, परिसर और प्रभागों में चकाचक सफाई व आकर्षक रंगरोगन के साथ रंग-बिरंगी पेंटिंग करवाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि पुराने गद्दे, चद्दर, तकियों को बदलने, शौचालय की टूटफूट की मरम्मत कराने के साथ व्यापक सफाई कराई जाए। उन्होंने यहां आने वाले रोगियों और उनके परिजनों के लिए पेयजल, शौचालय, बैठक, पार्किंग इत्यादि की बेहतर सुविधाएं उपलब्ध कराने को भी कहा।
अभी का फोटो क्लिक कराओ, काम के बाद उसी एंगल से फोटो चाहिए:
बैठक दौरान संभागीय आयुक्त भट्ट ने समस्त चिकित्साधिकारियों को कहा कि वे अपने-अपने वार्ड, प्रभाग, चिकित्सालय के उन सभी स्थानों के फोटो क्लिक करवाने को कहा जहां पर सुधार अपेक्षित है। उन्होंने कहा कि इस फोटो के आधार पर ही कार्य करवाओ और एक माह के बाद उसी एंगल से काम करवाने के बाद के फोटोग्राफ्स के साथ रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। उन्होंने इस कार्य के लिए मंगलवार को खुद हॉस्पिटल का निरीक्षण करने की बात कही।
बैठक दौरान जिला कलक्टर ताराचंद मीणा, आरएमआरएस सदस्य त्रिलोक पूर्बिया, आरएनटी प्राचार्य डॉ. लाखन पोसवाल, एमबी अधीक्षक डॉ. आरएल सुमन सहित समस्त संबंधित चिकित्साधिकारी मौजूद थे।


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Health Plus
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like