GMCH STORIES

कोविड रोगियों की सांसों को बचाने में जुटे पाली सांसद चौधरी

( Read 5545 Times)

07 May 21
Share |
Print This Page

-नीति गोपेन्द्र भट्ट -

कोविड रोगियों की सांसों को बचाने में जुटे पाली सांसद चौधरी

पाली। पाली सांसद एवं पूर्व केन्द्रीय राज्य मंत्री पीपी चौधरी ने अपने संसदीय क्षेत्र में कोरोना के कारण उखड़ रही गंभीर मरीजों की सांसों को रोकने के लिए  हर स्तर पर अपने प्रयासों को तेज कर दिया हैं।
सांसद चौधरी पाली संसदीय क्षेत्र में ऑक्सीजन सिलेंडरों की कमी और कोरोना मरीजों की हालात को देखते हुए उच्च गुणवत्ता वाले 100 डबल माउथ ऑक्सीजन कंसंट्रेटर अन्य देशों से आयात करके जल्द से जल्द उपलब्ध करवाएंगे। इन डबल माउथ वाले एक ऑक्सीजन कंसंट्रेटर से दो कोरोना रोगियों को ऑक्सीजन मिलेगी। ऐसे में 100 डबल माउथ ऑक्सीजन कंसट्रेटर्स से एक साथ दो सौ मरीजों को राहत मिल सकेगी।
सांसद चौधरी के अनुसार प्रदेश में ही नहीं पूरे देश में कोरोना की दूसरी लहर का भीषण कहर जारी है तथा कोरोना संक्रमण का दायरा दिन-ब-दिन बढ़ता ही जा रहा है। जिस तीव्र गति के साथ कोरोना मरीज बढ़ रहे हैं उस अनुपात में अस्पतालों में उपलब्ध संसाधान भी कम पड़ने लगे हैं। कोरोना की दूसरी भीषण लहर में मरीजों को सबसे अधिक आवश्यकता ऑक्सीजन सपोर्ट की होती है, लेकिन देश के सभी राज्य ऑक्सीजन की किल्लत का सामना कर रहे हैं, ऐसे में ऑक्सीजन सिलेंडर की भी बड़े पैमाने पर कमी सामने आ रही है। ऐसी परिस्थिति में ऑक्सीजन कंसंट्रेटर्स की भी मांग दिनों-दिन बढ़ती जा रही है, जिसके फलस्वरूप इनकी सप्लाई भी विकट हो गई है। ऐसे में सांसद चौधरी अपने प्रयासों से विश्व स्तरीय ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की आपूर्ति अपने संसदीय क्षेत्र में करवाने हेतु विदेशों से संपर्क साध रहे हैं।  

सिंगापुर से आएगी पहली खेप:

पाली सांसद चौधरी ने बताया कि संसदीय क्षेत्र में कोरोना महामारी को संक्रमण को रोकने और कोई भी परिवार अपने प्रियजन को ऑक्सीजन की कमी से न खोए, इसके लिए अपने सांसद निधि कोष से 1 करोड़ 60 लाख की राशि स्वीकृति की। इस राशि से संसदीय क्षेत्र में सभी सरकारी अस्पतालों में विशेष रूप से ऑक्सीजन की निर्बाध आपूर्ति के लिए ऑक्सीजन कंसंट्रेटर और 6 आईसीयू बेड उपलब्ध करवाये जाएंगे। सांसद ने गत बुधवार को पाली जिला कलेक्टर और आज जोधपुर जिला कलेक्टर को अपने स्तर पर इन संसाधनों को जल्द से जल्द उपलब्ध करवाने की अपनी योजना के बारे में बताया। इसके तहत सिंगापुर की एक कंपनी से संपर्क साधा और यह कंपनी अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य मानकों पर आधारित उच्च गुणवत्ता वाले 100 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर को उपलब्ध करवाने की अपनी सहमति दे दी हैं। सांसद ने बताया कि एक कंसंट्रेटर करीबन 20 किलो वजनी प्रोटेबल है, जिन्हें मांग की आवश्यकतानुसार एक अस्पताल से दूसरे अस्पताल में आसानी से लाया-ले जाया सकेगा। यह अपने आप ऑक्सीजन उत्पादन करने वाला मिनी प्लांट है और एक ऑक्सीजन कंसट्रेटर 1 मिनट में 10 लीटर ऑक्सीजन का उत्पादन करता है, वहीं 100 ऑक्सजीन कंसंट्रेटर 1 मिनट में 1000 लीटर ऑक्सीजन का उत्पादन करेंगे, यह एक मेडिकल डिवाइस है, जो आसपास की हवा से ऑक्सीजन को एक साथ इकट्ठा करता है। पर्यावरण की हवा में 78 फीसदी नाइट्रोजन और 21 फीसदी ऑक्सीजन गैस होती है, दूसरी बाकी गैसे एक फीसदी हैं। ऑक्सीजन कंसंट्रेटर इस हवा को अंदर लेता है, उसे फिल्टर करता है, नाइट्रोजन को वापस हवा में छोड़ देता है और बाकी बची ऑक्सीजन मरीजों को उपलब्ध कराता है। डब्ल्यूएचओ द्वारा 2015 में जारी एक रिपोर्ट के मुताबिक इस प्रकार के कंसंट्रेटर को लगातार काम करने के लिए डिजाइन किया जाता है, जिससे लगातार लंबे समय तक ऑक्सीजन सप्लाई कर सके. इनसे मिलने वाली ऑक्सीजन 95 फीसदी तक शुद्ध होती है।
सांसद चौधरी ने कहा कि लोकसभा क्षेत्र पाली के गंभीर मरीजों को शीघ्र मिलने वाली इस राहत को पाली एवं जोधपुर कलेक्टर अपने-अपने क्षेत्रों में पाली संसदीय क्षेत्र के अन्तर्गत आने वाले अस्पतालों में मांग के अनुसार लगाएंगे। इसी के साथ राजकीय सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र बिलाड़ा के लिए 6 आईसीयू बेड भी जल्द ही उपलब्ध करवाएं जाएंगे ताकि संसाधानों की कमी पूरे संसदीय क्षेत्र में नहीं आए और मानव जीवन को बचाने का कार्य युद्ध स्तर पर हो सके।
पाली और सोजत में पीएसए चिकित्सीय ऑक्सीजन संयंत्र का करेंगें कार्यान्वयन: पाली सांसद पीपी चौधरी शुक्रवार को पाली के बांगड़ मेडिकल कॉलेज और सोजत के उप जिला अस्पताल में सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय की अधीनस्थ इकाई भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) द्वारा स्थापित ऑक्सीजन संयत्रों का कार्यान्वयन करेंगे। विदित है कि जरूरतमंद मरीजों को ऑक्सीजन की आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए भारत सरकार ने विभिन्न राज्यों में अतिरिक्त प्रेशर स्विंग ऐडसोर्प्शन (पीएसए) चिकित्सीय ऑक्सीजन संयंत्र लगाने की घोषणा की है। सांसद चौधरी ने प्रयासों के द्वारा एनएचएआई इन संयत्रों को पाली एवं सोजत में स्थापित कर रही है। सांसद का पूरा प्रयास है कि यह संयंत्र जल्द से जल्द से स्थापित हो ताकि कोरोना मरीजों को ऑक्सीजन की निर्बाध उपलब्धता हो सकें।


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Headlines
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like