Pressnote.in

जीवन को सहज बनाने के लिए कई इनोवेषन

( Read 3269 Times)

21 Apr, 17 15:27
Share |
Print This Page
जीवन को सहज बनाने के लिए कई इनोवेषन तिरूपति में आयोजित हुए इंडियन साइंस कांग्रेस में देष की विभिन्न साइंस लैब में पिछले दिनों इजाद किए गए देष की सेना व जनता के लिए इस्तेमाल होने वाले उत्पादों का प्रदर्षन किया गया।
खास बोतल
यह खास बोतल गंदे पानी को तुरंत पीने योग्य पानी में बदल देती है। जमषेदपुर की रक्षा प्रयोगषाला ने इस बोतल का विकास किया। इसे तैयार करने वाले वैज्ञानिकों के अनुसार युद्ध के दौरान सैनिकों के लिए जहां पीने का पानी न हो, वहां उन्हें षुद्ध पीने का पानी उपलब्ध कराने के लिए इसे बनाया गया है। महज २१५ ग्राम वजन की बोतल का दावा है कि पानी कितना ही बदरंग, बदबूदार और बिना गंध वाले बैक्टिरिया, वायरस और जैविक अषुद्धियों से भरा क्यों न हो, उसे बोतल में डालते ही सिप करके पिया जा सकता है। बोतल की क्षमता आधा लीटर की है और एक बोतल का इस्तेमाल ८ हजार बार किया जा सकता है।
हवा में फैली जहरीली गैसों को पहचानेगी ई-नासिका
डीआरडीओ की दिल्ली स्थित एसएस प्रयोगषाला ने हाथ में लेकर चलने वाली एक ऐसी ई-नासिका इजाद की है, जो हवा में फैली पांच तरह की जहरीली गैसों को पहचान सकती है। यह न केवल अलर्ट अलार्म देगी, बल्कि डिस्प्ले पर बताएगी कि वहां कौनसी जहरीली गैसें हैं।
जलने के घाव को तेजी से भरने वाली ड्रेसिंग
रक्षा प्रयोगषाला ने एक ऐसी ड्रेसिंग बनाई है, जो जले हुए घाव को बहुत तेजी से भरती है। यह ड्रेसिंग मानव गर्भनाल से एकत्रित की गई भ्रूण झिल्ली से बनी है। भ्रूण झिल्ली का जलने के घावों, नहीं भर रहे नासूर, बेडसोल और कोढ के घावों को भरने में इस्तेमाल होता है। ड्रेसिंग के लिए झिल्ली को रेडियेषन से इस्ट्रलाईज्ड करके काइटिन नैनो सिल्वर के साथ बनाया गया है।
बिना दर्द के बताएगी ग्लूकोज
यह डिवाइस ग्लूकोज को बिना दर्द या ज्यादा समय लिए ट्रेक करती है। बिना ब्लड टेस्ट या अन्य किसी व्यक्ति की मदद से इस बियरेबल डिवाइस से डायबटिक खुद अपनी डायबिटिज ट्रेक कर सकता है। सिर्फ एक बटन दबाने पर ग्लूकोज का लेवल स्क्रीन दिखाई देगा। इसके डेटा को आईओएक्स और एंड्रायड एप्लीकेषन से स्मार्ट फोन पर सेव कर सकते हैं। इसमें लगे कैप्सूल सेन्सर टेक के कारण स्कीन टेस्ट से ब्लड टेस्ट के बिना ग्लूकोज ट्रेक होगा।
टेबलेट ली है या नहीं
कई बार लोग दवाईयां लेना भूल जाते हैं। ऐसे में ब्लूट्रूथ से लेस पिल बॉक्स यह याद रखने में मदद करेगा। यह न सिर्फ व्यक्ति विषेश को, बल्कि परिवार के अन्य सदस्यों को भी जानकारी दे सकता है। अगर गलत दवा ले रहे हैं तो ग्रुप मैसेज भी रिमाइंडर में देगा। स्मार्ट फोन से कनेक्ट होने के कारण प्रोग्रेस रिपोर्ट से पता चल जाएगा कि महीने में कितनी बार दवाई ली है या नहीं।
पहले पता चलेगा कि आप बीमार होने वाले हैं
हर कोई जानता है कि मौसम स्वास्थ्य पर प्रभाव डालता है। वर्शों पुराने इस दावे का वैज्ञानिक आधार है कि तापमान में भारी परिवर्तन से बीमारी हो सकती है। स्विडिष षोधकर्ताओं ने ताजा अध्ययन में डॉक्टर के पास गए लोगों के २० हजार से अधिक नाक के फोहों का विष्लेशण कर पाया कि मौसम षुरू होने के एक सप्ताह बाद फ्लू की बीमारी फैलती है। ऐसा क्यों होता है, के बारे में अध्ययन का निश्कर्श है कि ठंडे और सूखे मौसम में फ्लू वायरस अधिक आसानी से फैलता है। षरीर में पहने जाने वाले गैजेट भी सर्दी लगने की पूर्व सूचना दे सकते ह
स्टेनफोर्ड यूनिवर्सिटी मेडिसन स्कूल के षोधकर्ताओं ने ६० लोगों को हैल्थ ट्रेकर लगाए और दिल की धडकन, नींद, फिटनेस, उनमें ऑक्सीजन के स्तर सहित अन्य स्थितियों पर मिली दो अरब सूचनाओं का विष्लेशण किया। इससे पता लगा कि बीमार होने से पहले लोगों की षारीरिक हलचल में महत्वपूर्ण परिवर्तन हुए। स्पश्ट है कि आगे जाकर ये गैजेट बीमार होने से पहले ही स्वास्थ्य के संबंध में संकेत दे सकेंगे।
कीमोथैरेपी के दौरान अब कम गिरेंगे बाल
कैंसर के उपचार के दौरान होने वाली कीमोथैरेपी से बाल झडते हैं, किन्तु अब नई तकनीक एफडीए अनुमोदित टेक्नोलॉजी ‘स्कैल्प कूलिंग कैप्स‘ से बाल गिरने की दर कम हो जाती है। यह सिर के बालों का तापमान सामान्य से कम रखती है, जिससे कष-कूपों के जरिये कीमोथैरेपी का प्रवाह घट जाता है और बाल कम झडते हैं। पिछले साल अमेरिका के फूड एवं ड्रग प्रषासन ने इसे मंजूरी दी। टाइट-फिटिंग और इंसुलेटिड कैप को कूलिंग मषीन से कनेक्ट किया गया और तब मरीज को कीमोथैरेपी दी जाती है। माना जाता है कि जमा देने वाले तापमान के आसपास की ठंडक से कपाल में रक्त का प्रवाह घट जाता है, जिससे कैंसर से लडने वाली दवा का केष-कूपों तक पहुंचना व उन्हें नुकसान पहचाना कठिन हो जाता है। इसलिए स्कैल्प कूपिंग कैप एक उपयोगी तकनीकी साबित हो रही है।
ह्यूमेन चार्जर मूड डिसार्डर को दूर करेगा
वल्की का ह्यूमेन चार्जर मूड डिसार्डर को दूर करने में जैट लेग हैण्ड सेट ५०९०४५ मदद करता है। म्यूजिक सुनने के लिए प्रयोग की जाने वाली डिवाइस की तरह दिखने वाली इस डिवाइस को हैडफोन में लीड ईयर बड्स लगे हुए हैं। इसके पावर बटन को ऑन करने के बाद १२ मिलीमीटर तक यूवी फ्री ब्लू एनरिच्ड व्हाइट लाइन कान के छेद से संवेदनषील मस्तिश्क के छेद तक पहुंचने लगते हैं। इसकी बैट्री एक बार चार्ज करने के बाद १५ दिन तक चलती है। सर्दियों के मौसम में जब धूप न निकले तो यह डिवाइस धूप की जरूरत को पूरा करने में मदद करती है।
लाइम क्लियर लाइट थैरेपी
कई ट्रायल से पता चला है कि लाइट थैरेपी बिना क्रीम और दवाईयों के प्रयोग के एम्ने प्रॉब्लम को दूर करती है। रेड लाइट जहां सूजन और जलन को कम करती है, वहीं ब्लू लाइट कील के बैक्टिरिया को मारती है। डर्मोटोलॉजिस्ट द्वारा बनाए गए इस डिवाइस को चेहरे के एम्ने एवं पिंपल्स वाले भाग पर यूज करते हैं। इसमें टाइमर भी लगा हुआ है, जो बताता है कि इसके कितने प्रयोग की जरूरत है।

Source :

यह खबर निम???न श???रेणियों पर भी है: Headlines , Bhilwara News
Your Comments ! Share Your Openion

Group Edior : Mr. Virendra Shrivastava
For any queries please mail us at : newsdesk.pr@gmail.com For any content related issue or query email us at newsdesk.pr@gmail.com, CopyRight © All Right Reserved. Pressnote.in