GMCH STORIES

कोरोना मरीजों को प्लाज्मा थैरेपी से कोटा में उपचार शुरू

( Read 4822 Times)

07 Aug 20
Share |
Print This Page

डॉ. प्रभात कुमार सिंघल

कोरोना मरीजों को प्लाज्मा थैरेपी से कोटा में उपचार शुरू

कोटा |  कोरोना से कोटा शहर में जबरदस्त भय व्याप्त हो गया है। सामान्य वर्ग कोरोना पॉजिटिव से दूरियां बना रहा है, वहीं दूसरी और कोरोना का दर्द समझने वाले कोरोना से नेगेटिव हुए लोग कोरोना पॉजिटिव की मदद को आगे आ रहे हैं। कोटा में जब से प्लाज्मा बैंक शुरू हुआ हैं तभी से टीम जीवनदाता के प्रयास लोगों के जीवन को बचाने में सार्थक सिद्ध हो रहे हैं। टीम जीवनदाता के प्रयास से 10वां प्लाज्मा डोनेशन हो एमबीएस ब्लड बैंक में हो सका। टीम जीवनदाता के संयोजक व लायंस क्लब के जोन चेयरमैन भुवनेश गुप्ता ने बताया कि बड़ी ही मुश्किल से प्लाज्मा डोनेशन हो पाया है। उन्होंने कहा कि टीम के सदस्य नितिन मेहता, गगन मिश्रा, वर्धमान जैन, मनोज जैन व प्रतीक अग्रवाल सुबह से ही करीब 100 से अधिक लोगों को फोन पर बात कर उन्हें प्लाज्मा डोनेशन के लिए मोटिवेट करते हैं, उनमें से कुछ कई कारणों से देने में असमर्थ होते हैं और जो लोग तैयार हो जाते हैं, उन्हें यहां प्लाज्मा डोनेशन के लिए ब्लड बैंक लाने के बाद कई प्रक्रियाओं से गुजरना होता है, उसके बाद वह प्लाज्मा डोनेशन कर पाते हैं। तीन दिन बाद बड़ी मुश्किल से एक प्लाज्मा डोनेशन हो सका है। गुप्ता ने बताया कि प्लाज्मा डोनेशन के लिए एक मैसेज ग्रुप में डाला गया और उसके बाद सर्राफा बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष आनंद राठी ने विनय गोयल का पता दिया, उन्हें फोन कर किसी की जान बचाने के लिए मोटिवेट किया। उसके बाद वह ब्लड बैंक आए और प्लाज्मा डोनेशन किया।  

नेगेटिव हुए मरीजों को करेंगे मोटिवेट 

          विनय गोयल ने बताया कि पहले तो उन्हें प्लाज्मा डोनेशन करने में संकोच हो रहा था, लेकिन प्लाज्मा डोनेशन करते ही उनमे आत्म विश्वास बढ़ा। उन्होंने कहा कि उनके सम्पर्क में आए कोरोना से ठीक हुए लोगों से वह वार्ता कर प्लाज्मा डोनेशन के लिए मोटिवेट करेंगे। इनके परिवार में कई लोग कोरोना संक्रमित हुए थे, जो अब ठीक हैं। भुवनेश गुप्ता ने कहा कि प्लाज्मा 200-200 एमएल दो बार में लिया जाता है, जिस मरीज को जितनी आवश्यकता होती है, उतना चढ़ा दिया जाता है। गोयल के प्लाज्मा को संभवतया दो लोगों को चढ़ाया जा सकेगा। इस दौरान डॉ. राजेश कुमार व लेब टेक्नीशियन अनिल शर्मा ने वहां आने वाले लोगों को प्लाज्मा डोनेशन की जानकारी देते हुए बताया कि जिस मरीज को ठीक हुए 14 दिन ह्यो गए है वह प्लाज्मा डोनेट कर सकता है।


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Headlines
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like