logo

निवेश हमेशा लोंग टर्म का और रेगुलर करें : मेहता

( Read 2833 Times)

14 Feb 19
Share |
Print This Page

निवेश हमेशा लोंग टर्म का और रेगुलर करें : मेहता

उदयपुर। हमेशा निवेश शोर्ट टर्म में नहीं करना चाहिए क्योंकि इससे नुकसान की संभावनाएं अधिक रहती है। निवेश करना है तो हमेशा लोंग टर्म का और रेगुलर करना चाहिए जिसमें नुकसान की संभावनाएं नहीं रहती है। इसके साथ ही निवेशक जिस कंपनी में निवेश करने जा रहा है, उसे कम से कम उस कंपनी का पांच साल का टे्रक रिकॉर्ड भी जांच लेना चाहिये। यह बात बुधवार को आयोजित प्रेसवार्ता में कोटक म्यूचुअल फंड के हेड- सेल्स ऐंड मार्केटिंग मनीष मेहता ने कही।

मनीष मेहता ने कहा कि पिछले कुछ वर्षों के दौरान निवेशकों के बीच म्यूचुअल फंड एक लोकपिय निवेश साधन के तौर पर उभरा है। पिछले एक साल में म्यूचुअल फंड उद्योग ने एयूएम में शानदार बढ़ोतरी देखी है। विभिन्न इक्विटी और फिक्स्ड इन्कम योजनाओं में पूँजी का प्रवाह लगातार बना हुआ है। सिस्टेमैटिक इनवेस्टमेंट प्लान (सिप) इक्विटी योजनाओं में निवेश के प्रमुख वाहक बने हुए हैं। लगातार बढ़ती जागरूकता, व्यवस्थित निवेश के लाभों के बारे में जानकारी, अनुशासित नजरिये और कॉस्ट एवरेजिंग की वजह से सिप बुक में बढ़ोतरी दर्ज हो रही है। हमें उम्मीद है कि यह रुझान जारी रहेगा। आने वाले आम चुनावों की वजह से बाजार में उतार-चढ़ाव आ सकता है, लेकिन ये कुछ ऐसे वक्त आते हैं जब इक्विटी आवंटन में बढ़ोतरी करने से लंबी अवधि में बेहतर प्रतिफल (रिटर्न)हासिल करने में मदद कर सकती है।

उन्होंने कहा कि कोटक एसेट मैनेजमेंट कंपनी लि. (कोटक म्यूचुअल फंड) ने दिसंबर 2018 में अपने काम-काज के दो दशक पूरे कर लिये हैं। फंड हाउस के लिए मौजूदा वित्त वर्ष काफी उत्साहजनक रहा है। यह फंड हाउस राजस्थान में विभिन्न वितरण नेटवर्क के जरिये तेजी से अपना विस्तार कर रहा है। यहाँ कुल निवेशित परिसंपत्तियों में से 67 प्रतिशत इक्विटी में लगा है। 

मनीष मेहता ने कहा कि सिप के जरिये किस तरह से पूँजी निर्माण किया जाये, इस बारे में निवेशकों को शिक्षित करने में फंड हाउस काफी सक्रिय रूप से लगा हुआ है। निवेशक जागरुकता से संबंधित अपनी विभिन्न पहलों के जरिये फंड हाउस म्यूचुअल फंडों और फाइनेंशियल प्लानिंग के बारे में निरंतर जागरुकता फैला रहा है। अपने वितरकों और साझेदारों के साथ लगातार कदम-ताल करते हुए कोटक म्यूचुअल फंड शिक्षा के माध्यम से विस्तार के पथ पर लगातार आगे बढऩे का प्रयास कर रहा है।

उन्होंने कहा कि निवेश योजना को सहज बनाने के लिए कोटक म्यूचुअल फंड ने हाल ही में मोबाइल-फस्र्ट ऐप्लिकेशन- ‘लेट्स प्लान विद कोटक’ को प्रस्तुत किया है। यह प्लेटफॉर्म अपने ग्राहकों को कभी भी कहीं भी अपने मोबाइल हैंडसेट पर उनके लक्ष्य आधारित निवेश के विकल्प तलाशने में मदद करता है। इसके अलावा कोटक म्यूचुअल फंड ने फाइनेंशियल प्लानिंग और बिक्री के सहज पहलुओं पर पोस्टार्ट वीडियो आधारित कार्यक्रम भी पेश किये हैं। ग्राहकों को सहजता से पे्ररित करने के लिए कोटक म्यूचुअल फंड ने हाल ही में अपने ऐप्प पर वीडियो केवाईसी मॉड्यूल पेश किया है। 

वर्तमान में केएमएफ के पास 11 लाख से अधिक सिप खाते हैं, जिनके जरिये निवेशक नियमित रूप से इसकी म्यूचुअल फंड योजनाओं में निवेश करते हैं। अभी कोटक म्यूचुअल फंड राजस्थान के पाँच स्थानों पर मौजूद है और इसे अपने 2,095 चैनल पार्टनरों से सहयोग मिल रहा है। फंड हाउस की मजबूत बिक्री और निवेशक संबंध टीम विभिन्न बैंकों, राष्ट्रीय वितरण नेटवर्क और स्वतंत्र वित्तीय सलाहकारों (आईएफए) जैसे वितरण साझेदारों के साथ मिल कर काम कर रही है। राजस्थान के कुल एयूएम में इक्विटी निवेश का योगदान लगभग 54 प्रतिशत है।   

योजनाओं के निरंतर बेहतरीन प्रदर्शन और उत्पाद केंद्रित रणनीति ने कोटक म्यूचुअल फंड की सफलता में योगदान दिया है। कोटक म्यूचुअल फंड के उत्पादों की श्रृंखला में कोटक स्टैंडर्ड मल्टीकैप फंड (पिछला नामकोटक सेलेक्ट फोकस फंड), कोटक इक्विटी अपॉर्चुनिटीज (पिछलानाम कोटक अपॉर्चुनिटीज), कोटक ब्लूचिप फंड (पिछला नाम कोटक 50), कोटक इमर्जिंग इक्विटी, कोटक इक्विटी ऑर्बिट्राज और कोटक क्रेडिट रिस्क फंड (पिछला नाम कोटक अपॉर्चुनिटीज फंड) जैसी लोकप्रिय योजनाएँ शामिल हैं। 


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Headlines
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like