GMCH STORIES

मुख्य सूचना आयुक्त डॉ विश्वास मेहता की पुस्तक अति जीवनम (सर्वाइवल) का लोकार्पण

( Read 1858 Times)

20 Feb 24
Share |
Print This Page
मुख्य सूचना आयुक्त डॉ विश्वास मेहता की पुस्तक अति जीवनम (सर्वाइवल) का लोकार्पण

 केरल के राज्यपाल डॉ आरिफ मोहम्मद खान ने सोमवार को शाम राजभवन में राज्य के मुख्य सूचना आयुक्त और पूर्व मुख्य सचिव डॉ विश्वास मेहता की मलयालम भाषा में लिखी पुस्तक अति जीवनम (सर्वाइवल) का लोकार्पण किया। 

 इस मौके पर डॉ आरिफ मोहम्मद खान ने कहा कि डॉ विश्वास मेहता ने अपनी कर्म भूमि को अपने प्रशासनिक सांस्कृतिक और सामाजिक अनुभवों का एक बेशकीमती तोहफा दिया है। उन्होंने कहा कि मुझे विश्वास है कि यह पुस्तक केरल ही देश में एक अलग ही स्थान बनायेगी और सिविल सेवा में आने वाले युवाओं के लिए एक रिफरेंस बुक का काम करेंगी। राज्यपाल खान ने सुझाव दिया कि पुस्तक अति जीवनम (सर्वाइवल) का हिंदी और अंग्रेजी में अनुवाद किया जाना इसकी सार्थकता को और अधिक बढाएगा। 

 राज्यपाल ने दक्षिण राजस्थान के सुदूर पिछड़े क्षेत्र डूंगरपुर में जन्मे डॉ विश्वास मेहता की जीवन यात्रा का उल्लेख करते हुए कहा कि उनके दादा नर्बदा शंकर मेहता के असामयिक निधन के वक्त उनकी दादी जानकी देवी मात्र 26 वर्ष और पिता डॉ प्रीतम कुमार मेहता मात्र 2 वर्ष के थे। उनकी दादी जी ने बहुत संघर्षों के मध्य पूरे परिवार का भरण पोषण कर उसे फर्श से अर्श से पहुंचाया। ऐसी पारिवारिक पृष्ठ भूमि में डॉ विश्वास मेहता ने अपने परिवार के सपनो को पूरा कर पहले आई पी एस और फिर आई ए एस बन कर दक्षिण भारत के केरल को अपना कर्म क्षेत्र बना कर सिविल सेवा में कई नवाचार किए तथा नए आयाम स्थापित किए। 

उन्होंने नई पीढ़ी का आह्वान किया कि जब देश में एक चाय वाला का बेटा नरेन्द्र मोदी देश का प्रधान मंत्री बन सकता है तो कोई भी प्रतिभा वान व्यक्ति अपने जीवन के लक्ष्य तय कर आगे बढ़ सकता है। खान ने संस्कृत के कई श्लोक और भारतीय संस्कृति के अनेक आख्यान देकर कहा कि सफ़लता की कुंजी इसमें अंतर्निहित है। इस मौके पर डॉ विश्वास मेहता ने कहा कि यह किताब उनकी जीवन कथा नही है बल्कि उनके जीवन के विभिन्न पहलुओं का अहसास है। साथ ही उन छोटे बड़े सभी लोगो से मिली प्रेरणा,सीख और अनुभव का निचोड़ भी है। पुस्तक में प्रशासनिक क्षेत्र की कई जटिलताओं को सरल और आम लोगों के लिए सहज बनाने की कई प्रेरक कहानियों को भी शामिल कर सेवा के क्षेत्र में आने वाले युवाओं का पथ प्रदर्शक करने का विनम्र प्रयास भी किया गया है। 

 समारोह में की नोट भाषण देते हुए केरल के मुख्य सचिव डॉ वी वेणु,पूर्व मुख्य सचिव टॉम जोस ,पूर्व पुलिस महानिदेशक ऋषिराज सिंह,लोक नाथ बेहरा,मातृभूमि के मुख्य संपादक राजीव देवराजन, डॉ अश्विन शेखर आदि ने डॉ विश्वास मेहता की प्रशासनिक दक्षता,सूझबूझ,व्यावहारिक दृष्टि और लोक कल्याण के कार्यों का विशेष रूप से उल्लेख किया। साथ ही बताया कि वायनाड जैसे इलाकों में वन्य जीवन से जुड़ी चुनातियो से निपटने तथा लोगों की उनमें आस्था के कारण एक पार्क का नाम ही विश्वास रखे जाने का जिक्र किया। साथ ही उनकी गायन प्रतिभा का उल्लेख भी किया गया। 

इस मौके पर पुस्तक की प्रस्तावना लिखने वाले पश्चिम बंगाल के राज्यपाल डा सी वी आनंद बोस का संदेश पढ़ कर सुनाया गया। राज्यपाल खान ने डॉ विश्वास मेहता को म्यूजिक फैन क्लब के नयन शाह द्वारा दिए गए स्मृति चिन्ह को भेट किया। कार्यक्रम का संचालन केरल राज भवन के पी आर ओ एस प्रिंस ने कार्यक्रम का संचालन किया।


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Headlines
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like