BREAKING NEWS

लघु योजना बनाएं ताकि उसे तत्काल स्वीकृति मिल सके-बिड़ला

( Read 2454 Times)

06 Jun 20
Share |
Print This Page
लघु योजना बनाएं ताकि उसे तत्काल स्वीकृति मिल सके-बिड़ला

कोटा (डॉ. प्रभात कुमार सिंघल)  |  हमारी प्राथमिकता प्रत्येक घर तक शुद्ध पेयजल पहुंचाने की होनी चाहिए। जलजीवन मिशन के तहत संसाधनों की कमी नहीं है, अधिकारी इस दिशा में लक्ष्य तय कर कार्य करें। यह बात लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने शुक्रवार को जलदाय विभाग के अधिकारियों से कही। वे संसदीय क्षेत्र कोटा-बूंदी में पेयजल योजनाओं की प्रगति की समीक्षा कर रहे थे।
टैगोर हाॅल में आयोजित बैठक में लोकसभा अध्यक्ष ने कहा कि हर व्यक्ति को शुद्ध पेयजल की आपूर्ति उसके घर पर हो यह सरकारों का प्रमुख लक्ष्य है। इसी को दृष्टिगत रखते हुए अधिकारी पेयजल परियोजना की रूपरेखा तैयार करें। जिन परियोजनाओं पर काम चल रहा है उसमें तेजी लाई जाए। किसी परियोजना को लेकर केन्द्र या राज्य सरकार के स्तर पर कोई परेशानी है तो उस बारे में बताएं। समस्या का समाधान कराया जाएगा।
लोकसभा अध्यक्ष ने कहा कि कोरोना के चलते अब परिदृश्य में बदलाव आया है। वृहद पेयजल परियोजनाओं को स्वीकृती में देरी होने की आशंका रहेगी। इसको देखते हुए अधिकारी निकटवर्ती क्षेत्रों में पेयजल के भरोसेमंद स्रोत तलाशें। उसके अनुसार लघु योजना बनाएं ताकि उसे तत्काल स्वीकृति मिल सके, जिससे छोटी अवधि के लिए पेयजल की उपलब्धता सुनिश्चित हो सकेगी। उन्होंने सुझाव दिया कि नई परियोजना तैयार करने के स्थान पर मौजूदा परियोजनाओं में सुधार किए जाएं ताकि अधिक से अधिक नागरिकों तक पेयजल पहुंचाया जा सके। 
उन्होंने अधिकारियों से कहा कि किसी भी कार्ययोजना को अंतिम रूप देने से पूर्व क्षेत्रीय विधायक से उस पर चर्चा अवश्य होनी चाहिए। जनप्रतिनिधि होने के नाते विधायक आमजन की समस्याओं व आकांक्षाओं को बेहतर तरीके से समझते हैं। उनके सुझाव को योजना में शामिल करने से अधिक से अधिक लोग लाभान्वित हो सकेंगे।
लोकसभा अध्यक्ष ने कहा कि जो योजनाएं स्वीकृति के लिए राज्य सरकार के स्तर पर लंबित हैं, उनकी सूची भी संबंधित विधायक को उपलब्ध कराएं। योजनाओं की स्वीकृति प्राप्त करने के लिए विधायक भी अपने स्तर पर प्रयास कर सकेंगे। 
बैठक में जलदाय विभाग के अतिरिक्त मुख्य अभियंता केडी गुप्ता ने कोटा-बूंदी क्षेत्र की जलदाय योजनाओं की प्रगति की जानकारी दी। उन्होंने भविष्य की आवश्यकताओं के अनुरूप तैयार की जा रही परियोजनाओं के बारे में भी बताया। बैठक में अधीक्षण अभियंता कोटा एमएल मीणा, अधीक्षण अभियंता बूंदी आरसी मीणा, अधीक्षण अभियंता प्रोजेक्ट पीके बागला सहित दोनों जिला के अधिशासी अभियंता व अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।
सीएमडी को दिए विद्युत आपूर्ति सुधारने के निर्देश
बैठक के दौरान बूंदी विधायक अशोक डोगरा व जलदाय विभाग के अधिकारियों ने बताया कि विद्युत आपूर्ति बार-बार बाधित होने के कारण बूंदी में पेयजल वितरण में परेशानी आ रही है। लोकसभा अध्यक्ष बिरला ने मौके से ही जयपुर विधुत वितरण निगम के सीएमडी एके गुप्ता को फोन कर विद्युत आपूर्ति सुचारू बनाए रखने के लिए आवश्यक उपाय करने के निर्देश दिए।


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Headlines
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like